Heart Attack Symptoms and Precaution – हृदय रोग

By | September 2, 2015

अगर आपके सीने में दर्द (Chest Pain) बार बार हो रहा हो तो यह दिल के दौरे (Heart Attack) के lakshan हो सकते हैं | जानिए इसके Symptoms जो की men और female में आमतौर पर पाया जाता है | दिल (Heart) मानव शरीर का महत्वपूर्ण अंग है जो की हमारे शरीर में खून के परिभ्रमण में अहम् भूमिका निभाता है | हमारे दिल की मांसपेशियों में खून कोरोनरी धमनी (coronary artery) की सहायता से पहुचती है |  किसी कारण वस जब रक्त वाहिका में खून के थक्के जमने लगते है जिससे रक्त परिभ्रमण में अवरोध होता है और दिल की मांसपेशियों तक सही से रक्त नहीं पहुच पाता है जिससे दिल की मांसपेशिया मरने लगते है और यही कारण बनता है दिल के दौरे का |

Heart Attack ke Symptoms - Men aur Women mein aur iska ilaj

दिल के दौरे का लक्षण  / Symptoms of Heart Attack

Agar aap suru mein he dhyan degene to aapko dil ke padne wale daur ka lakshan pahle he malum chal jayega . Niche diye gaye heart attack ke lakshan detail mein diye gaye hai, जिसे देख और समझ कर आपको उसे पहचानना होगा | Niche diye gaye heart attack ke Symptoms dono men aur womens mein paya gaya hai, to aiye dekhte hai kaun kaun se sign of heart attack ho sakte hain :

  • छाती के बाई ओर मध्य भाग में दर्द का महसूस होना और साथ ही भारीपन और जकडन महसूस होना |
  • रोगी को अचानक बिना किसी कारण के शरीर से पसीना आना |
  • रोगी को साँस लेने में कठनाई महसूस होना और साथ ही घुटन महसूस होना |
  • रोगी को बार बार उलटी का आना और साथ में चक्कर का आना |
  • कई बार रोगी के शरीर में अन्य भागो में भी दर्द होता है  |
  • दिल के दौरे वाले मरीज को कभी कभी ह्रदय के धड़कन असामान्य रूप से  तेज धडकती है |
  • रोगी को लगातार कई दिनों तक छाती में दर्द रहना भी दिल के दौरे की सुरुवाती निशानी है |

Agar upar diye gaye lakshan ko dekhe to heart attack ko suruwati daur mein hi pahchana jaa sakta hai aur doctor se mil kar uchit treatment bhi suru kiya jaa sakta hai.

दिल के दौरे से बचाव के उपाय / Precaution from Heart Attack

Agar suruwati stage mein heart disease malum chal jaye to ise khan paan mein thodi badlwa laa kar control mein kiya jaa sakta hai |  निचे दिए गये heart disease ka ilaj विस्तार में दिया हुआ है | ध्यान रहे की ज्यादातर मामलों में हमारे गलत जीवन शैली की वजह से ही दिल के बीमारी होती है, तो आइये देखते है की कैसे home remedy अपना कर heart attack को काफी हद तक रोका जा सकता है :

  • दिल के रोगी को ज्यादा तली भुनी हुई चीजो की सेवन से परहेज करनी चाहिए, जैसे समोसे, पकौड़ी इत्यादि |
  • रोगी को अपने आहार में नमक की मात्रा कम रखनी चाहिए, ऊपर से तो extra नमक बिलकुल भी नहीं लेना चाहिये |
  • रोगी को रोजाना नियमित रूप में योग या व्यायाम करना  चाहिए | हो सके तो सुरुवात में केवल 15 minute से start करें और धीरे धीरे इसे 30 minute तक ले जाइये | दिल को स्वस्थ रखने के लिए सबसे अच्छा exercise है – morning walk.
  • रेशेदार सब्जियों का इस्तेमाल अपने आहार में करना रोगी के लिए लाभदायक होता है |
  • रोगी हो नियमित सुबह खाली पेट में कच्चे लहसुन का सेवन करना चाहिए | आप चाहे तो 3 से 6 lahsun के फांक को खा सकते हैं |
  • गाजर का जूस, सब्जी व हरा सालाद का सेवन से भी दिल के मरीज के लिए फायदेमंद होती है | जैसे पत्ता गोभी, भूल गोभी (देसी).
  • दूध में 1 चम्च हल्दी रोज़ाना दाल का रात को सोने से पहले लिया करें |
  • प्याज हमारे शरीर में रक्त प्रवाह को नियंत्रित रखता है इसका इस्तेमाल दिल के रोगी के लिए लाभदायक होता है | अतः daily कम से कम 1/2 कच्चा प्याज खाने के साथ खाना चाहिए |
  • रोगी को रोजाना सुबह खाली पेट में २-३ अखरोट का सेवन करनी चाहिए |

Hope above sign of heart attack given basic idea behind the disease and the treatment. Follow above mentioned daily healthy life style.

Related posts:

One thought on “Heart Attack Symptoms and Precaution – हृदय रोग

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *