गिल्ली डंडा खेल से जुडी जानकारी – Rules

By | September 6, 2017

दोस्तों तो क्या आप गिल्ली डंडा के खेल से जुडी information जानना चाहते हैं? यह भारत का लुप्त होता खेल है, जानिए इसके history, rules और regulation से जुडी जानकारी | सभी खेल की तरह “गिल्ली डंडा” भी एक महत्वपूर्ण खेल है जो हमारे देश में खेला जाता है। गांव में  रहने वालो के लिए सबसे पंसदीदा खेल गिल्ली डंडा को ही माना जाता है। गांव के लोग इस खेल को “गुल्ली डंडा” के नाम से भी जानते है । हमारे भारत देश में बहुत तरह के games खेले जाते है जैसे की क्रिकेट, फुटबॉल, कबड्डी, हॉकी, चेस, लूडो, व्यापारी, राजा मंत्री चोर सिपाही  इत्यादी। इनमे से कुछ game घर के अन्दर भी खेले जाते है और कुछ गेम्स घर के बाहर भी खेले जाते है।   गिल्ली डंडा बच्चो का लोकप्रिय खेल है क्यूंकि गावं में ज्यादातर बच्चे इस खेल को ही खेलते है, परतु आज के 21st century ज़माने में यह लुप्त होती खेल है जो की 1990 के आस पास तक ही खेली गयी  ।

Gilli danda game detail in Hindi

गिल्ली डंडा में डंडा एक बेलन के आकार  की लकड़ी से बनी होती है जिसकी लम्बाई क्रिकेट के बल्ले के आकार बराबर या बेसबॉल की तरह होती है, और गिल्ली छोटी सी बेलन के shape जैसी होती है जो किनारे से थोड़ी सी नुकीली होती है। गिल्ली डंडा को खेलने के लिए दो लोगो की जरूरत होती है, इस खेल में दो या दो से  ज्यादा लोग भी खेलते है । गिल्ली डंडा खेलने वाले लोग बहुत ही उत्साह से इस खेल को खेलते है। आइये नीचे जानते है की गिल्ली डंडा खेलने का तरीका और नियम क्या है। 

गिल्ली डंडा खेलने का तरीका / How to play Gilli Danda 

गिल्ली डंडा खेलने का तरीका और इस खेल के नियम बेहद ही आसान है :-


  • इस खेल को खेलने के लिए दो लोगो जरुरत होती है पर दो से ज्यादा लोग भी इस खेल को खेल सकते है ।
  • इस खेल को start करने से पूर्व जमीन पर एक छोटा और लम्बा गड्ढा खोदते है ,फिर उस गड्ढे में गिल्ली को इसप्रकार रखते है की गिल्ली का कुछ भाग ऊपर की दिखाई देता रहे ।
  • उसके बाद डंडे से गिल्ली के किनारे पर मारते समय पहला खिलाडी का दायाँ हाथ उसके दायें पैर के निचे होता है ।
  • फिर डंडे के सहारे गिल्ली को उछालते है और उस गिल्ली को दूर तक पहुंचाने की कोशिश करते है ।
  • अगर गिल्ली को उछालते ही सामने वाला यानि दूसरा खिलाडी हवा में उस गिल्ली को अपने हाथो में पकड़ लेता है तो पहला खिलाडी जो  खेल रहा होता है वह out हो जाता है यानि की हार जाता है ।
  • अगर दूसरा खिलाड़ी गिल्ली को catch नहीं कर पाता है और गिल्ली दूर तक पहुंच जाती है तो पहला खिलाड़ी डंडे को गड्ढे पर रखता है और सामने वाला खिलाडी गिल्ली को उठाकर वहीँ से डंडे पर मारने की कोशिश करता है।
  • अगर गिल्ली का निशाना डंडे पर लग जाये तो पहला खिलाडी हार जाता है और फिर दुसरे खिलाडी की बारी आती है और दूसरा खिलाडी भी ठीक पहले खिलाडी की तरह ही खेलता है ।
  • अगर ऐसा नहीं होता है मतलब अगर गिल्ली डंडे में नहीं लगती है तो पहले वाला खिलाडी फिर से गिल्ली डंडा खेलता है ।
  • अगर डंडे से गिल्ली के किनारे मारते समय गिल्ली हवा में उछलकर दूर तक नहीं पहुंचती है तो पहले वाला खिलाडी को तीन बार मौका दिया जाता है ।
  • अगर तीनो बार गिल्ली से डंडा touch नहीं हो पाया तो पहले खिलाडी का time खत्म हो जाता है और दुसरे खिलाडी की बारी आ जाती है । 

सावधानी / precaution

इस खेल को खेलते समय बहुत ही सावधानी बरतने की जरुरत होती है अगर इस खेल को सावधानी पूर्वक नहीं खेला जाये तो किसी को भी चोट लग सकती है । इसे खेलते time आँखों में चोट लगने की ज्यादा संभावना रहती है इसलिए इस खेल को सतर्क होकर खेलना चाहिए ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *