चाँद के बारे में कुछ रोचक तथ्य – Interesting Facts about Moon

By | September 14, 2017

दोस्तों जानिए facts about Moon in Hindi और उससे जुडी कुछ रोचक जानकारी जैसे चंद्रमा गोल नहीं बल्कि अंडेकार आकर का है, इसकी history और atmosphere से जुडी तथ्य | क्या आपको मालूम है की चंद्रमा को Romans में Luna, Greeks में Selene और Artemis कहा जाता है?  इसके साथ ही कई पौराणिक कथाओं में चंद्रमा को कई अन्य नाम से वर्णन किया गया है | चाँद पृथ्वी का एकमात्र प्राकृतिक उपग्रह है | यह हमारे solar system का पांचवा सबसे बड़ा प्राकृतिक उपग्रह है और planetary satellites में सबसे बड़ा है | पृथ्वी से चंद्रमा की औसत दूरी 384,400 किमी है |  इसके आकार और संरचना के कारण, चंद्रमा को कभी-कभी बुध, शुक्र, पृथ्वी और मंगल के साथ एक स्थलीय “ग्रह” के रूप में वर्गीकृत किया जाता है।

Facts about Moon in Hindi

चंद्रमा की उत्पत्ति / Evolution of Moon

चंद्रमा की उतपत्ति को ले कर लोगो का अलग अलग मानना है, लेकिन शोधकर्ताओ का यह मानना है की अरबो साल पहले थीया नामक एक बड़ा ग्रह पृथ्वी से टकराई थी और इस टक्कर के फलस्वरूप चन्द्र्मा की उत्पत्ति हुई | माना जाता है की टक्कर के बाद थीया ग्रह और पृथ्वी के कुछ टुकडे एक दुसरे में घुल गए और इसी तरह से चाँद की उत्पत्ति हुई |

History

Moon को Prehistoric के समय से ही जाना जाता है | यह सूर्य के बाद आकाश में दूसरा सबसे बड़ा चमकने वाला पिण्ड है । चंद्रमा में  गुरुत्वाकर्षण पृथ्वी के मुकाबले 1/6 है | इसे पृथ्वी  कि परिक्रमा करने में 27.3 दिन लगते है और अपने अक्ष के चारो ओर घुमने में भी यह 27.3 दिन लेता है, यही कारण है की चन्दमा का एक हिस्स पृथ्वी की ओर होता है | सूर्य के बाद यह पृथ्वी से स्पष्ट एवं नियमित रूप से दिखाई देने वाला दूसरा चमकीला आकाशीय पिण्ड है | वास्तव में इस पिण्ड का सतह अंधेरा है, इस उपग्रह का अपना कोई प्रकाश नहीं है फिर भी रात के अँधेरे में यह बहुत उज्ज्वल दिखाई देता है, ऐसा इसलिए क्योकि यह सूर्य के प्रकाश की मदद से प्रकाशमय दिखाई देता है | पृथ्वी और चंद्रमा के बीच की गुरुत्वाकर्षण बल कुछ रोचक प्रभाव पैदा करते हैं, जैसे की ज्वार  चंद्रमा में कोई वातावरण नहीं होता है।


1959 में पहली बार सोवियत अंतरिक्ष यान लूना 2 ने चंद्रमा का दौरा किया था | यह मनुष्यों द्वारा दौरा किया गया एकमात्र अलौकिक शरीर है, चाँद पर पहला landing July 20, 1969 में हुआ था |

Atmosphere

Moon Surface

चंद्रमा में कोई वातावरण नहीं है लेकिन Clementine के सबूत ने सुझाव दिया कि चन्द्रमा के दक्षिणी ध्रुव के निकट कुछ गहरे गड्ढो में पानी का बर्फ हो सकता है | चंद्रमा में कोई वैश्विक चुंबकीय क्षेत्र नहीं है लेकिन इसकी सतह की चट्टानों में कुछ चुंबकत्व दिखते हैं जो चंद्रमा के इतिहास में एक वैश्विक चुंबकीय क्षेत्र हो सकता है | बिना वातावरण और कोई चुंबकीय क्षेत्र न कोने के कारण, चंद्रमा की सतह को सीधे सौर हवा से उजागर किया जाता है

Facts About Moon

  • Moon पृथ्वी से देखने में गोलाकार दिखाई देता है पर वास्तव में चाँद अंडेकार का है |
  • पृथ्वी से चाँद पर अब तक सिर्फ 12 लोग ही गए है, और पिछले 41 वर्षो में चाँद पर अब तक कोई इंसान नहीं गया है |
  • चाँद पर पैर रखने वाला दुनिया का पहला इंसान Neil Armstrong था जिन्होंने 20 जुलाई , 1969 में चाँद पर अपना कदम रखा था |
  • यदि चाँद गायब हो जाए तो पृथ्वी पर दिन सिर्फ 6 घंटे का हो जायेगा |
  • आधा चाँद पूरे चन्द्रमा से लगभग 9 गुना कम चमकदार होता है |
  • चाँद का diameter धरती के diameter का ¼ ही है, इसका मतलब की धरती में लगभग 49 चाँद समा सकते हैं |
  • 1950 के दशक में America ने atom bomb की मदद से चंद्रमा को उड़ाने का plan बनाया था |
  • मनुष्य ने चंद्रमा पर 96 बैग छोड़े है जिसमे उल्टी, मल एवं मूत्र हैं |
  • चाँद का वजन 81 अरब टन है |
  • चंद्रमा में 14 दिनों का दिन और 14 दिनों का रात होता है |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *