Custard Apple Health Benefits in Hindi – सीताफल खाने के फायदे

By | January 30, 2017

जानिए custard apple से जुडी health benefits in Hindi और इसका meaning – असल में इसे सीताफल और सरीफा भी बोला जाता है | जानिए इसे खाने के फायदे के बारे में | Soursop fruit को हिंदी में सीताफल कहा जाता है इसे common language में शरीफा भी कहा जाता है | यह एक तरह का फल है, इस फल को खाना सभी लोग पसंद करते है | यह फल खाने में मिठा और tasty होता है, लेकिन बहुत कम ही लोग इसके बारे में जानते है | सीताफल खाने में tasty तो है ही लेकिन साथ ही यह कई तरह के रोगों के दूर करने में भी मदद करता है, इस फल में Vitamin C, B1 और B2 जैसे तत्व मौजूद होते है | यह फल August से लेकर के September तक के महीनो में पाया जाता है | इस फल के बारे में यह माना जाता है की भगवान राम और माता सीता के वनवास के दौरान माता सीता इसी फल का सेवन करती थी और इसी लिया इस फल का नाम सीताफल पड़ा |

Custard Apple or Sitaphal health benefits in Hindi

सीताफल के फायदे / Custard Apple Benefits

ज्यादातर लोगों ने कभी ना कभी सीताफल खाया होगा, आपकी नानी या दादी हमेशा इसे खाने को देती होंगी | तो चलिए आज जानते है Custard apple के health benefits और इससे कौन कौन से फायदे होते है:

  • ह्रदय के लिए : Custard Apple में Potassium और Magnesium होता है जो की हमारे heart के लिए बहुत की लाभदायक होता है | इसमें Fiber की मात्रा भी काफी होती है और Fiber blood pressure को control कर के अतरिक्त Cholesterol को कम करता है, अतः सीताफल हृदय को स्वस्थ रखने में मदद करता है |
  • आँखों की रौशिनी के लिए : सीताफल को खाने से हमारे आँखों को बहुत फायदा मिलता है | सीताफल में Vitamin C और Vitamin A होता है जो हमारे हमारे आँखों की रौशनी को बढ़ाने में मदद करता है और हमारे skin के लिए लाभकारी होता है |
  • हजम शक्ति को बढ़ाता है : Custard apple fruit में घुलनशील रेशे मौजूद होते है जो हमारे पाचनक्रिया को स्वस्थ बनाने में मदद करता है | सीताफल Copper और fiber काफी अच्छी मात्रा में पाई जाती है जो की हमारे पाचन तंत्र को स्वस्थ बनाये रखने में मदद करता है, जिसके कारण Diarrhea जैसी problem होने पर भी लाभ प्रदान करता है |
  • दांत और मसूड़ों के लिए: सीताफल दांत और मसूड़ों को स्वस्थ रखता है, इस फल Calcium होती है जो की हमारे दांतों को मजबूती प्रदान करता है | इस फल के पेड़ की छल में tannin होता है जो हमारे मसूड़ों के लिए फायदेमंद होता है | इस फल के पेड़ की छाल को पिस कर इसका पेस्ट बना कर मंजन करने से दांतों में होने वाली दर्द तथा मुह से आने वाली बदबू दूर हो जाती है |
  • फोड़े फुंसी : सीताफल के पेड़ की छाल को पिस कर इसे इसका पेस्ट बना कर फोड़े फुंसी पर लगाने से जल्द ठिक हो जाता है | यदि किसी घाव में किडे पड़ जाए तो उसे ठीक करने के लिए सीताफल के पातो को पिस कर इसमें थोडा सेंधा नमक डाल कर इसका लेप तैयार कर ले जब लेप तैयार हो जाए तो इसे infected area में लगाने से घाव जल्द भरने लगता है |
  • बालो के लिए : यदि किसी को अपना गंजापन दूर कारन हो तो उसे sitafal ke seeds को बकरी के दूध को मिला करा सर में लगाने से गंजापन दूर होने लगता है और बाल दुबारा उगने लगता है |
  • त्वचा की खूबसूरती : सीताफल में Vitamin A की मात्रा अधिक होती है | Vitamin A हमारे skin को खुबसूरत रखने में काफी help करता है |
  • Body Temperature: सीताफल body temperature को control करने में हमारी मदद करता है, इसलिए यदि किसी का शरीर हमेसा गर्म रहता है, तो उसे सीताफल का इस्तेमाल अधिक से अधिक करना चाहिए |
  • दमा मरीजो के लिए लाभकारी:  जिन लोगों को दमा की बीमारी है उन्हें sitaphal खाना चाहिए, क्यूंकि इसमें मौजूद Vitamin B-6 पाए जाते है जो की दमा को रोकने में काफी मदद करते हैं |

Uses of Sitafal

  • जिन लोगों को दूध पीना पसंद नहीं है वो सीताफल (sitafal) को खा सकते है |
  • आपको शायद इस बात की जानकारी नहीं होगी की सीताफल यानि सरीफा के milk-shake भी बना कर पिया जाता है जो की पिने में काफी अच्छा लगता है | इसके अलावे सरीफा का उत्पादन गर्मियों के समय काफी अच्छी मात्र में होता है |

सीताफल खाते समय कुछ बातों का खास ख्याल रखे 

वैसे तो सीताफल खाने में बहुत से स्वस्दिष्ट होता है पर इस फल में कुछ विषैले तत्व भी होते है, इसलिए इसे खाते वक्त धोड़ा सौधन होने की आवश्यकता है और जिन बातो का ख्याल रखने की जरूरत है वे निम्नलिखित है :-

  • सीताफल को खाते वक्त इस बात का ख़ास ख्याल रखन चाहिए की उसके बिज को दातो से न चबाए क्योकि सीताफल के बीजो में विषैले तत्व होते हैं जो की नुकसानदायक साबित हो सकते है |
  • जिन्हें अपनी वजन को कम करना ही उन्हें इस फल का सेवन नहीं करना चाहिए क्योकि इस फल में केलोरी की मात्रा बहुत अधिक होती है |
  • डायबिटीज वाले मरीजो को इस फल का सेवन नहीं करना चाहिए |
  • जिन्हें निमोनिया की problem है उन्हें इस फल का अधिक सेवन नहीं करना चाहिए क्योकि इस फल को अधिक खाने से ठण्ड लग सकती है |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *