Haija (Cholera) Disease ke Lakshan aur Treatment – हैजा

By | March 1, 2016

Haija जिसे Cholera भी बोला जाता है एक भयंकर disease है, इससे जुडी jankari, इसका symptoms, desi ilaj और treatment – जो की pani se hone वाली bimari है | हैजा का नाम सुनते ही कई बार भयानक चीजों का ख्याल आने लगता है | हैजा बीमारी ज्यदातर गरमी के अंत में या फिर वर्षा के प्रारम्भ के मौसम में होता है | यदि इसका इलाज समय पर नहीं किया गया तो यह रोग मृत्यु का कारण बन सकता है | यह बीमारी बड़ी तेजी से बढता है | इसके जीवाणु हमारे शरीर में पानी या फिर खाने के द्वारा प्रवेश करते हैं | यह बीमारी गंदे स्थानों में रहने से, unhygienic food, गंदे पानी पिने से, अधिक fast food खाने से यह रोग फैलता है |

Haija (Cholera)

हैजा के लक्षण / Symptoms of Cholera

Agar suruwati daur mein he dhyan diya jaye to Haija ke lakshan ko pahchana jaa sakta hai. Niche diye gaye symptoms se aap Haija ki bimai ko pakad sakte hain:

  • उलटी और दस्त का होना हैजा का कारण हो सकता है |
  • अनावस्यक और अधिक प्यास लगना |
  • पेसाब बंद हो जाता है |
  • रोगी देखते ही देखते कमजोर हो जाता है |
  • आंखे भीतर की ओर धस जाती है |
  • हाथ पैरो में अजीब सा दर्द होने लगता है |
  • शरीर ठंड पड़ने लगता है और body में पानी की मात्रा कम हो जाती है |

हैजा के कुछ घरेलु उपचार / Home treatment of Cholera

Ab jab aapko haija ke disease ke bare mein malum chal jaye tab uska upchar karna jaruri hai. To chaliye jante hai desi upay aur gharelu upchar Haija ke liye jo ki Ayurveda mein bhi dekhne ko milta hai:

  • हैजा से ग्रसित मरीज को 1 ग्राम हिंग, 1 ग्राम कपूर, 1 से 2 हरी मिर्च, इन सबको मिला कर पिस कर इसक छोटा छोटा गोली बना कर 2 -2 गोली ठंडे पानी के साथ दिन में तिन बार मरीज को देने से लाभ मिलता है |
  • 2 प्याज लें और उसका 1 cup में जूस निकल kar उसे थोडा गर्म करके 1 – 1 घंटे के break में हल्का नमक मिला कर पिलाना चाहिए |
  • 2 चम्मच सोंठ लें, 50 ग्राम ताजा बेल के गुदे और साथ में जायफल को मिला कर दिन में मरीज को 3 से 4 बार देना चाहिए |
  • दस्त को रोकने के लिए अजवाइन का पत्ता बहुत ही helpful होता है | अजवाइन के 5 से 10 पत्तो को पिस कर इसे ठंडे पानी में अछे से घोल ले | आब इसे 2 -2 घटे के break में इस पानी को 2-2 चम्मच लेने से दस्त में control होता है |
  • 1 cup गुलाब जल में 1 निम्बू का रस और ½ चम्मच sugar को मिला कर लेने से फायदा मिलता है | इससे body में पानी की मात्रा बनी रहती है |
  • हैजा के मरीज को 2 लहसुन को छिल कर इसे पिस कर निम्बू की रस के साथ मरीज को देने से फायदा होता है |
  • नीम के 15 से 20 पत्तो लें और उस को पिस कर 1 कप ठंडे पानी के साथ थोड़ी थोड़ी देर में लेने से दस्त और उलटी आना बंद हो जाता है |
  • मरीज को आधे गिलास में 5 ग्राम फिटकरी को घोल कर मरीज को पिलाना से फायदा मिलता है |
  • हैजा के मिरिज को नारियल का पानी बिच –बिच में लेते रहना चाहिए | इससे body में glucose की मात्रा बनी रहती है |
  • यदि मरीज को हैजा के कारण जोड़ो में लगातर दर्द हो रहा हो तो उसके शरीर पर राई का लेप लगाने से दर्द कम हो जाता है |
  • लाल मिर्च के दानी को निकल कर मिर्च के छिलके को पिस कर इसक powder तयार कर ले, अब रोजना इसे रोगी को शहद के साथ देने से मरीज को फायदा मिलता है |

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *