बेल फल के 11 फायदे – जूस से लेकर जड़ तक

By | August 16, 2016

क्या आप जानते है की बेल के फायदे (benefits of Indian Bael) अनेक है ? जानिए कैसे इसके जूस से लेकर जड़ तक के सेवन करने से कौन कौन से लाभ है | भारत में पाए जाने वाले सभी फलो में से एक फल बेल भी है, इसका वनस्पति नाम Limonia acidissima है | बेल को कई अन्य नामो से भी जाना जाता है शाण्डिल्रू, श्री फल, सदाफल बेल हाथियों का पसंदीदा फल होने के कारण इसे हांथी एप्पल भी कहा जाता है | सभी जगहों पर इसके गुणवत्ता और इस्तेमाल के अनुसार इसके कई नाम रखे गए है | बेल की संरचना नारियल के मुताबिक बहार से hard परन्तु अन्दर से मुलायम | बेल का आकार गोल होता है और इसका व्यास 5-15 cm तक होता है | इसका बहरी सतह चिकना होता है, और इसका रंग हल्का हरा होता है परन्तु पकने पर इसका रंग पिला हो जाता है | पके हुए फल को तोड़ने पर इसके अन्दर लसादार गुद्दा होता है जो खाने में स्वादिष्ट होता है | इसके पेड़ ज्यादा से ज्यादा 30-35 feet लम्बा होते है |

Bel fruit ke benefits

बेल का इस्तेमाल / Uses of Bel Fruit

धार्मिक कथाओ के अनुसार बेल के पेड़ को शुभ माना गया है, जिस कारण वस यह अधिकतर मंदिर परिसद में पाया जाता है | हिन्दू धर्म के अनुसार बेल के जड़ में भगवान शंकर जी का वास माना जाता है, एवं इसकी तीन पत्तियाँ आपस में जुड़े होने के कारण इसे त्रिदेव का स्वरुप माना जाता है और इसे पूजा में इस्तेमाल किया जाता है | इसके अलावा बेल के फल और पत्तियों को दवा के रूप में इस्तेमाल किया जाता है |

बेल में पाए जाने वाले तत्व

बेल में कई प्रकार के रसायनिक तत्व पाए जाते है जो हमारे शरिर को स्वस्थ रखने में कारगर सिद्ध हिता है | बेल में निम्न तत्व भरपूर मात्रा में पाए जाते है जो हमें कई रोगों से दूर रखता है |

  • Calcium
  • Phosphorus
  • Fiber
  • Protein
  • Iron
  • Vitamin
  • Organic Compounds

बेल खाने के फायदे / Health Benefits of Bael

वैसे तो बेल जूस के कई तरह के फायदे है, पर आप इसे चाहे सीधा खाए या फिर जूस बना कर, दोनों ही तरीके से यह फायदा ही पहुचता है |  इसके अलावे बेल की जड़ भी काफी लाभदायक है | बेल में कई प्रकार के औषधिये गुण पाए जाते है जो हमारे शरिर को स्वस्थ रखने में हमे मदद करता है | पेट संबंधित बीमारियों के लिए बेल रामबाण इलाज साबित होता है | तो आइये आज जानते है बेल के फायदे और  हमे किन बीमारियों से यह बचाता है :

दिल संबंधित बीमारी – क्या आपका दिल अस्वस्थ रहता है ? क्या आप दिल की समस्या से परेशान है ? अगर आप अक्सर दिल सम्बंधित समस्या से ग्रषित रहते है तो रोजाना बेल के रस में कुछ बूंद घी मिला कर इसका नियमित सेवन करने करे | बेल फाइबर का एक अच्छा श्रोत है जो हमारे body में blood sugur को नियंत्रित करता है और हमारे दिल को स्वस्थ रखने में मदद करता है |

Cholesterol – अनियमित आहार का सेवन करने से शरीर में अतिरिक्त fat का निर्माण होता है जो हमारे शरीर के लिए हानिकारक है | शरीर में उत्पन्न अतिरिक्त fat cholesterol का कारण बनता है | अगर आप नियमित रूप से बेल के रस का सेवन करते है तो बेल में मौजूद फाइबर हमारे शरीर के fat को नष्ट करने का कार्य करता है और यह हमारे शरिर में cholesterol को नियंत्रित करने में मदद करता है |

गैस और कब्ज – फाइबर यूक्त भोजन हमारे पाचन क्रिया को संतुलित बनाए रखता है | पाचन क्रिया के संतुलन का ख़राब होने से शरीर में गैस एवं कब्ज जैसी समस्या उत्पन्न होना आरम्भ हो जाता है | अगर आप गैस और कब्ज से लगातार परेशान है और इससे सच में छुटकारा पाना चाहते है तो बेल के रस का नियमित सेवन करे इससे कब्ज और गैस से जल्द छुटकारा मिलता है | बेल में मौजूद फाइबर हमारे पाचन क्रिया को मजबूत एवं संतुलित बनाए रखता है और गैस एवं कब्ज जैसी समस्या उत्पन्न नहीं होने देता है |


दस्त और डायरिया – बरसात के मौसम में अक्सर लोग घर पर बैठे रहते है | चारो और पानी होने के कारण घर से निकलना पसंद नहीं करते जिससे इनके शरीर का किसी प्रकार का व्यायाम नहीं होता और बारिश के इस सुहावने मौसम में लोगो का मन कुछ चटपटा खाने को करता है | लोगो के इस इक्षा के कारण ये कुछ ऐसा भोजन का सेवन कर लेते है जो पाचन क्रिया को कमजोड कर देता है जो दस्त और डायरिया की बिमारी का कारण होता है | अगर आपके घर में किसी को दस्त या डायरिया हुआ है तो आप उस व्यक्ति को बेल का रस गुड के साथ दे सकते है | बेल हमारे शरीर में पाचन क्रिया को मजबूत करता है |

गर्मी से बचाव – गर्मी के दिनों में अक्सर लू के शिकार हुए व्यक्ति देखने को मिल जाते है | अगर आपके घर में भी किसी को लू लगी हो या आप स्वयं को और अपने परिवार को गर्मी से बचाना चाहते है तो रोजाना बेल के रस का सेवन करे | बेल का नियमित सेवन करने से हमारा पेट गर्म नहीं होता और हमारे body का तापमान अन्दर से ठंडा रखता है, इन सभी के साथ साथ बेल का इस्तेमाल करने से गर्मियों में यह हमें लू से बचाता है |

कैंसर – बेल के रस का नियमित सेवन कैंसर जैसे रोग से बचाता है और महिलाओ में होने वाले breast cancer की संभावना को कम करता है | अगर कोई महिला बेल का सेवन करती है तो बेल में मौजूद Antiproliferative action शरीर को कैंसर के कोशिकाओ के विकास को रोकने के लिए सक्रीय करता है और महिलाओ को स्तन कैंसर से सुरक्षित रखता है |

खून साफ करता है – अगर हमारे रक्त में किसी प्रकार का विषाक्त प्रदार्थ की उअपस्थिति हो जाए तो यह हमारे शरीर को अस्वस्थ करने का कारण बन सकता है | इसलिए बेल के रस में थोडा गुनगुना पाने और शहद मिलाकर नियमित सेवन करे, इससे यह आपके शरीर के खून को साफ करेगा और आप स्वस्थ रहेंगे |

पेट संबंधित बीमारियाँ – मनुष्य में होने वाले लगभग अधिकतर समस्या पेट की गड़बड़ी के कारण होता है | बेल में कई ऐसे गुणकारी तत्व की उपस्थिति होती है जो हमारे पेट में मौजूद विषाक्त प्रदार्थ एवं हानिकारक जिवानुओ को नष्ट करता है | बेल हमारे पेट में हानिकारक जिवानुओ को नष्ट ही नहीं करता बल्कि यह हमारे पाचन क्रिया को मजबूत करता है | बेल के नियमित सेवन हमारा पेट साफ रहता है और साथ ही पेट संबंधित बीमारियों भी नहीं होती |

Diabetes – बेल फाइबर का अच्छा श्रोत है जो शरीर में मौजूद ग्लूकोज को नष्ट करने का कार्य करता है | शरीर के blood में ग्लूकोज की मात्रा के बढ़ने से diabetes की समस्या उत्पन्न होती है | अगर आप diabetes से ग्रषित है तो रोजाना 10-12 बेल के पट्टी को पीसकर रस निकाल ले और इसका सेवन करे | इससे diabetes से जल्द राहत मिलती है |

खून की कमी – शरीर के सभी parts को स्वस्थ रखने के लिए खून की आवश्यकता होती है क्योकी शरीर के सभी parts तक जरुरत के सामाग्री को पहुचने के लिए खून एक मात्र साधन है | अगर आपके शरिर में खून का निर्माण नहीं हो रहा है तो आप पके हुए सूखे बेल के गिरी को अच्छे से पीसकर चूर्ण बना ले और से रोजाना दूध में मिश्री के साथ एक चमच ले | इससे शरिर में नए खून का निर्माण होता है |

Scurvy – स्कर्वी एक प्रकार का रक्त-रोग है जो मनुष्य के लिए जानलेवा भी हो सकता है, मनुष्य के शरिर में स्कर्वी रोग के होने का मुख्य कारण शरीर में vitamin c के कमी का होना होता है | प्राकृतिक प्रदार्थ बेल में vitamin c की मात्रा भरपूर होता है जो हमारे शरीर में विटामिन सी की कमी को दूर करता है और हमे स्कर्वी जैसे जानलेवा बीमारी से दूर रखता है |

Summary

Bel fruit is also commonly known as Stone Apple in English. It is a popular fruit in India that has several health advantages.  Many of us don’t really know much about the Bael fruit.

Agar aapko iske alawe aur koi bhi bel phal ki jankari ho to mujhe jarur batlaiye, aap apna suggestion niche diye gaye comment box ke dwara de sakte hain. It contain good amount of Calcium, Protien, Iron, Phosphorus, Vitamin etc and that’s why the Bel is a good fruit. Additionally it help to cure from loose motion. It is recommended to drink one glass of Bel juice during summer season since it can protect body from heat stroke.

7 thoughts on “बेल फल के 11 फायदे – जूस से लेकर जड़ तक

    1. Gopi

      Vajan bandana hea to roj morning mea milk kea sath bana kao kali pet

      Reply
  1. Vinod guglani

    Good information which can be used to improve health I love toread and apply in daily life

    Reply
  2. चंद्रकांत निळोबा कदम

    कुदरत की दस्तक ‘ बेल ‘ बहोत खुब इंसान से प्यार करती है
    बढिया जानकारी …..!!!

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *