Top Disadvantages of Plastic Bags in Hindi – प्लास्टिक प्रदूषण

By | November 29, 2017

आज कल पॉलीथीन प्रदूषण एक बड़ी समस्या बन चुकी है | What are the disadvantages of using plastic bags in Hindi. जानिए 10 बड़े नुकसानदायक प्रभाव essay के द्वारा | आज, आप आपने चारों ओर शायद ही कुछ चीजें देखते हैं जो की पूरी तरह से प्लास्टिक से नहीं बनाई गई हो, या plastic ingredient का इस्तेमाल नहीं किया गया हो | इससे यह साबित होता है कि इसकी स्थापना से अब तक प्लास्टिक लाखों उपयोगी वस्तुओं के लिए एक लोकप्रिय सामग्री बनने में कामयाब रहा है | प्लास्टिक के कई नुकसान हैं जो इसे आधुनिक मानव सभ्यता के universal building block को बनाने से रोकते हैं | इसलिए आज सरकार भी कड़ाई से इसके इस्तेमाल को नियंत्रित कर रही हैं और जटिल कानून बना रही हैं |

Disadvantages of Plastic

Plastic आज न केवल हमारे वातावरण को प्रदूषित कर रही है बल्कि यह कई तरह के घातक बिमारियों को जन्म देने में अहम् भूमिका निभा रही है | यहां प्लास्टिक के कुछ सबसे बड़े नुकसान शामिल हैं |

Disadvantages of  Plastic Bags in Hindi

Durability / टिकाव

प्लास्टिक स्वभव में हल्का, मजबूत, moldable हो सकता है, लेकिन सबसे known features में से एक इसकी durability है | यह एक कृत्रिम रूप से बनाया गया polymer compound  है जो कि कई सालो तक बना रहा सकता है | इसकी यह क्षमता पर्यावरण को तात्कालिक प्रभाव नहीं करती है, लेकिन समुद्र और जमीन में इसके लगातार dumping से भविष्य के पीढ़ियों के लिए समस्याएं पैदा करेगी |

और भी कई essay है जैसे National tree of India और परोपकार के ऊपर निबंध |

Animal Threat / पशुओं के लिए ख़तरा

प्लास्टिक की थैलियां न केवल हमारे प्राकृतिक निवास पर प्रतिकूल प्रभाव करती हैं, बल्कि कई जानवरों की मौत के लिए भी जिम्मेदार होते हैं, मुख्य रूप से घुटन के कारण जो की उन्हें plastic को खाने पर सामना करना पड़ता है |

Environmental Harm / पर्यावरण का नुकसान

प्लास्टिक या इसकी थैली को पर्यावरणीय क्षति होने का मुख्य कारण से जाना जाता है | इससे बने एक बैग को पूरी तरह से dispose उने में 1000 साल लग सकता है, ये plastic वातावरण में लम्बे समय तक टिके रहते हैं जो की natural landscape का कारण बनते हैं |

Pollution / प्रदूषण

प्लास्टिक बैग बेहद टिकाऊ होते हैं | यही कारण की यह आसानी से dicompse नहीं होता है और इस कारण ज्यादातर संभावनाओं में कचरे के ढेरों में केवल इसकी थैलियों का जमावड़ा रहता है plastic का यह जमवाड़ा soil pollution के साथ साथ air pollution का भी कारण बनता है |


Not Biodegradable

plastic जमीन में आसानी से decompose नहीं होते हैं इन्हें पूरी तरह से decompose होने 1000 साल से भी अधिक समय लग जाते हैं | यह अपनी इस प्रवृति के कारण धरती में जमा होती जा रही है जो की पृथ्वी के लिए विनाशकारी का कारण बन रहा है |

Choking Hazard

यह छोटी वस्तुओं के निर्माण के लिए सबसे लोकप्रिय सामग्री में से एक है | इसका सबसे ज्यादा उपयोग plastic के खिलौने बनाने वाले कारखानों में किया जाता है | ये खिलौने और इससे बने कई छोटे वस्तुएं आसानी से बच्चों के हाथों में आ सकती हैं जो अनजाने में उनके मुंह में जा सकते हैं जिससे उन्हें घुटन हो सकती है | एक और समस्याग्रस्त  उत्पाद जो गंभीर चोट या मौत का कारण बन सकता है “प्लास्टिक बैग”, जो कभी-कभी छोटे बच्चों के चेहरे पर लिपट सकते हैं, जो की  उनके श्वास को बाधित कर सकते हैं |

Chemical Risk / रासायनिक जोखिम

इतना ही नहीं कि प्लास्टिक के सृजन और recycling का गंभीर पर्यावरणीय जोखिम हो सकता है, लेकिन कुछ ऐसे पदार्थ है जो इसमें  डाले जाते हैं, और ये हमारे चयापचय को स्थायी रूप से नुकसान पहुंचा सकते हैं । phthalates और BPA जैसे रसायन व्यापक रूप से एक योजक के रूप में उपयोग किए जाते हैं जो प्लास्टिक की संरचना को अपमानित करने से रोकता है, लेकिन वे हमारे प्राकृतिक हार्मोन के स्तरों में हस्तक्षेप करते हैं जो कि दोनों पुरुषों और महिलाओं के लिए गंभीर समस्याएं पैदा कर सकते हैं |

Fumes / धुवां

चूंकि प्लास्टिक की थैलियां biodegradable नहीं होता है, इसलिए उनसे छुटकारा पाने का एकमात्र तरीका उन्हें जला देना है । हालांकि plastic में आग लगाना आसान होता है, लेकिन यह फायदा कम और नुकसान ज्यादा करती है, क्योकि इसे जलाना से यह toxic धुवां वातावरण में छोडती है जो की वायु प्रदूषण का बहुत बड़ा कारण बन सकता है |

Non-renewable

इससे बने बैग के मुख्य नुकसान में से एक यह है कि यह renewable नहीं हैं | इसके पीछे का कारण यह है कि ये petrochemicals से बने होते हैं, जो की ऊर्जा का एक गैर-नवीकरणीय स्रोत है |

Raw Material Costs

प्लास्टिक सामग्री का उत्पादन में मुख्य घटक के रूप में बड़ी मात्रा में कच्चे तेल की आवश्यकता होती है | तेल की कीमतों में वृद्धि और तेल प्राप्त करने में कठिनाइयों का मतलब है कि इसका  उत्पादन धीरे-धीरे बढ़ रही है | प्लास्टिक के निर्माण प्रक्रिया में बड़ी मात्रा में ऊर्जा की आवश्यकता होती है और पर्यावरण पर तनाव बढ़ जाता, इसके अलावा इसकी  उत्पादन की प्रक्रिया में बड़ी मात्रा में toxic emissions पैदा होते हैं, जो ग्रीनहाउस गैस को प्रभाव करने में योगदान करते हैं ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *