10 Benefits of Pranayama – प्राणायाम के लाभ

By | February 16, 2016

Pranayama एक तरह के exercise को कहते है जिसमे इंसान अपनी सांस (breath) को एक विशेष प्रकार से भीतर की ओर खींचता है और फिर उसे बाहर की ओर छोड़ता है। खुद को healthy रखने के लिए ये एक best options होता है । प्राणायाम के कई सारे health benefits होते है बस जरुरत है तो सिर्फ इसे करने की सही तरीके को जानने की । कोई भी प्राणायाम करने का सही सबसे time होता है सूर्योदय के समय । सूर्योदय यानि की Sunrise के time खाली पेट में प्राणायाम करने से अधिक benefit होता है । जो लोग regular morning में प्राणायाम करते है वो सारा दिन तनाव मुक्त रहते है और खुद को स्वस्थ भी feel करते है । तो आइये जानते है प्राणायाम से हमे क्या क्या benefits हो सकता है ।

Pranayama

Waise to Yoga kai prakar ke hote hai, parantu sabse aasan aur fayde ki baat kare to Pranayama yoga ka sabse pahle naam aata hai. Agar aap Pranayama ko daily practice karte hain to aapko sardi khasi naho hogi aur aapka immunize system bhi strong hoga.

प्राणायाम  के प्रकार / Types of Pranayama

Sabse pahle to aapko batla de ki Pranayam ke kai tarah ke fayde hai. Aur iske alwa Pranayam bhi mainly 5 types ko hote hai jo ki nimanlikhit hai:

  1. अनुलोम विलोम प्राणायाम (Anulom Wilom)
  2. भस्त्रिका प्राणायाम (Bhastrik)
  3. कपालभाती प्राणायाम (Kapalbhati)
  4. भ्रामरी प्राणायाम (Bhramari)
  5. बाह्य प्राणायाम आदि । (Baahy) 

प्राणायाम के फायदे / Benefits of Pranayam

आज कई लोग प्राणायाम को अपनाकर कई रोगों से मुक्ति पा रहे है और एक स्वस्थ जीवन जी रहे हैं | यह ना केवल आपको कई तरह के बिमारियों से बचाता है बल्कि साथ ही साथ पेट कम करने, डिप्रेशन से बचवा और कई तरह के लाभ भी पहुचता है | तो चलिए जानते हैं की कौन कौन से फायदे हैं प्राणायाम करने के :

सर्दी ख़ासी से बचाव – खांसी, जुकाम और साइनस जैसी बीमारी से बचने के लिए व इससे relief पाने के लिए इंसान को regular भस्त्रिका प्राणायाम करना चाहिए । साइनस की इलाज के लिए भास्‍त्रिका प्राणायाम को सबसे best माना जाता है ।

वजन कम करे – अगर आपका weight बहुत ज्यादा हो गया हो या फिर आपका पेट ज्यादा निकल गया हो तो आपको regular प्राणायाम करना चाहिए इससे आपका weight loss भी होगा और पेट भी अंदर चला जायेगा


तनाव से बचाए – कभी कभी ज्यादा पढ़ाई या काम के pressure की वजह से इंसान depression में चला जाता है और फिर वो depression की दवा लेने लगता है । Depression को दूर करने का सबसे बेहतर उपाय होता है “प्राणायाम” ये  इंसान को depression से बाहर निकालता है ।

आँख और कान के लिए लाभदायक – अनुलोम विलोम (Anulom Wilom) को regular करने से इंसान तनाव, बुखार, आंख और कान के रोगों से बचा रहता है । इस प्राणायाम को रक्तचाप और मधुमेह के इलाज के लिए भी बेहतर माना जाता है ।

प्रतिरोधक छमता मजबूत करे – Regular प्राणायाम करने से शरीर की प्रतिरक्षा प्रणाली में सुधार आता है और ये immune system को भी strong बनाता है ।

ह्रदय को स्वस्थ रखे – अनुलोम विलोम और भास्त्रिका जैसे प्राणायाम को regular करने से heart related problems में benefit मिलता है । इस प्राणायाम से body का blood circulation भी सही रहता है साथ हीं body को भरपूर मात्रा में oxygen मिलता है ।

ध्यान लगाने में मदद करे – अनुलोम विलोम प्राणायाम करने से पूरे body में oxygen की आपूर्ति बढ़ जाती है जिससे इंसान खुद को शांत और शांतिपूर्ण महसूस करता है। इसे करने से brain भी sharp होता है। mind concentration को बढ़ाने के लिए भी ये प्राणायाम करना अच्छा होता है।

झुर्रियां कम करे – Regular कपालभाती करने से इंसान के face पर एक अलग हीं तरह की चमक आने लगती है। इसे करने से weight भी कम होता है और त्वचा की झुर्रियां यानि की wrinkles और आंखों के नीचे का dark circle भी दूर होता है।

फेफड़ों के लिए अच्छा है – Asthma and respiratory (सांस) से related कोई भी बीमारी के लिए प्राणायाम करना बहुत हीं अच्छा होता है। Regular प्राणायाम करने lungs को राहत मिलती है ।

अन्य लाभ – भ्रामरी प्राणायाम को regular करने से Mind & Brain को peace मिलती हैं। ये प्राणायाम क्रोध, चिंता, Stress और अनिद्रा जैसे problems से भी निजात दिलाता है। thyroid के इलाज के लिए भी भ्रामरी प्राणायाम को best माना जाता है।

2 thoughts on “10 Benefits of Pranayama – प्राणायाम के लाभ

  1. Shailendra Singh

    this yoga is very helpful for every person in life

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *