Keoladeo National Park in Hindi – Timing, Entrance

By | July 1, 2017

Keoladeo National Park एक famous Bird Sanctuary है, जो की Bharatpur, Rajasthan  में स्थित है | जानिए things to see, best time to visit. से जुडी जानकारी hindi में | यह park पक्षियों के 230 से अधिक प्रजातियों का निवास स्थान है | यह park एक बहुत ही famous और बहुत ही बड़ा tourist sport बन गया है, जहाँ ornithologist सर्दियों के मौसम में आते हैं | Keoladeo National Park को 1971 में protected sanctuary के रूप घोषित किया गया, इसके अलावा यह एक World Heritage Site भी है |

Keoladeo National Park in bharatpur, Rajasthan

यह भारत के मानव निर्मित और मानव-प्रबंधित wetland राष्ट्रीय उद्यानों में से एक है  | यह उद्यान Bharatpur को बाढ़ से बचाता है साथ ही यह मवेशियों को चारा भी प्रदान करता है | Keoladeo National Park 29 sq km में फैला हुआ है | यह उद्यान 366 प्रजातियों के पक्षी, 379 फूलों के प्रजातियां , 7 प्रजातियों के कछुए, 13 प्रजातियों के सांप 50 प्रजातियों के मच्छलियों का घर है | हर साल यहाँ migratory waterfowl प्रजनन के लिए आते हैं | इस Sanctuary को विश्व का सबसे बड़ा bird sanctuary के रूप में जाना जाता है | World Wildlife Fund Peter Scott के अनुसार, केवलादेव राष्ट्रीय उद्यान दुनिया का सबसे अच्छे पक्षी क्षेत्रों में से एक है ।

How to Visit

जयपुर और दिल्ली दो निकटतम हवाई अड्डे हैं जो देश के अन्य हिस्सों से अच्छी तरह से जुड़े हैं। भरतपुर जंक्शन, केवलादेओ नेशनल पार्क से लगभग 5 किमी की दूर पर है, जो की सबसे नज़दीकी रेलवे स्टेशन है । भरतपुर सड़क से विभिन्न शहरों के साथ बहुत अच्छी तरह से जुड़ा हुआ है। जयपुर, मथुरा, दिल्ली, अलवर और अन्य आसपास के क्षेत्रों से नियमित बसें उपलब्ध हैं | यदि आप Private taxis  लेना चाहते हैं तो आप किराए पर कारें आगरा, जयपुर और दिल्ली से प्राप्त कर सकते हैं |

Wild Animal 

यहाँ पर  मुख्य रूप से विभिन्न प्रजातियों के पक्षियों के लिए जाना जाता है | यहाँ सर्दियों के मौसम में दुर्लभ प्रजातियों के पक्षियों जैसे  की Siberian bird, migratory birds, waterfowl , Muscovy duck का बसेरा रहता है, वे यहाँ प्रजनन के लिए आते हैं |

Things to see

Sambhars at Keoladeo National ParkFlora : बहरातपुर में जंगल मुख्यतः वनस्पति के साथ अर्ध शुष्क सूक्ष्म जीव है और यही कारण है कि अभ्यारण को ‘घाना’ झुंड कहा जाता है । मुख्य रूप से यह एक dry grassland वन है, जो उस क्षेत्र में सूखा चरागाह के साथ मिलाया जाता है जहां वन अवक्रमित (degraded) होते हैं | इसके साथ ही वन को मध्यम आकार के पेड़ों और झाड़ियों से भरा हुआ है । जंगल के उत्तर-पूर्वी क्षेत्र में कलम या कदम, जामुन और बबुल जैसे वृक्षों से घिरा हुवा है |

Fauna : भरतपुर में, अधिकतर macro invertebrates जैसे worms, insects और mollusks बहुतायत में पाए जा सकते हैं जो अधिकतर समुद्री जल में ही मिल सकते हैं | ये कीड़े पक्षियों और समुद्री दुनिया की मछलियों का पसंदीदा भोजन हैं और ecosystem को नियंत्रण में रखने के लिए अहम भूमिका निभाती है | यहाँ भूमि कीड़े बहुतायत में पाए जाते हैं जो की भूमि पक्षियों के प्रजनन पर सकारात्मक प्रभाव पड़ता है। भरतपुर अभ्यारण में लगभग 370 पक्षी प्रजातियां हैं |

Waterfall : गंगा के मैदान में स्थित यह पार्क herons, storks और cormorants का बेजोड़ प्रजनन स्थल बन जाता है | Gadwall, shoveler, cotton teal, Indian shag, little cormorant ruff, knob-billed duck, great cormorant जैसे जलप्रवाह इस पार्क में पाए जाने वाले सबसे आम जलप्रवाह हैं | अपनी शानदार प्रणय नृत्य के लिए जाना जाने वाला sarus crane भी पाया जाता है |

Mammals : इस पार्क में 27 तरह के स्तनधारी जीव पाए जाते हैं | यहाँ नीलगाय, जंगली मवेशी, और चीटियल हिरण, सांभर जैसे कुछ आम स्तनधारी जीव देखने को मिलते हैं | यहाँ दो प्रकार के mongoose को देखने को मिलते है एक छोटे भारतीय मोंगोज़ और दूसरा आम भारतीय भूरे रंग का mongoose भी कभी-कभी देखने को मिल जाता हैं | बिल्ली प्रजातियों में जंगली बिल्ली और मछली पकड़ने वाली बिल्ली भी शामिल है इसके अलावा कई तरह के स्तनधारी जानवर यहाँ देखने को मिलते हैं |

Best Time to Visit  

हालांकि यह अभ्यारण्य पूरे साल खुला रहता है लेकिन कुछ कुछ महीनो के बिच में आने से यह पार्क और भी लुभावना लगता है |

  • Aug-Nov के मंथन में आने से resident breeding birds को देखने को मिलता है जो बहुत ही आकर्षक होते हैं |
  • Oct-Feb में migrant birds को देखने को मिलता है जो दूर देशों से यहाँ आते हैं |

आशा करता हूँ की आपको दी गयी जानकारी अच्छी लगी होगी | अगर आप इस अभ्यारण्य में जा चुके हैं तो आप अपना review जरुर share करे ताकि दूसरों की भी अधिक से अधिक जानकारी मिले |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *