Asthma Symptoms and Treatments – अस्थमा का इलाज

By | August 19, 2015

अस्थमा (asthma) एक जटिल बीमारी है जिसका treatment और ilaj समय पर करना जरुरी है | इस बात को जान ले की दमा को जड़ से तो ख़त्म नहीं किया जा सकता है, परन्तु इसके रोकथाम का उपचार है | अस्थमा होने पर पीड़ित को सांस लेने में दिक्कत होती है | Asthma किसी भी उम्र के लोगों को हो सकता है, चाहे वो 2 साल का बच्चा हो या 30 साल का वयस्क | दमे (Dame) होने पर सांस के नलिकाएं सिकुड़ जाती हैं जिससे सांस लेने में काफी दिक्कत होती है | अगर वक्त रहते Asthma ka symtoms को पहचान लिया जाये तो इसका treatment और रोकथाम किया जा सकता है | एक अनुमान के मुताबिक करीब 8 करोड़ Indian और 2.5 Crore American Ashtma से परेशान है |

Asthma ya Dama ka ilaj ab Hindi mein

Asthma hone ke karan / Causes behind Asthma

वैसे तो अस्थमा /  दमा होने के कई कारण हो सकते है, परन्तु निचे दिए गये प्रमुख कारणों में से एक है :

  • अगर किसी चीज से allergy हो तो, जैसे केला खाने से
  • Air Pollution होने से
  • धुवें (Smoke) या Dust से
  • कई बार ठण्ड वस्तु खाने से भी asthma ka attack होता है, जैसे दही (curd) खाना
  • अचानक मौसम में बदलाव आने से

Asthma ke Lakshan / Symptoms of Asthma

  • सांस लेने में दिक्कत महसूस होना |
  • सांस लेने समय chest पर जोड़ पड़ना
  • Cough और बलगम होना
  • रात में सोने के समय असहज महसूस होना
  • थोड़ा भी physical work करने से सांस फूल जाना
  • थोड़े से dust या smoke होने से सांस लेने में दिक्कत होना

Asthma ke Gherlu ilaj / Home Remedies for Asthma

जैसे की आपको पहले ही बोला, अस्थमा को कोई permanent ilaj तो नहीं है परन्तु घर पर इसके रोकथाम का इलाज किया जा सकता है | तो आइये जानते है क्या और कौन से home remedies se Asthma / dama ka ilaj ho sakta hai :

  • शहद – एक अचूक घरेलु इलाज है जिसे आप अस्थमा पीड़ित को दे सकते है |
  • अगर आप बार बार होने वाली दमा की शिकायत से परेशान है तो गरम पानी और शहद को मिला कर उसका भाप ले, इससे तुरंत राहत मिलेगी | Honey में पाई जाने वाली anti-bacterial बलगम से लड़ने में मदद करती है |
  • Cloves जिसे लौंग भी बोलते है, इसका बड़ा ही लाभकारी उपयोग है | 5 लौंग को ले कर, एक cup पानी में 10 minute तक गरम (boil) करे और ठंडा होने पर एक चम्मच शहद के साथ सोने से पहले daily खाया करे |
  • अदरक जिसे Ginger भी बोला जाता है उसके औसधीय उपयोग हैं |
  • एक अदरक के टुकड़े को ले कर उसे निचोड़ ले और उसके रस को एक चम्मच के साथ दिन में 2 बार खाया करे | इस प्रक्रिया को कम से कम 1 month तक चालू रखे ताकि आपको अंतर मालूम चल सके |
  • सरसों के तेल (Mustuard oil) को ले कर उसमे कपूर मिला कर छाती (chest) के ऊपर मालिश करें | इस प्रक्रिया को रात में सोने से पहले करे ताकि ज्यादा असर करे |
  • मछली (fish) खाना शुरू करें | खास कर सामन मछली और टूना मछली खाने से आपके lung strong होंगे और दमा से लड़ने में मदद करेंगे |
  • Green Tea या Herbal tea लेना शुरू करें और इसे daily कम से कम 2 बार गरम गरम पिया करे | इसे अपनी आदत में दाल लें, क्योंकि इसमें पाई जाने वाले तत्व दमा को मिटाने में सहायक होती हैं |
  • रात में सोने से पहले दूध, हल्दी और सूद्ध घी (pure ghee) को मिला कर गरम गरम पीना चाहिए, ऐसा करने से जमे हुए बलगम शरीर से बाहर आ जायेंगे |
  • Doctor से परामर्श पर Inhalers का भी उपयोग किया जा सकता है जो की दमे से तुरत आराम देती है |
  • घर के वातावरण को हवादार और साफ़ रखे |

Note:  Please consult to doctor in case Asthma increase.

Related posts:

4 thoughts on “Asthma Symptoms and Treatments – अस्थमा का इलाज

  1. vishal maral

    Koi aaisa ilag nahi hai kya jisase astima 3 month tak ruke rahe

    Reply
  2. JYOTI KUMARI

    Nice suggestion, plz koi achha sa
    Suggestion den Ki balgam she that mile

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *