All 12 Jyotirlinga Names in Hindi

By | December 21, 2016

Check all 12 All Jyotirlinga’s names and it’s location in Hindi. जानिए पुरे India में कहाँ कहाँ पर स्थित हैं, पुरे नाम और जानकारी के साथ | वैसे तो India में कई सारे तीर्थ स्थान है जहाँ पर लोग तीर्थ करने जाते है जिनमे से एक तीर्थ स्थान बारह ज्योतिर्लिंग भी है।  पृथ्वी पर शिव जी के कुल मिलाकर 12 ज्योतिर्लिंग मौजूद है और ये बारहों ज्योतिर्लिंग 12 अलग अलग स्थान पर है। कहा जाता है की इन बारहों स्थान पर स्वयं शिव जी ने प्रकट होकर अपने भक्तो को वरदान दिया था इसलिए इन स्थानों पर ज्योतिर्लिंग का स्थापना किया गया है ।

All Jyotirlinga Name and Place in Hindi

यही नहीं इन ज्योतिर्लिंग के बारे में ये भी मान्यता है की जो कोई भी यदि प्रातः काल उठकर केवल एक बार इन बारहों ज्योतिर्लिंगों का नाम ले लेता है उसके सभी काम पूर्ण हो जाते है। हिन्दू धार्मिक शास्त्रों के अनुसार बारहों ज्योतिर्लिंग में से पृथ्वी पर प्रकट होने वाला पहला ज्योतिर्लिंग सोमनाथ का ज्योतिर्लिंग है।


Sr. No Hindi English
1 सोमनाथ Somnath
2 मल्लिकार्जुन Mallikarjuna
3 महाकाल Mahakaleshwar
4 ओंकारेश्वर Omkareshwar
5 नागेश्वर Nageshwar
6 बैजनाथ Vaidhyanath
7 भीमशंकर Bhimshankar
8 त्र्यंम्बकेश्वर Trimbakeshwar
9 घुमेश्वर Ghrishneshwar
10 केदारनाथ Kedarnath
11 काशी विश्वनाथ Kashi vishwanath
12 रामेश्वरम्‌ Rameshwar

Names of all 12 Jyotirlinga / ज्योतिर्लिंग के नाम

  1. श्री सोमनाथ ज्योतिर्लिंग – यह Gujrat के सौराष्ट्र area में स्थापित है। इसके दर्शन के लिए भक्त बस या ट्रेन से यहाँ तक पहुँच सकते हैं।
  1. श्री मल्लिकार्जुन ज्योतिर्लिंग – ये कृष्णा district (Andra Pradesh) के कृष्णा नदी के किनारे श्रीशैल पहाड़ पर स्थित है। इस पहाड़ को South का कैलास भी कहा जाता हैं।                 
  1. श्री महाकालेश्वर ज्योतिर्लिंग यह  उज्जैन में स्थापित है। यहाँ पहुँचने के लिए भक्तो को नागदा, भोपाल और इंदौर से ट्रेन मिलती है।
  1. श्री ओंकारेश्वर ज्योतिर्लिंग – “ओंकारेश्वर” मध्यप्रदेश के नर्मदा नदी के किनारे स्थापित है। कहा जाता है की यहां पर विंध्य पर्वत के उपासना से शिव जी प्रसन्न हो कर प्रकट हुए थे ।
  1. श्री केदारनाथ ज्योतिर्लिंग – यह ज्योतिर्लिंग Uttarakhand के Himalaya पर लगभग 12000 ft की ऊंचाई पर स्थापित है। यहाँ तक पहुँचने के लिए भक्त जानो को ऋषिकेश तक ट्रेन से जा होता हैं उसके बाद गौरीकुंड तक जाने के लिए बस लेना पड़ता है । उसके बाद पहाड़ी मार्ग से पैदल जाना पड़ता है । 
  1. श्री नागेश्वरज्योतिर्लिंग – ये Jyotirlinga Gujrat के द्वारकाधाम के पास स्थित है। कहा जाता है यहां दारूक नामक राक्षस का वध शिव जी द्वारा दिए गए पाशुपतास्त्र से किया गया था।   
  1. श्री बैजनाथ ज्योतिर्लिंग – यह  Jharkhand के एक शहर देवघर में स्थापित है । ऐसा कहा जाता है की इस जगह पर रावण ने कठोर तपस्या से शिव से एक लिंग पाया था जिसे वो लंका में स्थापित करना चाह रहा था, परंतु प्रभु की लीला से वह लिंग बैजनाथधाम में ‍ही स्थापित हो गया।  
  1. श्री भीमशंकर ज्योतिर्लिंग – “भीमशंकर” Maharashtra के भीमा नदी के पास स्थित है। इस स्थान पर स्वयं शंकर जी ने भीमासुर राक्षस का वध किया था ।
  1. श्री त्र्यंम्बकेश्वर ज्योतिर्लिंग – ये ज्योतिर्लिंग नासिक से 25 km की distance पर स्थापित है । इस Jyotirlinga को गोदावरी नदी के पास में स्थापित किया गया है ।
  1. श्री घुमेश्वर ज्योतिर्लिंग – यह Maharashtra के Aurangabad district में एलोरा नमक एक गुफा के पास वाले वेसल गांव में स्थापित है । 
  1. श्री विश्वनाथज्योतिर्लिंग – ये ज्योतिर्लिंग बनारस के “kashi Vishwanath Temple” में स्थापित है । कहा जाता है की वाराणसी की सीमा में जिस मनुष्य की मृत्यु होती है वो इस संसार के क्लेश से मुक्त हो जाता है।
  1. श्री रामेश्वरम्‌ ज्योतिर्लिंग – इसे Madras के त्रिचनापल्ली समुद्र के पास lord ram द्वारा स्थापित किया गया था ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *