Leg Pain Symptoms and Treatment – पैर के दर्द का इलाज

By | October 20, 2016

आज कल के life में muscle pain होना एक आम बात हो गयी है और अगर आपके भी पैर में दर्द हो रहा हो तो आप बतलाये गए home natural treatment से इसका इलाज किया जा सकता है | City में रहने वालों लोगों को पैरो में दर्द की शिकायत एक आम समस्या बन गयी  है | यह समस्या किसी खास उम्र वर्ग के लोगो में ही नहीं बल्कि अन्य सभी उम्र वर्ग के लोगो में भी पाया जाता है | परन्तु मुख्य तौर पर Leg pain की समस्या अधिक उम्र के लोगो (बूढ़े लोगो) में ज्यादा देखने को मिलता है, क्यूंकि उम्र के साथ-साथ मनुष्य की हड्डी कमजोर होती जाती है और यह दर्द का कारण बन जाता है | बच्चो या अन्य उम्र वर्ग के लोग को चोट के कारण पैरो में दर्द रहता है | लोग इस दर्द से बचने के लिए कई प्रकार के treatment करते है और दर्द को ख़त्म करते है |

Leg Pain Symptoms and Treatment in Hindi

In today life, the foot problems is common however using these tips can get relief. Usually the leg pain starts when we don’t walk and exercise much and work by sitting at one place, this is usually common in office work culture. Due to this leg cramps and sore calf is very common.  So what is the solution and how to rid of it? Just use these ayurvedic home treatment to say good byee to leg pain. Make sure to follow these tips on daily life routine.

पैर दर्द के लक्षण / Symptoms of Leg Pain

सबसे पहले यह जानना जरुरी है की आखिर पैर के दर्द के लक्षण को कैसे पहचाने ? ध्यान रहे की पैरो का दर्द अन्य body parts में होने वाले pain से भी ज्यादा दर्दनाक को सकता है | परन्तु इसका दर्द इसके कारणों पर आश्रित होता है | पैर में दर्द कई कारणों से होता है इनमे से कुछ symptoms निम्न है:

  • मुख्य तौर पर पैर का दर्द इसके मांसपेशी, हड्डी और जोड़ो पर होने वाले दुशप्रभाव के कारण होता है |
  • बच्चो के पैरो में दर्द खेलते समय लगे चोट के कारण होता है |
  • पैरो में हुई असमानता के कारण भी पैरो में दर्द होता है |
  • लम्बे समय तक एक ही place पर बैठ कर काम करना जैसे office work.
  • मांसपेशियों में आए तनाव के कारण पैरो में दर्द रहता है |
  • शरीर के health में अनियंत्रित वृधि (weight gain) के कारण पैर में दर्द होता है |
  • उचित माप के जूते का इस्तेमाल नहीं होना |
  • लम्बे समय तक चलना या खड़ा रहना |

पैर दर्द का इलाज  / Treatment of Leg Pain 

पैरो का दर्द कई प्रकार के होते है इनमे से एक होता है upper leg pain | इस समस्या में मनुष्य के पैर के उपरी हिस्सा में दर्द होता है | यह दर्द muscles में swelling के कारण ज्यादातर पाया जाता है | इस समस्या से जल्द निजात के लिए हमे निम्न उपायों को अपनाना चाहिए:

  • सबसे पहले जब भी आपको leg pain के कोई symptoms दिखे तो उस समय आराम करे, और ज्यादा physical work करने की कोशिश ना करे |
  • आप नजदीकी physiotherapy को बुला कर exercise और pain relief machine के द्वारा काफी हद तक दर्द से छुटकारा पा सकते है, पर ध्यान रहे की इसे ठीक होने में कम से कम 3 से 5 दिन तक का समय लग सकता है |
  • किसी कारण अगर आपके पैर के मांसपेशी में तनाव आ गया हो और आपके पैर में दर्द हो रहा हो तो आप Cho-Pat® IT Band Strap का इस्तेमाल प्रभावित हिस्से पर इस्तेमाल कर सकते है | यह एक प्रकार का Band होता है जिसे दर्द वाले हिस्से में बाँधा जाता है | जिससे यह band मांसपेशियों को सहारा दे कर दर्द को कम कर देता है |
  • अगर आप tight hamstrings से पीड़ित है तो तो आप अपने जांघो पर Cho-Pat® Thigh Compression Sleeve का इस्तेमाल कर सकते है | यह आपके जांघ के मांसपेशियों को सहारा प्रदान करता है और साथ ही पैर में मौजूद दर्द से राहत देता है |

Ayurvedic Treatment for Leg Pain

पैर के दर्द का इलाज कई प्रकार से किया जाता है | जिनमे से एक है Ayurvedic इलाज | इसके अंतर्गत हर्बल products का इस्तेमाल दर्द निवारण के लिए किया जाता है | Ayurvedic treatment में हर्बल oil का इस्तेमाल काफी किया जाता है | यह तेल हमारे मांसपेशियों को आराम पहुचता है और साथ ही दर्द को दूर करता है | इसके अंतर्गत निम्न दवा का इस्तेमाल किया जाता है |

  • Sinhanaada guggulu
  • Lakshmivilaas rasa
  • Prataapa lankeswara rasa

अधिक आयुर्वेदिक जानकारी के लिए आप अपने नजदीकी Ayurved center पर संपर्क करे |

Get Rid of Leg Pain using Home Treatment

कई लोग आपके पैरो या मांसपेशियों के दर्द का इलाज अपने घर पर भी करते है | इसे आप भी आजमा सकते है परन्तु दर्द अधिक होने पर डॉक्टर का परामर्श अवश्य ले | दर्द का घरेलु इलाज इस प्रकार है |

Cold Compresses – अगर आप किसी कार्य को कर रहे है और कार्य करते समय आपके पैर में दर्द हो गया हो तो आप दर्द वाले हिस्से में Cold Compresses का इस्तेमाल कर सकते है | इसके लिए आप एक पतला तौलिया ले और इसमें 7-8 बर्फ के टुकड़े को लपेट ले और दर्द वाले हिस्से में इससे सके | इस प्रक्रिया को दिन में 4-5 बार करे, ऐसा करने से दर्द से आराम मिलेगा | परन्तु ध्यान रहे सीधा बर्फ दर्द वाले हिस्से में इस्तेमाल नहीं करे वरना आपके त्वचा पर शीतदंश हो सकता है |

Massage – Massage पैर के मांसपेशियों को दर्द से जल्द राहत दिलाता है | massage के लिए आप सरसों का तेल ले और इसे हल्का गर्म कर ले और इसे दर्द वाले हिस्से पर लगाकर मालिश करे | अगर आप इसे सोने के समय 3 से 4 दिन तक मालिश करेंगे इससे दर्द से रहत मिलेगा |

Epsom Salt Soak – किसी बड़े बर्तन में गर्म पानी ले और इसमें ½ cup नमक मिला दे और इस पानी में पैर डाल कर 15 मिनट के लिए छोड़ दे | इससे पैर के दर्द में आराम मिलेगा | इस प्रक्रिया को सप्ताह में 3-4 बार करे |

अदरक – अदरक में anti-inflammatory गुण होने के कारण यह हमारे मांसपेशियों के दर्द को ठीक करता है | और साथ ही अदरक के  सेवन से हमारे शरीर में blood circulation सही बना रहता है जो मांसपेशियों को स्वस्थ रखता है |

निम्बू – निम्बू के जूस में बराबर मात्र में रेडी के तेल को मिला ले और इससे दिन में 2-3 बार दर्द वाले हिस्से में मालिश करे इससे दर्द जल्द ठीक होगा |

Homeopathy treatment for Leg Pain

Leg Pain में होमियोपैथी इलाज काफी कारगर होता है | होमियोपैथी किसी भी समस्या का समाधान नहीं करता बल्कि यह उत्पन्न होने वाले समस्या के कारणों को ख़तम करता है और शरीर को स्वस्थ बनता है | अगर होमियोपैथी इलाज से पैर दर्द को ठीक करना चाहते है तो आप Causticum का सेवन करे |

Conclusion

Jab bhi aapko leg pain ka koi symptoms dikhe to fauran uske ilaj suru kar dijiye, aur der naa kare. Jyadatar mamlon mein dekha gaya hai ke pair ka dard chot lagne ya lifestyle change hone ke karan hi hota hai. Jab bhi aapko foot pain ki sikayat ho to tel se halke hathon se massage kare aur body ko pura aaram de taki recover hone mein help mile. Upar batlayegaye tarike se pair dard ko aaram nahi milta hai to kisi acche physiotherapy se mil kar uchit ilaj karwae. Jayda problem hone se aap kisi acche doctor se paramarsh kare.

Related posts:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *