Dosa Plaza – Prem Ganapathy Business Success Story in Hindi

By | May 20, 2017

Pure India mein popular Dosa Plaza ke owner ka name hai Prem Ganapathy – janiye inke hard work business success story ko Hindi mein – डोसा | वैसे तो डोसा लगभग हर restaurant और होटल में उपलब्ध मिल जाता है, लेकिन Dosa plaza के डोसे की बात हीं कुछ और होती है। लगभग भारत के सभी big cities में उपलब्ध Dosa plaza एक ऐसा restaurant है जहाँ कई प्रकार के डोसे मिलते है । अब तक India के कई states में इसके restaurant खुल चुके है। यही नहीं विदेशो में भी इसके डोसे बहुत famous है । लेकिन क्या आपको पता है की जिस company का dosa आप सबसे ज्यादा खाना पसंद करते है उसे चलाने वाले शख्स का नाम क्या है? कैसे वो शख्स डोसा बेच बेच कर आज अरबपति बन चूका है ? जी हाँ हम बात कर रहे है प्रेम गणपति जी” की जो Dosa plaza के स्थापक / owner  है और आज देश विदेश में अपने company के  नाम से कई सारे outlets चला रहे है । आज इस article में हम आपको Dosa plaza की story बताने जा रहे है ।

Dosa Plaza Business success story

“प्रेम गणपति जी” एक बहुत हीं simple से इंसान थे जिनका जन्म तमिलनाडु के गरीब family में हुआ था । इनका family काफी बड़ा है और ये 6 भाई और 1 बहन है । इनके पिता जी लोगो को योग व कसरत सिखाया करते थे । खेती बाड़ी से इनके घर का खर्चा चलता था । आर्थिक स्थिति खराब होने के कारण प्रेम गणपति ने 10th के बाद अपनी पढ़ाई छोड़ कर नौकरी करने का फैसला कर लिया था। कुछ समय के लिए तो इन्होने अपने हीं गाँव में छोटी मोटी नौकरी की। उसके बाद इन्होने चेन्नई जाकर कुछ दिनों तक नौकरी की । लेकिन चेन्नई में नौकरी करने के बाद भी इनकी जरूरते पूरी नहीं हो पा रही थी ।

प्रेम के एक परिचित दोस्त ने उसे Mumbai ले जाकर एक नौकरी दिलाने का उससे वादा किया। प्रेम  के दोस्त ने उसे १२०० रूपए तक की एक अच्छी नौकरी दिलाने का वादा किया । प्रेम सब कुछ छोड़ कर अपने दोस्त के साथ Mumbai आ गए । Mumbai पहुँचते हीं बांद्रा रेलवे स्टेशन पर प्रेम के दोस्त ने उसे धोखा देकर उनके सारे पैसे ले कर भाग गया । प्रेम ना तो Mumbai में किसी को जानते थे ना हीं उन्हें मुबई की भाषा समझ आती थी। लेकिन उन्होंने हार नहीं मानी और मुंबई में हीं एक बेकरी में बर्तन साफ़ करने का काम करना शुरु कर दिया ताकि उनके पास कुछ पैसे आ जाये ।

कुछ पैसा और जमा हो जाए इसलिए प्रेम ने रात रात को एक छोटे से ढाबे पर रसोइए का काम भी start कर दिया । प्रेम को starting से हीं डोसा बनाने का शौक रहा था इसलिए वो ढाबा में भी डोसा बनाने का काम करने लगा जिससे वहां का मालिक उससे खुश रहता था । ढाबे में काम करते करते प्रेम ने खुद की एक स्टाल लगाने की सोची जिसमे वो केवल dosa बेचना चाहता था ।


famous dosa with curry

फिर क्या था उन्होंने एक स्टाल खोली और dosa बनाने का प्रयास करने लगे । धीरे धीरे उनका dosa पुरे मुंबई में famous हो गया और उन्हें एक बड़ी कामयाबी मिली । प्रेम का कहना था की उनके कामयाबी के पीछे उनका स्वास्थ विज्ञान, डोसे को सही तरीके से पेश करना तथा  ताज़े मसालों का कमाल है और यही उनके स्टाल को बाकी के सभी restaurant से अलग बनता है ।

जब प्रेम ने इस स्टाल के जरिये लाखो रुपये जमा कर लिए तब उन्होंने अपने जीवन का सबसे बड़ा risk लेकर अपने काम को और बढ़ाने का सोचा । उन्होंने मुंबई में वाशी के पास अपना खुद का एक  दुकान खोला और उसका नाम dosa plaza रखा । लेकिन दुर्भाग्यवश इस काम में उन्हें असफलता मिली जिनकी वजह से उन्हें दुकान बंद करनी पड़ी । इतना कुछ होने के बाद भी प्रेम ने हिम्मत नहीं हरी और उन्होंने अपने फिर से अपने अनुभवों को अपने चाइनिस डोसा में प्रयोग किया और वे तरह तरह के डोसा बनाने में माहिर हो गए जिसे लोगो ने भी खूब पसंद किया । प्रेम 100 से भी ज्यादा तरह के डोसे बनाने लगे थे जिसके वजह से उनकी पूरी मुंबई में एक अलग ही पहचान हो है थी ।

Prem Ganapathy Dosa Plaza owner sucess story

एक बार प्रेम के स्टाल पर Dosa खाने आये एक ग्राहक ने उनसे एक बड़े मॉल में अपना एक छोटा फ़ूड स्टोर लगाने को कहा । ये सुन कर प्रेम को फिर से अपने व्यवसाय को बढ़ाने की इच्छा जागी ।  वे अपने द्वारा बनाए गए डोसे को एक अलग हीं पहचान देना चाहते थे । इसलिए उन्होंने अपने मेनू में और वेटर ड्रेस में दुबारा से कुछ changing लाते हुए उसमे बदलाव किए और फिर से dosa plaza नाम से अपने नए restaurant की स्थापना की जिसमे उन्हें काफी सफलता मिली ।

धीरे धीरे प्रेम ने देश भर में कई सारे dosa plaza खोले जिसका Annual turnover लगभग Rs 5 Crore है । देखते हीं देखते ये शख्स अपनी मेहनत से आज अरबपति बन गया है । देश भर में जितने भी इसके आउटलेट हैं, ये सब एक दुसरे से जुड़े हुए है । यह हमेशा अपने ग्राहकों को अच्छी सेवाएँ प्रदान करता है ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *