Teen (3) Mukhi Rudraksha Benefits in Hindi

By | January 20, 2016

जानिए कौन कौन से लाभ है तीन मुखी रुद्राक्ष (Benefits, Mantra and Precaution of 3 Teen Mukhi Rudraksha) के धारण करने से और इसे कब (when) पहनना (wear) करना चाहिये | 3 mukhi rudraksha को तीन भगवान ब्रह्मा, विष्णु और महेश का रूप कहा जाता है। 3 मुख वाले रुद्राक्ष को अग्नि देवता का रूप भी माना जाता है। यह मंगल ग्रह का रुद्राक्ष होता है। इस रुद्राक्ष को पहनने से शक्ति और प्रसन्नता हांसिल होती है । मेष राशि वालो के लिए 3 Mukhi Rudraksha  अच्छा माना जाता है।

3 Mukhi Rudraksha ke labh ki jaankari

तीन मुखी रुद्राक्ष पहनने के फायदे /  Benefits of wearing 3 Mukhi Rudraksha

Waise to aapne kabhi na kabhi 3 Mukhi Rudraksha ko wear karne ke fayde ke bare mein to padha he hoga. Iske pahle bhi maine नव मुखी रुद्राक्ष के लाभ ke bare mein wistar se batlaya hai. To chaliye jante hai aise kaun kaun se fayde hai 3 Mukhi Rudraksha ko pahnane ke:

  • 3 Mukhi Rudraksha किसी भी स्त्री की हत्या जैसे अपराध से मोक्ष दिलाता है।
  • परीक्षा में कामयाबी हेतु भी 3 मुखी रुद्राक्ष पहना जा सकता है ।
  • जो 3 Mukhi Rudraksha पहनता है उसकी आत्मा (Soul) शुद्ध हो जाती है।
  • इसे पहनने से सभी प्रकार के रोग automatically कम हो जाते है।
  • इसे पहनने से life में success निश्चित रूप मिलती है।
  • इसे पहनने से Self-confidence और ऊर्जा शक्ति (energy power) बढ़ती है ।
  • इसे पहनने वाला व्यक्ति हमेशा तनाव से मुक्त रहता है ।
  • तीन मुखी रुद्राक्ष के धारण करने से  पीलिया, रक्त दोष, प्लेग, चेचक, आदि जैसे बिमारिओं में भी beneficial होता है।

तीन मुखी रुद्राक्ष का मंत्र / Mantra for 3 Mukhi Rudraksha

3 mukhi rudraksha को पहनने वक्त इस रुद्राक्ष के मंत्र का उच्चारण करना चाहिए  – Yeah mantra kaafi aasaan hai aur iske 3 mukhi rudraksha ko wear karne se pahle uccharan karna chahiye:

।। ऊँ क्लीं नम:।।

तीन मुखी रुद्राक्ष  पहनने के पहले सावधानियाँ

Agar aap 3 mukhi rudraksha ko pahnane jaa rahe hai to aapko kuch chijo ki dhyan deni hogi. Sabse pahli baat yah hai ki 3 mukhi rudraksha dharan kare ke baad aap non-veg khane ko tyag karna hoga tabhi iske labh aapko najar aayenge. Aur dusri precautions niche di gayi hai:

  • रूद्राक्ष को शुद्धि कर के मंत्र उच्चारण के साथ हीं पहनना चाहिए ।
  • इसे इसके शुभ दिन, सोमवार यानि की Monday या गुरुवार यानि की Thursday को पहनना चाहिए।
  • रूद्राक्ष के पहनने के बाद मांसाहारी खाना नहीं खाना चाहिए ।
  • इसे पहनने के बाद शराब भी नहीं लेना चाहिए।
  • रूद्राक्ष को हमेशा सुबह स्नान करने के बाद में हीं पहनना चाहिए ।
  • रूद्राक्ष को पहन कर अंतिम संस्कार के मैदान में नहीं जाना चाहिए।
  • रूद्राक्ष को सुबह पहनने वक्त और उसे रात को सोने से पहले उतारने के बाद उसके मंत्र को 9 बार पढ़ना चाहिए ।
Related posts:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *