अवसाद Depression Treatment in Hindi ka ilaj

By | June 7, 2015

Simple Home Treatment of Depression in Hind – Jaane Depression ka gharelu ilaj  – तनाव जिसे अवसाद भी कहते है एक मानसिक समस्या है | यह एक आम समस्या की तरह होती है | जिसके कारण लोग सामान्य बर्ताव नहीं कर | अगर किसी को व्यक्ति को तनाव जैसी समस्या एक लम्बे समय तक हो,  तो वह मानसिक संतुलन खो देता है | अत; हमें डिप्रेशन के प्रति जागरूक होना चाहिए | कई बार यह देखा जाता है की डिप्रेशन के कारण लोग निराशा होकर आत्महत्या जैसी बड़ी गलती भी कर बैठते है |

Depression ka ilaj in Hindi - use simple home remedy

अवसाद / तनाव के कारण (Causes of Depression)

तनाव होने के कई कारण हो सकते है, जो मानव के ऊपर निर्भर करता है | क्योकि अलग अलग लोगो में तनाव के कारण भी अलग अलग हो सकते है | हर किसी की समस्याए अलग अलग होती है, अत; उनमे होने वाली अवसाद के कारण भी अलग हो सकती है | अगर लोग एक लम्बे समय से किसी कारण वस stress का शिकार होते है, तो वे धीरे धीरे तनाव ग्रस्त हो सकते   है |

लक्षण (symptoms)

मन ही मन बड़बड़ाना (murmuring) ; जिस व्यक्ति को डिप्रेशन जैसी समस्या होती है वह मन ही मन सोचता रहता है और खुद से बाते करता है | जैसे- बडबडाना

नींद का कम होना ; जिस व्यक्ति को depression जैसी सिकायत होती है | वह व्यक्ति  को रात में ठीक से नींद नहीं आती कई बार यह देखा जाता है, की देर रात तक वह नहीं सोता है | कभी कभी उसका नींद अचानक 2 या 3 बजे टूट जाता है |

तुरंत क्रोधित हो जाना ; depression का शिकार व्यक्ति अक्सर छोटे छोटे बातो में क्रोधित हो जाता है | वह आपा खोने लगता है |

अकेले रहना ; अवसाद के कारण लोग हमेशा अकेले रहना पसंद करते है |

तुरंत भावुक हो जाना ; अवसाद से पीड़ित व्यक्तियों में संवेदना सामान्य से अधिक मिलती है , वे छोटे छोटे बातो पर तुरंत रोने लगते है |

अवसाद के कारण  (causes of depression)

अवसाद किसी भी व्यक्ति को हो सकता है |

कोई भी व्यक्ति अगर किसी बात को लेकर उनके मस्तिस्क में stress होता है, तो वह व्यक्ति अवसाद का शिकार हो सकता है | इसी तरह कई और भी कारण है | जिस्से लोगो को अवसाद जैसे समस्याए घेर लेती है |

अधिक काम का दबाव ; अक्सर कई बार यह देखा जाता है,  लोगो में उनके क्षमता से अधिक कम के दबाव के कारण उनमे stress होने लगता है | जो बाद में डिप्रेशन का कारण बन जाता है |

किसी काम में विफलता होने पर ; किसी महत्वपूर्ण काम को पूरा न कर पाने की अवस्था में भी depression होने लगता है | इस प्रकार का depression प्रमुख रूप से बड़े बड़े ऑफिस में कार्यरत लोगो में देखा जाता है |

छात्रों में डिप्रेशन ; छात्रों में मुख्या रूप से डिप्रेशन उनके पढाई को लेकर होती है | अक्सर परीक्षा के समय वो देर रात तक जाग कर पढ़ते है | इससे उनके मस्तिस्क में stress अधिक होने के कारण डिप्रेशन होने लगता है |

प्यार में विफलता के कारण ; कई बार युवाओ में यह समस्या भी देखा जाता है | अक्सर युवा लड़का हो या लड़की अपने साथी के छोड़ जाने के कारण कभी कभी डिप्रेशन में चले जाते है |

बीमारियो के कारण ; लम्बे समय तक किसी विशेष बीमारी से पीड़ित व्यक्ति भी आवसाद का शिकार हो सकता है |

तनाव से बचने के उपाए – Ways to prevent from Depression

तनाव एक अत्यंत जटिल समस्या बन सकती है | अगर कोई व्यक्ति इसके चपेट में हो और इसका समाधान के लिए लम्बे समय तक कुछ न किया जाए, तो वह कई तरह के रोगों का शिकार भी हो सकता है | लम्बे समय तक अवसाद जैसी समस्या रहने पर लोगो में मानसिक रोग, पागलपन , हृद्य रोग तथा diabetes जैसे जटिल रोग का हो सकता है |

सावधानिया ; अवसाद से बचने के लिए लोगो को कई तरह से अपना ख्याल रखना चाहिए जिससे उनमे इस तरह की समस्या न पनपने पाए |

अपने अप को कामो में बिजी रख कर ; खुद को अवसाद से बचने के लिए अपने आप को विभिन्न कामो में व्यस्त रखे इससे अवसाद से बचने में मदद मिलती है |

खुदको खुश रक्खे ; अवसाद से बचने के लिए हमेशा खुंस रहने की कोशिस करे |

लगातार काम करते रहने से बचे ;  अगर आप किसी काम में लगातार busy रहते है, तो आप के मस्तिस्क में stress होने लगता है | अत; आप बिच बिच में ब्रेक ले , इससे stress कम होगा |

मधुर संगीत (music) ; तनाव से बचने में संगीत काफी हद तक उपयोगी होता है | मधुर संगीत सुनने से stress का level कम हो जाता है |

काजू (cashew nut ); काजू का इस्तेमाल से depression से रहत मिलती है | इसमे पाए जाने वाली सेरोटिन रसायन stress उत्पन करने वाली हार्मोन की स्तर को कम करता है |

बागवानी (gardening) ;  हरे पेड़ पौधा से लगाव रखने वाले लोगो को तनाव तथा stress जैसी समस्याओ कम होती है | अत; आप gardening जैसे कामो में खुद को व्यस्त रख कर भी खुदको तनाव मुक्त रख सकते है |

कोई भी खेल में व्यस्त रह कर ; खेल कूद में खुदको व्यस्त रख कर भी अपने आप को तनाव मुक्त रखा जा सकता है | क्योकि खेलते वक़्त आप का ध्यान सिर्फ खेल में होता है |

खुली हवा में घुमे ; अक्सर मस्तिस्क में रक्त संचार ठीक से न होने पर भी तनाव जैसी स्तिथि उत्पन होती है | सुबह में या साम में सूरज ढलने के बाद आप बाहर घुमने चले जाए जिससे आपकी मस्तिस्क में रक्त का प्रवाह सुचारू रूप से बनी रहे | तजि हवा में स्वांस लेने पर मस्तिस्क में रक्त के साथ आक्सीजन अधिक मात्र में पहुचती है | जिसके कारण stress कम होता है |

ज्यादा वक़्त लोगो के साथ बिताये ; stress और तनाव से बचना है तो आप अपना ज्यादा वक़्त अन्य लोगो के साथ बिताए, अपने friends हो या फिर पडोसी किसी के साथ भी घुमने चले जाए | कही पर बैठके बाते करे , इससे आपका ध्यान तनाव उत्पन करने वाली चीजो से हट जाएगा |

अविभावक को अपने बच्चो का अधिक ध्यान रखना चाहिए ;  युवाओ में ज्यादातर stress उनके पढाई को ले कर होता है | ज्यादातर युवा अपने पढाई के प्रति काफी गंभीर होते है, जिसके लिए वे अपना सबकुछ भूलकर पढाई में अपना ध्यान केन्द्रित किये होते है | इन सब के कारण वे अक्सर अपना शारीर का care करना भूल जाते है | पढाई के कारण मस्तिस्क पर दबाव भी काफी अधिक होता है ,  जो युवाओ में stress होने के लिए सबसे अधिक जिम्मेवार है | अत ; अविभावक को अपने बच्चो का अच्छे से ध्यान रखना चाहिए | आपने बच्चो को समय पर खाना खिलाये , पढने के समय बिच बिच में break लेने के लिए कहे | ज्यादा से ज्यादा वक़्त अपने बच्चो के साथ बिताए |

Related posts:

38 thoughts on “अवसाद Depression Treatment in Hindi ka ilaj

  1. Anita

    Depression ek dum sure theek ho jata hai bus ek sashakt say lady and medicine, meditation karte rahen, mujhey 3 year say depression tha but sahi medicine and meditation say Aub Sao percent theek hu. Thanks to dr anurag verma allahabad Iam,only 21,year old I was MDD

    Reply
        1. vikas kumar

          Nahi, agar aap time say 2-3 year kha lete to depression pura think ho jata hai

          Reply
    1. Diwakar

      Mujhe iss life me our Jine Ka Mann nahi kerta but Family ko aese nahi chorker ja sakta.
      phir bhi khud akelepann bhot kosta rehta hu or every night 3:00 a.m tak jaga rahta.

      Reply
    2. Neelesh

      Please shere your medicine name & how to use so that people get it

      Reply
  2. Anita

    Sir when I take building lift and I am afraid that lift will be closed and I die

    Reply
  3. abdul

    mai thik nahi hot,a koi drug kam nahi karte. l am very sad, please help

    Reply
    1. arman

      Bro agar ap meditation karoge to 100% sahi hojaoge …….more detail of meditation watch sandip maheshwari video (meditation ) on youtub

      Reply
  4. prince kr

    Mujhe 5 year she depression hai roj sardard bharipan aur mind fresh nhi rhta sath sath memory bahut kamjor ho gya hai koi bat turant turant bhul jata hui kya mera memory phle jaisa strong go jayga mera age 17 yrs hai koi upay btaiye

    Reply
  5. sakeel khan

    sir mera dimag ek hi baat ko sochta rahta he kya hua kyu hua kese hua me is diwag ki shoch se nikalna chahta hu

    Reply
    1. Bhagat Post author

      Aap ki koi na koi to hobby hogi – apne aap ko busy rakhe aur khali time ka sadupyog kare

      Reply
  6. abhishek

    Aap sahi medicine lijiye or agar koi khayal aaye to soche ki ye depression he or us khayaal ko khatm kr de..doctor ki advise lijiye.. aur apne aap ko busy rakhiye

    Reply
    1. raj

      Hi I m raj sir koi bhi ho to meri help kr de m high depression ka shikar ho chuka ho mera dimag kam nhi kr RHA h ghabrahat or nind nhi ati koi m batein bhut tej daud rhi h suicide krne ka mn krta h magar m nhi kroga muje jina h m depression s fight krte krte than gya ho….. Koi bhi chiz m man nhi lg RHA h

      Reply
      1. sarvesh

        Bhai meditation karo bilkul theek ho jaoge ..aur akele mat raho ..koi sports khelo …

        Reply
  7. mohsin

    mujhe har waqt ek ajib sa dar laga rahta hai, mere sense me ek dar sa baith gaya hai jo akele rahne par mujh par havi ho jata he

    Reply
  8. khushbu kumari

    sir mujhev depression hai i think jb mujhe koi bat hurt hoti hai to mujhe rone ka man karta hai akela feel karti hu mujhe koi suggestion de suicide krneka khayal ata hai

    Reply
    1. Bhagat Post author

      Suicide karna kisi problem ka solution nahi hai.

      Sabse pahle aap dusro ke baaton ka dhyan naa de. Aap apne life mein kisi ko interface karne mat dijiye khas kar un logon ko jisse aapko hurt hota ho. Upar diye gaye tips ko follow kijiye.

      Reply
    2. ravi

      Ye baat hamesha yaad rakho mujhse bhi buri confusion men log Ji rage hain. Or yaad rKho ki chHe Jo ho jae mujhe apni poor I jindgi mini hai chahe sukh aae dukh

      Reply
  9. deepak bhawsar

    please my help,
    my wife is depression ( jee machlana, chakkar aana & kabj banana please tretment)
    ke liye kya karna chahiye alopethic medicine to 6 month se chal rahi hai.
    lakin kuch faiyeda nahi ho raha hai.

    from deepak bhawsar
    9575088277
    ujjain

    Reply
  10. ravi

    My name is ravi
    Meri job nahi lagi hair,mai issr kafi tension men rahta hn or kabhi kadar bahoot negative though aate han , ki jindgi men ab much nahi hai,lakim ek baat mai hamesha yaad rakhta hn mujhe apni poor I jindgi jini hai,

    Reply
  11. Ishi

    Main apni life me apna goal decide nahi kar paa rahi hu or bahut Akela feel karti hu samjh nahi aa raha kya karu

    Reply
    1. Bhagat Post author

      Aapki age kya hai?

      Koi bhi hobbies ko follow kare aur usmein expert bane – yeah aapko career ka naya rashta dikha sakta hai

      Reply
  12. jiyAUL HAQUE

    sir mai ek baat ko sochta rahta hoon, kyu hua aisa acha bhi ni lagta or ghabrahat bhi hoti hai bhut mera diamg aik cheej me lagta ni hai

    Reply
    1. Bhagat Post author

      Aap apne aap ko kisi kaam mein busy rakhe, game kheliye, dosotn se mile, kuch naya skijiye, thik ho jayega

      Reply
  13. Megha

    Sir mai bahut tension me hu plz help me
    Mai apne love se alg nahi hona chahti hu par meri family mujhe pressurise kar rahe hai mai unse alg ho jau

    Reply
    1. Bhagat Post author

      Megha ji,

      Aapko pahle samjhana hoga ki aapki family aapko kyon support nahi kar rahi hai.

      Agar ladka job nahi karta hai, ya family background sahi nahi hai to koi bhi parents tayyar nahi honge.

      Accha hoga ki aap jisse shadi karna chahati hai, use yeah sab samjahye.

      Reply
  14. premkumar

    sir mera 28 sal ka bhai jiski sadi le liy april mein date padi hai, marriage ke bad koi dikkat to nahi ho gi, vo bi depression rogi hai

    Reply
    1. Bhagat Post author

      Agar aapke brother ko depression hai to uska karan janane ki koshsih kare aur uska ilaj kare. Agar phir bhi thik nahi hota hai to kisi acche psychology doctor se contact kare.

      Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *