About National Bird of India in Hindi – हमारा राष्ट्रीय पक्षी

By | December 5, 2016

क्या आप जानते है हमारा राष्ट्रीय पक्षी कौन सा है? Find out about the National Bird of India in Hindi with facts, age, running speed, to food details.

Peacock - the national bird of India

National bird (राष्ट्रीय पक्षी) = Peacock / मोर

National bird of India मोर को Peacock बोलते हैं । January सन 1963 में मोर यानि की peacock को national bird के रूप में घोषित किया गया था क्योंकि एक यही पक्षी है जिसका सम्बन्ध हिन्दू धर्म के देवी-देवताओं से है। मोर शिव जी के बड़े पुत्र कार्तिकेय जी का वाहन है। यही नहीं भगवान् श्री कृष्ण के मुकुट में भी मोर का पंख लगा होता है । कहा जाता है की Sixth century में भी कवि कालिदास जी ने मोर को ही राष्ट्रीय पक्षी का दर्जा दिया था । India के लगभग सभी area में मोर पाया जाता है । चूँकि मोर national bird of India कहलाता है इसलिए भारत में इसका शिकार पर fully restriction  है।

“मोर” विशाल पक्षियों में से एक ऐसा पक्षी होता है जो की दिखने में बहुत हीं खूबसूरत और आकर्षक होता है । इसके पंख colorful होने के साथ साथ काफी लम्बे व खूबसूरत होते है । मोर के सर पर एक बहुत हीं खूबसूरत कलंगी होता है। मोर के गर्दन नीले मखमली रंग के पतले और लम्बे होते है। नीले गर्दन को देखते हुए कवियों ने मोर को ‘नीलकण्ड’ नाम भी दिया है । मोर का पूरा  शरीर खूबसूरत होता है सिवाय उसकी टांगे की ।

“मोर” यानि की peacock का नृत्य (dance) बहुत हीं famous होता है। ये प्राय: वर्षा ऋतु में बारिस होने पर हीं नृत्य करते हैं । आमतौर पर मोर एक समूह में नृत्य करते है। जब मोर नृत्य करते है तब वे अपने रंगबिरंगे पंख को खोल कर फैला लेते है । मोर बहुत हीं slow motion में नृत्य करता है। मोर किसी भी मनुष्य के सामने नहीं नाचता है । ये एक बहुत हीं चौकन्ना रहने वाला , शर्मीला और डरपोक किस्म का पक्षी होता है । कहते है नृत्य के समय मोर नाचने में इतना मग्न हो जाता है की उसे बहुत हीं आसानी से पकड़ा जा सकता  हैं । गर्मी के मौसम में मोर सुस्त हो जाते हैं ।

मोर छोटे सांपों को मार कर खा जाता है परन्तु बड़े सांपों से मोर दूर भागता है । इसके अलावा मोर मोर टमाटर, कीड़े-मकोड़े, घास, अमरूद, केला, हरी मिर्च आदि कई चीजें बड़े चाव से खाता है । मोर किसी इंसान को कोई हानि नहीं पहुंचाता है । ये खुद एक डरपोक पक्षी होता है जैसे हीं ये किसी की आवाज सुनता है तेजी से झाड़ियों की तरफ भागने लगता है ।

मोर के टूटे हुए पंखो का कई चीजो में इस्तेमाल किया जाता है जैसे की :-

  • मोर के पंख को भगवान् पर चढ़ाया जाता हैं ।
  • Decoration के लिए मोर के पंखों को use किया जाता है।
  • कई लोगो का मानना है की घर में मोर का पंख रखने से घर में छिपकली नहीं आती है
  • मोर के पंख से हवा देने वाला पंखा बनाया जाता है ।
  • बुरी-नजर से बचाने के लिए मोर के पंख का use किया जाता है ।  

Facts about Peacock / मोर पक्षी  से जुडी तथ्य

  • Indian national bird “Peacock” यानि की मोर को Peafowl (मयूर) भी कहा जाता है। मोर तीतर परिवार (Partridge Family) के अंतर्गत आता है। मोर ज्यादातर बर्मा, भारत और श्रीलंका में पाए जाते हैं।
  • Male को “Peacock” कहते है, female को “Peahen” यानि की मोरनी कहते है और एक साथ दोनों को “peafowl” कहा जाता ।
  • मोर यानि की peacock का height लगभग 90 से 130 cm टक बढ़ता है और इसका weight लगभग 4 से 6 kg तक होता है वहीँ मोरनी यानि की “peahen” का height और weight थोड़ा छोटा होता है l
  • मोर या मोरनी दोनों हीं 16 km per hour के  गति से चलते  है ।
  • मोर काफी दूर की आवाज सुन सकते है ।
  • कैद में रखा गया मोर का life लगभग 23 साल होता है वहीँ जंगलों में रहने वाले मोर 15 साल से ज्यादा जीवित नहीं रहते हैं। परन्तु अगर ठीक से देख भाल किया जाये तो कई बार यह 25 years तक के life जीते हैं |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *