Gelatin Meaning in Hindi – Uses, Benefits – जेलाटीन

By | March 21, 2017

Janiye Gelatin meaning in Hindi kya hota hai, iska uses, kaun se health benefits hai aur yah kaise banta hai – how it is made – जेलाटीन से जुडी information.  क्या आप जानना चाहते है की Gelatin नामक शब्द का वास्तविक मतलब और अर्थ क्या होता है ? अगर आप नहीं जानते है तो आइये आज के इस रचना में जाने इसका हिंदी में अर्थ क्या होता है |

Gelatin meaning and uses in Hindi

Meaning in Hindi

Gelatin = सरेस

  • जेलाटीन
  • सरेस
  • ‍जिलैटिन

How to pronounce ?

इस शब्द का शुद्ध उच्चारण जेलटन के रूप में किया जाता है |

इसे हिंदी में सरेस कहा जाता है | जेलाटीन एक प्रकार का जैली है जो बाजार में बड़े ही आसानी से उपलब्ध हो जाता है | यह एक प्रकार का खाद्य सामग्री है, यह दिखने में colorless खाने में test-less एवं भंगुर ठोस प्रदार्थ है | इसका निर्माण जीव जन्तुओ से प्राप्त उत्पाद में पाए जाने वाले कोलेजन की मदद से किया जाता है | इस word को लेटिन भाषा शैली का शब्द है, लैटिन भाषा में इस शब्द का अर्थ जमा हुआ या दृढ होता है |

How Gelatin is made / इसे कैसे बनाया जाता है

आपको जान कर हैरानी होगी की market में ज्यादातर जेलाटीन गायों और सुवर के bones और skin को गला कर बनाया जाता है | ज्यादातर capsules (medicines में use होने वाले) इसी के बने होते है | परन्तु market में veg जेलाटीन भी होते है जो “agar agar” से बने होते है, जो की algae समुद्र में पाई जाने वाली काई से बनाया जाता है |

Uses of Gelatin / सरेस का उपयोग 

यह खाद्य प्रदार्थ का इस्तेमाल सर्व प्रथम मध्यकालीन ब्रिटेन के द्वारा सन 1400 में किया गया, इस अवधि में इसका निर्माण जानवरों के खुर को उबालने से बनता था | इसके बाद धीरे धीरे इसका इस्तेमाल सभी जगह होने लगा | 1754 में ब्रिटिश के द्वारा निर्मित विनिर्माण पेटेंट जारी करने के उपरांत इसे व्यवसाय के रूप में विकसित हुआ | 1800 के मध्य में न्यूयार्क के रहनेवाले Charles और Rose Knox ने इसका  powder का निर्माण किया | इसके साथ ही आज इसका इस्तेमाल कई तरीको से किया जाता है | इसका इस्तेमाल मनुष्यों के द्वारा शरीर को स्वस्थ बनाए रखने के लिए भी किया जाता है |


Benefits / सरेस के फायदे 

इसका इस्तेमाल से मानव शरीर को कई प्रकार की समस्या से छुटकारा मिलता है और साथ ही यह हमारे शरीर को स्वस्थ रखने में भी अहम् योगदन देता है |

पाचन तंत्र को मजबूत करता है – इसमें में हाइड्रोफिलिट नामक तत्व की उपस्थिति होती है जो मानव के पाचन तंत्र को मजबूत करता है और पेट सम्बंधित होने वाले समस्याओ से हमे सुरक्षित करता है |

हड्डियों को मजबूत करता है – इसमें  कैल्शियम, मैंग्निशयम के साथ साथ फास्फोरस, सिलिकॉन और सल्फर की भी उपस्थिति रहती है जो हमारे शरीर के हड्डियों को मजबूत बनाता है और साथ ही शरीर में होने वाले जोड़ो के दर्द, हड्डियों से सम्बंधित बीमारियाँ जैसे अर्थराइटिस, ओस्टीओपोरोसिस आदि समस्या को ख़त्म करता है |

मोटापा कम करना – इसमें एमिनो एसिड की मौजूदगी होती है जो मानव शरीर में अनियंत्रित मेटाबोलिज्म को नियंत्रित करता है मेटाबोलिज्म की मात्रा में हुई नियंत्रण शरीर में मौजूद कैलोरी को कम करता है जो मानव शरीर के मोटापा को कम करने के लिए काफी लाभदायक होता है |

बालो के लिए फायदेमंद – इस में मौजूद प्रोटीन हमारे बालो को मजबूत चमकदार और लम्बा बनाता है | इसे shampoo बनाने में भी उपयोग किया जाता है | रोजाना इसके पाउडर को शैम्पू में डालकर बालो को धोने से बालो में चमक रहती है एवं बाल मजबूत होते है |

त्वचा के लिए – इस में कई तत्व की उपस्थिति होती है, इसका नियमित तौर पर सेवन करने से त्वचा की रौनक बरक़रार रहता है और साथ ही हमारे नाखुनो का भी स्वास्थ सही रहता है |

आशा करता हूँ की आपको दी गयी जानकारी अच्छी लगी होगी, अगर आपके पास और कोई इससे जुडी information है तो मेरे साथ जरुर share करे |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *