कैसे करे चंदन की खेती Business – Sandal Tree Farming

By | June 28, 2016

आज के युग में Chandan ki kheti करके किसान भाई इस business से लाखों और करोड़ो में कम सकते हैं |  कृषि वज्ञानिको का कहना है की इसकी खेती करने से 15 years के बाद अच्छी income की उम्मीद है। इसके पेड़ से निकाला गया तेल भी काफी costly बिकता है। चन्दन के एक पेड़ से लगभग 2 liter तेल प्राप्त हो जाती है । यही नहीं बल्कि इसके बीज और इसकी सूखी हुई लकड़ी भी महंगे दामो में बिकती है। आज हम आपको चंदन की खेती कैसे की जाती है इसकी पूरी जानकारी देने जा रहे है ।

Sandal Tree Farming Business in India

चन्दन की खेती कैसे करे ? / How to start Sandal Tree Farming ?

To agar aap bhi Chandan ki kheti aur business karne ki soch rahe hai to aapke liye khushkhabri hai.  Kya aapko malum hai ki Sandal tree plantation kar ke aap within 15 year mein aap aaram se 1 Crore kama sakte hai? To chaliye jante hai Chandan ki kheti se judi jankari, project plan ki pure detail mein:

मिट्टी का चयन व तैयारी  / Selection of Soil

“chandan ki kheti” के लिए काली, लाल चिकनी बलुई मिट्टी, अच्छी होती है । Minerals और moisture  युक्त मिट्टी में इसका विकास कम होता है।  नम मिट्टी जैसे की अच्छी तरह से सूखा जलोढ़ मिट्टी चंदन की खेती के लिए अच्छी नहीं मानी जाती है क्योंकि इसके वजह से पेड़ों में heartwood  तेल की कमी हो जाती है। पुरानी मिट्टी पर इसकी खेती करने से पेड़ में से बेहतर तेल निकाले जा सकते है जबकी ये मिट्टी जल-जमाव का सामना नहीं कर पाती है ।

पौधे को रोपने से पहले खेत की 2 से 3 बार अच्छे से गहरी जुताई करनी पड़ती है । जुताई हो जाने के बाद 2x2x2 फिट का गढ्ढा खोद कर उसे कुछ दिनों के लिए सुखने के लिए छोड़ दिया जाता है । 

जलवायु  / Climate

Chandan ki kheti के लिए जिस क्षेत्रों का जलवायु मध्यम वर्षा, भरपूर मात्रा में धूप और शुष्क मौसम की लंबी अवधि वाले है उसे अच्छा माना गया है। Due to climate change  निमाड़ का मौसम इसकी खेती के लिए उचित होता है । इसके पौधे के विकास के लिए Perfect temperature 12° c to 30°c के बीच होता है । इसकी खेती के लिए ५०० से ६२५ मिमी. तक annual rainfall की आवश्यकता होती है।

पौधे का रोपण / Planting of Trees

एक एकड़ भूमि में कुल 435 पौधों लगाए जा सकते है , पौधों से पौधों की दूरी 10 फुट की होनी चाहिए । बीज रोपण हेतु गड्ढ़े का आकार 45cm*45cm*45cm होना चाहिए । आमतौर पर, चंदन मई और अक्टूबर के बीच महीनों में प्रत्यारोपित किया जाता है। स्थानीय किस्मों के प्रदूषण को रोकने के लिए, इन के बीजों को लगाने के लिए केवल शहरी क्षेत्रों को हीं चुने ना की Protected forest areas को  ।

खाद प्रबंधन / Manure Management

चन्दन की खेती के लिए जैविक खाद (fertilizer) की अधिक requirement नहीं होती है।
starting में फसल की वृद्धि के समय खाद की जरुरत पड़ती है। लाल मिट्टी के 2 भाग, खाद के 1 भाग  और बालू के 1 भाग को खाद के रूप में इस्तेमाल किया जा सकता है । Silt (गाद) भी पौधों के लिए बहुत अच्छा पोषण प्रदान करता है।

सिंचाई प्रबंधन / Irrigation Management

बरसात के समय तो चन्दन के पेड़ का काफी तेजी से growth होता है लेकिन गर्मी के मौसम में इसकी सिंचाई अधिक करनी होती है। सिंचाई मिट्टी में नमी absorb करने की capacity तथा weather पर depend करता है।

starting में बरसात के बाद December से may तक सिंचाई करते रहना चाहिए । रोपण के बाद जब तक बीज का 6 से 7 सप्ताह में अंकुरण शुरू ना हो जाये तब तक सिचाईं को रोकना नहीं चाहिए। चन्दन की खेती में पौधों के विकास के लिए मिट्टी का हमेशा नम और जल भराव होना जरुरी होता है । अंकुरित होने के बाद केवल alternate days पर हीं सिंचाई करे । 

खरपतवार 

चन्दन की खेती करते समय, चंदन के पौधे की पहले साल में सबसे अधिक देखभाल की आवश्यकता होती है । पहले साल में पौधों के इर्द-गिर्द की काफी कर के खरपतवार को हटा देना चाहिए । यदि आवश्यक हो तो दूसरे वर्ष में भी साफ सफाई कर देना उचित रहता है । किसी भी तरह का पर्वतारोही या जंगली छोटा कोमल पौधा के चारों ओर हो तो कटौती कर के उन्हें हटा दें। 

कीट व रोग नियंत्रण

सैंडल स्पाइक (Sandle spike) नाम का एक रोग है जो की चन्दन के पेड़ का सबसे बड़ा दुश्मन कहलाता है। इस रोग के लगने से चन्दन के पेड़ सभी पत्ते ऐंठा कर छोटे हो जाते हैं साथ हीं पेड़  टेढ़े मेढ़े हो जाते है । अब तक इस रोग के बचाव के लिए सभी प्रयत्न Fail साबित हुए हैं। अभी तक इसका कोई इलाज नहीं इजाद हुआ है, पर मेरा मानना है की प्रकर्ति में ही सब कुछ उपाय और उसका इलाज उपलब्ध है |

जब भी आप चंदन के पेड़ लगाये, उसके 5 से 7 feet की दुरी पर एक नीम का पौधा लगा दे ताकि कई तरह के किट-पतंग से चंदन के पेड़ की सुरक्षा हो सके | कोशिश करे की हर 3 चंदन के पेड़ के बाद एक नीम का पौदा जरुर लगा दे, और खर पतवार को पौधे के आस पास नहीं जमा होने दें | 

फसल की कटाई 

चंदन के पेड़ की जड़े(root) भी बहुत ख़ुशबूदार होते है इसलिए इसके पेड़ को काटने के बजाय जड़ सहित उखाड़ लिया जाता है । पौधे को रोपने के 5 साल बाद से चन्दन के रसदार लकड़ी बनना start हो जाते है ।

चंदन के पेड़ को काटने के बाद उसकी लकड़ी मे से दो parts निकलते है एक जिसे रसदार लकड़ी कहा जाता है और दूसरा सूखी लकड़ी । दोनो ही लकड़ियों का price  अलग – अलग होता है। चन्दन के पेड़ जब 14 से 15 years old हो जाते है तब जा कर इसके पेड़ से लकड़ी प्राप्त की जाती  है ।  पेड़ को जड़ सहित उखाड़ लेने के बाद इसे Pieces में काट कर इससे Hart wood को अलग कर लिया जाता है । 

बाजार भाव / Market Price

आप को जान कर हैरानी होगी की आज के date में 1 kg का sandal wood का price Rs 5,000 से 6,000 तक है | और इसकी demand इतनी है की हमारे देश में ही इसकी आपूर्ति नहीं हो पाती है | इसके अलावा चंदन की लकड़ी की मांग China, Indonesia, America और कई देशो में हैं |

एक परिपक्व चंदन के पेड़ का वजन 20 से लेकर 40 kg तक हो सकता है | उस अनुमान से, पेड़ की काट छाट के बाद भी आपको एक पेड़ से Rs 1 लाख से लेकर 2 लाख तक आसानी से मिल सकता है |

इस तरह अगर आप 100 sandal tree भी plantation भी करते है और उसमें से अगर 70 tree भी बड़े हो जाते है तो आप 15 से 17 years में एक करोड़पति बन सकते है | यह किसी भी bank के fixed deposit या real estate में investment से भी कई गुना आपको return दे सकता है |

इसमें कोई दो राय नहीं है की sandal wood tree farming एक profitable business है, अगर आप इसे पुरे jankari और patience के साथ करे तो इससे अच्छा और कोई भी market में बिज़नेस नहीं है |

Loan

अब राष्ट्रीयकृत बैंक और को-ऑपरेटिव बैंक भी चंदन की लकड़ी वृक्षारोपण परियोजना के लिए bank loan दे रही हैं ।

Rules and Regulation 

हमारे India में अलग अलग State में Sandal Tree के लिए अलग अलग नियम है | Year 2,000 के पहले आम लोगों को चंदन को उगने और काटने की मनाही थी | और तो और, अगर आपके घर के पीछे चंदन का पेड़ है, तो उस पर आपका मालिकाना हक़ नहीं होगा, और अगर यह किसी कारण से चोरी हो गया, तब तो forest department  आपकी अच्छी खबर लेंगे |

परन्तु 2,000 year के बाद, Govt. ने कई नियम में ढिलाई दी है, जिसके बाद पिछले 12 से 15 years में कई किसान भाई Gujarat, Andhra Pradesh, Uttarakhand और कई राज्यों में चंदन की खेती कर रहे हैं |

अगर आप भी चंदन की खेती और इस बिज़नेस से से जुड़ने की सोच रहे है तो आपको इसके कटाई के लिए state govt से license लेना पड़ेगा | इसके लिए आप नजदीकी forest department से अधिक जानकारी ले सकते हैं |

32 thoughts on “कैसे करे चंदन की खेती Business – Sandal Tree Farming

  1. Layak singh

    wanted to cultivation of sandal plant please send sandal seed or give the supplier phon

    Reply
  2. Layak singh

    wanted to do cultivation of sandal plants please give the sandal seed.

    Reply
  3. किशोर मीना

    चंदन के पौधे कहा मिलते हैं ।सीधे पौधे लगाना उचित है या बीज लगाना कृप्या उचित जानकारी प्रदाय करे ।धन्यवाद

    Reply
    1. पप्पू वैष्णव

      चन्दन के पेड़ आण्डपर्देश में मिलते ह

      Reply
  4. shahanawaz khan

    agar chandan ki kheti khud ki personal jamin par ki jati he to bhi kya sarkar se parmishion leni padti hai

    Reply
    1. Bhagat Post author

      Ghar ke piche aap 2-3 chandan ke ped to laga sakte hai, har state ka alag alag rule hai, aap kis state se hain?

      Reply
  5. shahanawaz khan

    kya murgi palayan ke saath saath bhi chandan ki kheti ki ja sakti he

    Reply
    1. Bhagat Post author

      Agar aapke pass badi jamin ho to.

      Par dhyan rahe ki yah paya gaya hai ki jahan chandan ke ped hote hai, wahan garmiyon ke mausam me saap dekhne ko milte hai

      Reply
  6. shahanawaz khan

    sendale spike naamak rog agar chandan ki kheti ko nuksaan deta he to iska kya upaye he bataiye

    Reply
  7. Dharmendra Dewangan

    Kya iske liye sarkar se jameen lize(udhari) me mil sakta ha

    Kitna kharcha aata hoga iskeliye 1 tree lagane me

    Reply
  8. Ranbir Singh

    Kya haryana ambala me Chandan ki kheti ho sakti hai
    Podhe ya Beej kahan milenge
    Please btayen

    Reply
  9. Hardaram choudhary

    चन्दन के पौधे कहा से मिलेगे और बिज कहा मिलेगे अच्छा क्या रहेगा बिज या पौधे खरीदना

    Reply
    1. sonu Tiwari

      Mujhe chandan ki kheti karsni h please mujhe saari jaankari dene ki kripa karey beej sey lakar kat kar sal karsne tak faayede or nukshaan dono k baarey mai

      Reply
  10. shiv kumar

    sir iske podhe kaha milenge or agr hm 20-25 ped lgate hai to b sarkar se permission laini ki jrurat hai

    Reply
    1. Bhagat Post author

      Paudhe lagane ke liye permission nahi leni padti hai, aap is silsile mein apne state ke forest department se baat kar sakte hain

      Reply
  11. GANGA RAM SHARNA

    good morning sir
    kya Stat HARYANA Dis.(PALWAL) ME KI JA SAKTI H CHANDAN KI KHETI

    Reply
  12. GANGA RAM SHARNA

    1 kam se kam kitni jmin chahiye es ke liye
    2, or kitna kharcha lgta h 1 ekad me

    Reply
    1. Bhagat Post author

      1 acre kafi hai chandan tree ke liye. Par dhyan rahe ki ismein time lambga lagta hai, baki jankari site par di gayi hai

      Reply
  13. अमित तिवारी

    भाइयो
    मै फूलो की खेती बहुतायत मे करता हूँ।जैसे गुलदाउदी गेदा और ग्लैडयोलस,,
    साथ ही मै चन्दन की खेती भी करवाता हूँ।जो भी किसान भाई छोटे या बडे तौर से यह खेती करना चाहे तो मुझसे बेझिझक सम्पर्क कर सकते है।
    मो=08382883854

    Reply
  14. Pradeep pilaniya

    Sir, which time permission required to govt during farming stages or harvesting stage
    I want chandan farming in haryana rewari is it right place for farming.

    Reply
    1. Bhagat Post author

      I came to know that the Govt now allowed individual to grow Chandan tree in their backyard or farm. Make sure to cross check with local forest department.

      Reply
  15. nitin pole

    मुझे चंदन की खेती करनी है ऊसके बारे मे मुझे साह्यता की जरूरी है क्या आप मुझे मदत कर सकते हो? Mo.09503031603

    Reply
  16. Rama Choudhary Jat

    Tonk rajasthan. Me Chandan ke peid Lagana Chahati hu so podhe kha melege

    Reply
  17. Rama Choudhary Jat

    Mere. Pas. 5 ekad. Jamin hai, kya is par chandan ki paudhe ugaye jaa sakte hain

    Reply
  18. jayesh

    Hi!
    i seen your this blog. it very much interesting. Your blog is Giving good knowledge on sandalwood. I want to take training for farming of sandalwood. where can i get A to Z training for it? Will you give me information about training? Where can I get training for cultivation-harvesting of chandan? Thanking of you for your giving your time.

    Reply
  19. neeraj

    chandan ki kheti mp me ho skti h kya
    or chandan ki kheti krne me mp ka atmosphere kesa rhega.
    i need help please help me.
    thanx

    Reply
  20. rajiv kumar shyam

    Chandan ka Tel kaise nekalte hi or iska market kaha hai or kitne Dino me ye Tel Dena suru karta hai?

    Reply
  21. jafri

    Kindly suggest
    Chandan ke beej ko lagane ke baad us me pani kis Matra me dalna chaiye

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *