Anulom Vilom ke Benefits aur Fayde

By | April 1, 2016

Anulom Vilom ek yoga hai jiske kai benefits aur fayde hai. To chaliye jante hai kis tarah se अनुलोम विलोम pranayam hamare hair, skin, eyes aur kai tarah ke disease se bachata hai. जैसा की बतलाया गया है, अनुलोम–विलोम एक तरह का प्रणायाम है जिसे करने से कई तरह के बिमारियों में आराम मिलता है। अनुलोम विलोम में बार बार सांस लेने और छोड़ने की प्रक्रिया को repeat किया जाता है। ये एक ऐसा प्राणायाम है जिसे किसी भी age का व्यक्ति कर सकता है। आज हम आपको बताएँगे की अनुलोम विलोम को करने का तरीका क्या है और इसे करने के क्या benefits है।

 Anulom Vilom kaise kare aur iske fayde

अनुलोम विलोम करने का तरीका / How to do Anulom Vilom Yoga

Yah baat aapko jaan kar acchi lagegi ki anulom vilom karne ke liye aapko kisi chij ki jarurat nahi hoti aur aasani se kahi bhi is yoga ko kiya jaa sakta hai. To chaliye janite hai Anulom Vilom kaise kare aur is karne ka tarika:

  1. सबसे पहले किसी morning में किसी साफ जगह और खुली हवा में एक दरी बिछा लें । कोशिश करे की अनुलोम विलोम उस जगह पर करें जहाँ साफ़ सुथरा वातावरण हो |
  2. अब उस दरी उस पर अपनी कमर को straight कर के पालथी मार कर बैठ जाये।
  3. अब अपनी right hand के अंगूठे से नाक के दाये(right) छेद को बंद कर ले।
  4. अब दुसरे नाक से जोड़ से सांस अन्दर की ओर खीचें और फिर बंद नाक को अहिस्ता आहिस्ता खोलते हुए उससे सांस को बाहर की ओर छोड़े ।
  5. इसी तरह इस प्रक्रिया को बार बार कम से कम 10 से 12 times करे । 

अनुलोम विलोम के फायदे / Anulom Vilom ke Fayde

Waise to iske kai labh hai, parantu jo achuk fayde hai Anulom Vilom ki, wo niche diye gaye hain. Dhyan rahe ki is yoga ko morning mein karne se accha result milta hai:

  • अनुलोम-विलोम प्राणायाम को regular करने से body की सारी nerves स्वस्थ और निरोग रहती है।
  • ज्यादा age हो जाने पर जो लोग regular अनुलोम-विलोम करते है उन्हें arthritis, जोड़ों का दर्द और सूजन आदि किसी की भी तरह की शिकायतें नहीं रहती हैं।
  • जिन्हें साइनस (sinus) की problem है उन्हें भी अनुलोम विलोम करना चाहिए इससे उन्हें relief मिलेगा ।
  • अनुलोम विलोम करने से body की सभी कफ, पित्त आदि दूर हो जाती हैं।
  • अनुलोम-विलोम को regular करने से फेफड़े भी strong होते है।
  • अनुलोम-विलोम प्रणायाम को regular करने से body के cholesterol level को कम होता है।
  • अनुलोम-विलोम करने से दिल भी strong होता है। जब हम जोड़ से सांस अंदर की ओर लेते हैं तो शुद्ध वायु body के अंदर की सभी दूषित तत्वों को बाहर निकाल देती है और आपके शरीर कर खून को तरो ताजा कर देती है ।
  • इस प्राणायाम को करने से आखों की रौशनी (Eye Sight) भी बढ़ती है और blood circulation भी सही रहता है। जिन लोगो को नींद ना आने की problem है या जिन्हें रातो को गहरी नींद नहीं आती है उनके लिए भी ये प्राणायाम फायदेमंद होता है ।
  • इससे सर्दी, जुकाम, दमा  आदि की problem भी चली जाती है।
  • जो लोग अनुलोम विलोम करते है वे Negative thoughts से बचे रहते है, और आपका आपके दिमाग पर अच्छी पकड़ बनती है ।
Related posts:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *