GST Bill Rules in Hindi – जी.एस.टी

By | December 26, 2016

Janiye GST bill se judi rules ke bare may in Hindi. आखिर जी एस टी बिल में है क्या, कौन से benefits है और कौन से tax information इससे जुडी है – सभी की जानकारी | GST का full form होता है “goods and services tax” । GST एक तरह का indirect tax है जो की सभी services(सेवाओ) तथा goods (वस्तुओ) पर लगाया जाता है। हमारे देश में बहुत तरह की tax लगाए जाते है जैसे की sales tax, excise duty tax, services tax , VAT इत्यादि । पहले central govt के द्वारा excise duty व services tax और state govt के द्वारा VAT या sales tax यानि की बिक्री कर लगाया जाता था। इस कारण से business man यानि की किसी भी व्यवसायी को excise duty tax, services tax और sales tax तीनो देने पड़ते थे जिससे की वस्तुओ की कीमत बहुत ज्यादा हो जाती थी। लेकिन GST लागु होने के बाद बाकि के सभी taxes को हटा दिए जायेंगे और किसी भी व्यवसायी को एक ही जगह पर tax देना होगा।

GST Rules and Regulations in Hindi

अभी आप देख रहे होंगे की एक हीं सामान का अलग अलग states में अलग अलग rate होता है लेकिन GST के लागू होते हीं ऐसा नहीं होगा। कई states की सरकार चाहती थी की gst tax की दर  27% तक हो लेकिन central govt के अनुसार gst tax की दर अगर 20% से ज्यादा हुआ तो goods and services महंगी हो जाएगी । एक ही जगह tax देने से वस्तुओं की कीमत कम होगी जिससे आम नागरिक को फायदा  होगा । 

GST Rules in Hindi / जी.एस.टी के नियम

  • अन्य सभी taxes को बंद करने के लिए उनके जगह पर GST को लागू किया गया है ।
  • GST लागू होने के बाद पूरे देश में एक वस्तु पर एक ही तरह की कीमत लगेगी जैसे अभी तक कोई भी वस्तु खरीदते है तो उस वस्तु को खरीदने के समय उस पर 30-35% tax देना पड़ता है लेकिन gst लागु होने के बाद से ये tax सिर्फ 20% या इससे भी कम देना होगा।
  • GST लागु होने के बाद कोई भी state किसी भी products पर VAT को नहीं बढ़ा सकता है।
  • gst tax के लागू होने पर कोई भी decision सिर्फ central सरकार ले सकती है ।
  • tax का दर 20% होने पर central और states govt को tax revenue का आधा आधा हिस्सा यानि की 10-10% मिलेगा ।
  • बहुत से states में one third tax केवल पेट्रोल और डीजल से हासिल की जाती है, इसलिए पैट्रो उत्पाद को GST के अंतर्गत नहीं रखने की बात हो रही है ।
  • GST के अंतर्गत उन सभी Businessman, producer और service provider को registered होना होगा जिसकी साल भर में कुल बिक्री का कमाई , एक fixed amount से ज्यादा है।

Benefits of GST / जी.एस.टी के लाभ

  1. यदि GST लागु हो गया तो पूरे India में लगभग 12-16% tax rate कम हो जायेगा ।
  2. GST bill पास होने से tax की चोरी भी घट जाएगी साथ हीं tax का collection भी बढ़ेगा।
  3. GST लागु होने पर एक ही तरह का tax लगेगा जिससे किसी भी Product का price कम हो जायेगा जिससे आम नागरिक को फायदा मिलेगा ।
  4. इसके लागू हो जाने पर all over india में सभी products का rate लगभग एक जैसी ही होगी ।
  5. GST tax लागू हो जाने पर बड़े बड़े companies कई तरह के झमेला से मुक्त हो जायेंगे। वहीँ business man को भी अपना products एक जगह से दूसरी जगह लेजाने में कोई problem नहीं होगी।

GST Customer Care Number

Agar aapke pass aur koi questions ho GST se related to aap niche diye gaye GST helpline se baat kar sakte hain:

  • 0124-4688-999

3 thoughts on “GST Bill Rules in Hindi – जी.एस.टी

  1. JATINDER KAUSHAL

    HOW CAN IT POSSIBLE SAME PRICE OF PRODUCT ANY WHERE IN INDIA UNDER GST.
    SUPPOSE STATE A MANUFACTURE SOME PRODUCT K @ COST OF INR 10.00/UNIT WITH IN STATE HE SOLD THE PRODUCT @ INR 11-13 (BASIS OF TRANSPORTATION CHARGES REGARDING DISTANCE) IF HE SOLD HIS PRODUCT OUTSIDE THE STATE THAN TRANSPORTATION CHARGES WILL INCREASE AND THIS WILL EFFECT IN PRICE OF PRODUCT BECAUSE THE CONSIGNEE OF OTHER STATE ADD TRANSPORTATION CHARGES IN THERE COST & ADD SOME PROFIT IN IT THAN HE SOLD THE PRODUCT K TO ANOTHER CUSTOMER. OF INR 20.00

    Reply
  2. RAMESH CHANDRA GUPTA

    GST WILL BE LIABLE ON PROFIT ALSO OR NOT

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *