EMU Farming Business Plan for India

By | July 6, 2016

Are you planning to start Emu Farming in own country India? Find out how much capital, space and food required and is it profitable?  इमू bird और egg का क्या price पड़ता है और इससे जुड़ी जानकारी | EMU (एमु) एक प्रकार का पक्षी है, जो ऑस्ट्रेलिया में बहुत अत्यधिक मात्रा में पाया जाता है | Emu के बारे में यह भी कहा जाता है की Emu ऑस्ट्रेलिया में पाए जाने वाले बड़े पक्षियों के परिवार से belong करता है | भारत में Emu farming की शुरुवात सन 1990 में हुईं और तब से अब तक Emu farming का bussiness काफी बढ़ गया है | आज पुरे भारत में लगभग 2,500 Emu farm है, और इसके अलावा कई जगहों पर farm अपना धीरे धीरे विस्तार कर रहा है | मुख्य रूप से Emu farming का business भारत में Maharashtra, Kerala, Gujarat और Andhra Pradesh जैसे राज्यों में अधिक लोकप्रिय है | North Indian states जैसे की Punjab, Haryana, Himachal Pradesh और Uttar Pradesh में Emu farming के बारे में लोगो के पास ज्यादा जानकारी नहीं है और जानकारी के आभाव में लोगो Emu पर कम रूचि रखते है | यह सच है कि भारत में EMU की farming एक बहुत ही आकर्षक business है, और तरह तरह के Emu products बाज़ार में बेचे जाते है और उन से अच्छी कमाई हो जाती है |

Emu Farming Business in India

How to start Emu Farming business in India?

Sabse pahle aapko ek medium size ki plot ki (6 to 7 decimal for 4 pair) jarurat hogi aur acchi capital ki taki aap Emu bird ki farming ka bussiness ko start kar sake. Yah dhyan rahe ki yah business abhi utna popular nahi hua hai, aur iski demand dhere dhere badh rahi hai. To chaliye jante hai emu business ki jankari pure details mein:

Land Area / भूमि क्षेत्रफल 

भारतीय परिस्थितियों में EMU birds 5 फुट ऊचा और लगभग 50 किलो वजन के होते है | EMU birds आकार में बड़े होते है इसलिए उनके रहने का स्थान उनके size के अनुसार होना चाहिए | यदि आप EMU birds के 10 जोड़े को प्रजनन के लिए रखना चाहते हैं, तो आप कुल 6000 से 7,000 sq. feet area की आवश्यकता होगी | कृप्या Emu farming को start करने से पहले यह सुनिश्चित कर ले कि आप के पास इमू पक्षियों के उचित रखरखाव की लिए पर्याप्त भूमि है और आर्थिक रूप से संपन हो  |

Infrastructure / आधारिक संरचना

Emu farm construction

EMU farming के लिए अच्छा और बढ़ियां Infrastructure होना सबसे महत्वपूर्ण बातों में से एक है, हालांकि इन पक्षियों के त्वचा बहुत ही hard होते है, इसलिए इन्हें जल्दी किसी भी तरह का desiseas नहीं होता है, फिर भी इन्हें एक अच्छे रख रखाव के ज़रूरत होती है |
EMU birds के Infrastructure के लिए कुछ खास बात :-

  • एमु पक्षियों के लिए Shelter (200 feet per emu) |
  • साफ पानी की उपलब्धता |
  • एमु पक्षियों के खलने या घुमने के लिए बडा area |
  • ताजा चारा की उपलब्धता
  • यदि आप Emu Hatchery चला रहे हो तो 24 घंटे बिजली का होना अनिवार्य है |
  • अच्छा Egg Hatchery machines |

Feed / चारा

Food for Emu Bird

अच्छा और healthy Emu birds के लिए आप को उन्हें उचित feed देने की ज़रूरत है | चारा के लिए वैसे company को trust करे जो की अच्छे quality का चारा बनाती हो, ताकी आप के Emu birds को सभी प्रकार के पोषक तत्वा उन्हें प्रदान हो सके | Godrej और Venky’s ये दो ऐसे company हो जो की उचित quality के चारा बनाते है, इसके अलावा भी market में और भी companies है जो की Emu birds के लिए चारा बनाते है | एक Emu birds को कितने nutrition की ज़रूरत है, उन्हें कौन कौन से vaccination  देने की ज़रूरत है, ताकी उन्हें diseases से बचाया जा सके | इन सब की जानकारी एक अच्छा पशु चिकित्सक ही दे सकता है, इसलिए किसी qualified doctor से संपर्क कर के इन सब की जानकारी हासिल करे |

अपने Emu birds के उचित वृद्धि और विकास के लिए उनके चारे में निम्नलिखित पोषक तत्वों की आवश्यकता होती है :

  • Vitamins : A, B12, D & E
  • Proteins : Crude Protein
  • Minerals : Calcium, Zinc, Manganese, Iodine
  • Fiber : Crude Fiber
  • Amino Acids : Lysine, Methionine, Tryptophan, Threonine

Vaccination / टीकाकरण

वैसे तो Emu बहुत ही शख्त किस्म के पक्षी होते है, इन्हें जल्दी कोई रोग नहीं होता है, लेकिन वे बहुत तेजी से कुछ बीमारियों से संक्रमित हो जाते हैं | अपने Emu birds को संक्रमित बीमारियों से बचाने के लिए किसी qualified doctor को hire करे जो Emu birds को सही तरह से रखने के लिए आप को सही advice और उन्हें vaccinate कर सके |

Emu पक्षियों के साथ जुड़े कुछ प्रमुख रोग :-

  • Malnutrition
  • Emu Enteritis
  • External and Internal Worms
  • Eastern Equine Encephalomyelitis

Cost / लागत

अगर देखा जाये तो आप 4 से 5 लाख की लगत में 4 से 5 pair के साथ Emu farming business को start कर सकते हैं  |  Emu chicks का चारा का लागत उसके consumption पर depend करता है | Emu के एक adult जोड़े के लिए सालाना चारा में कम से कम 40,000 से 50,000 खर्चे होने की संभावना है | चारे में होने वाली खर्च animal food company के ऊपर depend करता है, की आप उन्हें किस company का product खिला रहे है | आप इनके feeding cost को alternate चारा जैसे के हरी पत्ती दे कर के cut down कर सकते है और Emu के foods पर लगने वाले राशी में कुछ बचा सकते है | Emu farming के business को India में start करने के लिए लगभग 4 से 5 लाख तक का costing पड़ सकता है |

Cost of 1 pair (3 Month old birds) Rs 30,000
Cost on Fencing (बाड़ा) Rs 10,000
Cost on food in a Year Rs 20,000
Cost for Hatchery Rs 30,000
Other Misc. Cost Annually (Labour, light etc) Rs 50,000

Benefits of Emu Farming 

Emu farming भारत में धिरे धिरे famous होते जा रहा है | Emu farming के बहुत से फायदे है | Emu farming के benefits इस प्रकार है |

  • Emu products जैसे की Emu का egg, meat, skin, oil और इसके feather का market में बहुत ही value है |
  • Emu का meat बहुत ही healthy और tasty होता है, इसमें fats और cholesterol बहुत ही कम होता है और इसमें protein और energy बहुत अधिक होती है |
  • आप आसानी से अपने अन्य पशुधन जानवरों और पोल्ट्री पक्षियों के साथ अपने खेत में कुछ Emu को बढ़ा कर सकते है |
  • Emu के पक्षिओ में रोग बहुत ही कम होता हैं और वे सभी तरह के climate condition में जीवित रह सकते हैं ।
  • Emu farming business बहुत लाभदायक है और यह भारत के बेरोजगार लोगों के लिए रोजगार और आय का एक बड़ा श्रोत बन सकता है |
Cost of 1 pair Emu Chicks (1 days to 1 month) Rs 4,000 – 9,000
Cost of 1 pair Emu Chicks (1 month to 3 month) Rs 10,000 – 14,000
Cost of 1 pair Emu Chicks (upto 1 year) Rs 24,000 – 40,000
Cost of Emu egg Rs 1,000 – 1,500
Cost of Emu Feather Rs 500 – 1,500 /kg

One thought on “EMU Farming Business Plan for India

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *