DDT ka Full Form in Hindi – डी.डीटी

By | November 18, 2017

दोस्तों क्या आप जानते है DDT का full form क्या होता है Hindi में? जानिए इसकी history, uses और उपयोग के बारे में जो की Chemistry aur Boilogy में उपयोग किया जाता है | प्रकृति में आज कई प्रकार के कार्बनिक यौगिक पाए जाते है | कार्बनिक यौगिक कार्बन के रासायनिक मिश्रण से बने रासायनिक यौगिक होता है जिसमे कार्बन और हाइड्रोजन की मौजूदगी होती है | हमारे जीवन पद्धति में इस यौगिक की उपस्थिति अति आवश्यक है | ऐसे यौगिको की सूचि में एक DDT भी शामिल है | आज चलिए आइये जानते है इससे सम्बंधित महत्वपूर्ण जानकारियाँ :

DDT Full Form

DDT – Dichloro Diphenyl Trichloroethane

एक कार्बनिक यौगिक है | यह मिश्रण एक बेरंग, बेस्वाद, और लगभग गंधहीन क्रिस्टलीय ऑर्गेनोक्लोरीन होता है जो मुख्य रूप से कीटनाशक गुण एवं पर्यावरणीय प्रभावों के लिए जाना जाता है | इस मिश्रण के कीटनाशक कार्रवाई की खोज सर्प्रथम Swiss chemist ‘Paul Hermann Muller’ के द्वारा 1939 में किया गया था | इसके खोज के आरंभिक दौर में द्वितीय विश्व युद्ध के दौरान नागरिकों और सैनिकों के बीच मलेरिया और टाइफस को नियंत्रित करने के लिए किया जाता था | Paul Hermann Muller के द्वारा DDT के उच्च दक्षता की खोज के लिए 1948 में इन्हें Nobel Prize in Physiology or Medicine से सम्मानित किया गया था |

Chemical Property of DDT


प्रकृति में पाए जाने वाले सभी रासायनिक यौगिको का अपना अपना रासायनिक गुण नाम आदि होता है | प्रकृति में पाए जाने वाले DDT के रासायनिक गुण इस प्रकार है

  • रसायनिक शुत्र – C14H9Cl5
  • Molar mass – 354.49g/mol
  • Melting point – 108.5°C
  • Boiling point – 260°C
  • Density – 990kg/m³

इस रसायन के संरचना के आधार पर इस योगिक को 1,1′-(2,2,2-Trichloroethane-1,1-diyl)bis(4-chlorobenzene) के रूप में भी जाना जाता है |

History

डीडीटी को सर्वप्रथम Adolf von Baeyer की देखरेख में Othmar Zeidler द्वारा 1874 में खोज किया गया | इस यौगिक के बारे में 1929 में W. Bausch के निबंधन एवं 1930 में दो प्रकाशनों में इसके बारे में वर्णन किया गया था | 1934 में Wolfgang von Leuthold के द्वारा इसमें मौजूद multiple chlorinated aliphatic or fat-aromatic alcohols के कीटनाशक गुणों का वर्णन किया गया था | डीडीटी की कीटनाशक संपत्तियों को स्विस वैज्ञानिक पॉल हरमन मुलर द्वारा 1939 तक नहीं खोजा गया |

Uses of DDT                          

डीडीटी का इस्तेमाल वर्षो पूर्व से होता चला आ रहा है | आरंभिक दौर में इसका इस्तेमाल द्वितीय विश्व यूद्ध के समय ग्रामीण एवं सनिको के द्वारा मलेरिया, टायफस, शरीर जूँ एवं बुबोनिक प्लेग नियंत्रण के लिए किया जाता था | 1940 और 1950 के दशक में उपयोग किए जाने वाले कई क्लोरीन युक्त कीटनाशकों में यह सबसे प्रसिद्ध था | समय के साथ साथ इस रसायन पर कई शोद्ध किए गए एवं इसका इस्तेमाल फसल में किया जाने लगा | यह रसायन कीट के साथ साथ मानव एवं जानवरों के लिए हानिकारक है जिस कारण कई देशो में इसका इस्तेमाल बंद कर दिया गया |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *