Budh Grah ke Shanti Upay, Mantra and Story – बुध ग्रह

By | May 17, 2016

Kya aap bhi Budh Grah ke kuch Shanti upay khoj rahe hain? आइये जानते हैं बुध ग्रह के कहानी (story), इसके mantra, इनके swami, aur kaise is graha ko strong kiya jaye. बुध ग्रह यानि की Mercury को Gemini व Virgo राशि का स्वामी कहा जाता है । बुध को बुद्धि के  देवता Lord Ganesha का दिन कहा जाता है और इसका दिन भी बुधवार यानि की Wednesday हीं होता है । इस ग्रह को पूरे Nine planets में राजकुमार का अधिकार मिला हुआ है । बुध जी का प्रतिमा पीला (yellow), माथे पर चन्दन का टीका, पीला माला व पीले वस्त्र वाला होता है।  बुध का प्रतीक बाण और color green यानि की हरा है। बुध के देवता भगवन विष्णु  है।

Budh Mantra

Kahani / Story behind Budh Grah

बुध के जीवन के पीछे एक famous story है। कहा जाता है की चंद्र ने बालक बुध की परवरिश के लिए उन्हें अपनी नक्षत्र रूपी पत्नियों रोहिणी व कृत्तिका को सौंप दिया था। तभी से इन दोनों के देख रेख में बालक बुध बड़े होने लगे। बड़े होने के बाद जब बुध ने अपनी जीवन की कहानी जानी तो उन्हें शर्म आने लगी। तब जा कर उन्होंने अपने जन्म के पापों से छुटकारा पाने हेतु हिमालय में श्रवणवन पर्वत पर जाकर तपस्या करने का फैसला लिया। उनके इस तपस्या से खुश हो कर विष्णु जी ने उन्हें दर्शन दिये और उन्हें वैदिक विद्याएं एवं सभी कलाएं देने का वरदान दिया ।

Yahan par aapko yah batlana jaruri hai ki budh grah ke dev yani Swami Shree Vishnu ji hai.

अतः बुध ग्रह की शक्ति प्राप्त करने हेतु हर Lord Vishnu की पूजा और अमावस्या को fasting रखना चाहिए साथ हीं पन्ना stone पहनना चाहिए। ब्राह्मणों को हाथी के दांत, green color के कपड़े ,  पन्ना stone , सोना , शस्त्र, खट्टे फल आदि दान देना चाहिए।

इसे भी पढ़ेKanya Rashiphal

Budh Grah ke Jatak

कहते है की बुध राशि वाले सभी व्यक्ति बहुत हीं खुबसूरत होते हैं। उनका height लम्बा, रंग गोरा,  और body छरहरा होता है। उनके बाल सुन्दर और वाणी मधुर होते है। ज्योतिषों का कहना है की इस बुध राशि  के लोग हास्य-विनोद प्रिय होते हैं। ये लोग तेज बुद्धि वाले होते है और और  हर विषय पर तर्क-वितर्क (Argue) कर सकते हैं ।

बुध मंत्र और उपाय / Mantra for Budh Grah and Upay    

To agar aap bhi Budh grah ke koi shanti upay khoj rahe hai to niche diye gaye chijon ko dhyan se padhe. कई लोगो के कुंडली में बुध अशुभ फल देता है। बुध ग्रह के अशुभ फल से लोगो के दांत गिरने  लगते है, सूंघने की शक्ति कम होने लगती है और बोलते समय वो व्यक्ति हकलाने (Stutter) लगता है।

इसके ग्रह से बचने हेतु निचे आपको कुछ उपाय / remedies बताने जा रहे है :-

  • क्यूंकि इनके devta श्री Lord Vishnu हैं, अतः  इनकी पूजा करनी चाहिए ।
  • बुधवार को fasting रखना चाहिए ।
  • Tuesday को रात में हरे मूंग को फूलने दे दें, और फिर Wednesday को उस फुले हुए मुंग को गाय को खिलाएं।
  • हाँथ के कनिष्ठिका उंगली में पन्ना stone पहनना चाहिए ।
  • किन्नरों (हिजड़ों) को हरे कपड़े और हरी चूड़ीयां दान करें।
  • 10 मुख वाला Rudraksha को पहनना चाहिए ।
  • उड़द की दाल को Wednesday के दिन दान करे ।
  • हरे तोते को पाले और उसकी सेवा करें।
  • बुध के मूल मंत्र का सुबह 5 घटी के अंदर 9,000 या 16,000 times  40 days तक जाप करे ।

बुध का मूल मंत्र है / Budh Jap ka Mantra

Isme se koi bhi ek mantra ka jaap kare:

  1. ॐ ब्रां ब्रीं ब्रौं स: बुधाय् नम:।।
  2. ॐ बुं बुधाय नम: ।।
  3. प्रियंगुकलिकाश्यामं रूपेणाप्रतिमं बुधम।
    सौम्यं सौम्य गुणोपेतं तं बुधं प्रणमाम्यहम।।
  4. ॐ त्रैलोक्य मोहनाय विद्महे स्मरजन काय धीमहि तन्नो विणु: प्रचोदयात् ।
  • ऊपर दिए गए मंत्रो में से आप कोई भी एक मंत्र का जाप कर सकते है ।
  • Budh ke Bad effects को कम करने के लिए सोना को दान में देना चाहिए।
  • घर में तुलसी का पौधा लाना चाहिए और Wednesday को तुलसी पत्र का सेवन करना चाहिए।
  • wednesday को गाय को हरी घास , हरा साग व पत्तियां खिलानी चाहिए।

One thought on “Budh Grah ke Shanti Upay, Mantra and Story – बुध ग्रह

  1. prahlad kumar verma

    Mera job nahi lag raha hai, 3 year service Berojgar hu aur Karaza jayzd ho gaya h agar mere like you upay ho to please batao DOB 16 march 1987 h

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *