Lima Beans Meaning and Benefits in Hindi

By | August 25, 2016

Kya aap Lima Beans meaning in Hindi ke bare mein jante hain? Janiye iska matlab, iske health benefits aur khane ke fayde ke bare mein wistar se. असल में Lima beans एक तरह की सब्जी है जिसे पुरे India और कई अन्य countries में खाने के लिए उपयोग में लाया जाता है |

Lima Beans meaning in Hindi and Benefits

Lima Beans = सेम / सीम

Lima Beans एक प्रकार का लतादार फली होता है | इसके फली को लोगो द्वारा सब्जी के रूप में इस्तेमाल किया जाता है | Lima Beans को हिंदी में सेम कहा जाता है | सेम मुख्यतः पुरे भारत देश में पाई जाती है | इसकी खेती भारत में बड़े जोरो से किया जाता है | विश्व स्तर पर भारत सेम का सर्वाधिक उत्पादन करने वाले देशो में शीर्ष है | सेम के पौधे नहीं होते, सेम के बेल होते है जिसके कारण इसकी खेती अन्य उपज के साथ लोग करना पसंद करते है | कही कही तो लोग इसकी खेती मचान बना कर करते है |

सेम का इस्तेमाल मुख्य रूप से सब्जी के रूप में किया जाता है | परन्तु विभिन्न स्थानों पर लोग इसका इस्तेमाल अपने ढंग से करते है, कही लोग इसको साग और सब्जी के रूप में इस्तेमाल करते है तो कही लोग इसके बिज को इस्तेमाल करते है | इसके बिज को दाल के रूप में भी इस्तेमाल किया जाता है | सेम खाने में जितना स्वादिष्ट होता है यह उतना ही हमारे शरिर के लिए लाभदायक होता है | सेम में निम्न प्रकार के पोष्टिक तत्व पाए जाते है, जो इस प्रकार है:-

  • Energy
  • Carbohydrates
  • Sugars
  • Dietary fiber
  • Fat
  • Protein
  • Vitamins
  • Minerals
  • Calcium
  • Iron
  • Magnesium
  • Manganese
  • Phosphorus
  • Potassium
  • Sodium
  • Zinc
  • Fluoride

सेम के फायदे / Benifits of Lima Beans

Aaj ki is bhag daur ki jindgi mein hum log Lima Beans ke health benefits ke bare mein bhul he gaye hai. Isliye aaj main aapko sem ke fayde ke bare mein batla raha hoon.  सेम की सब्जी का स्वाद सभी को पता होगा पर क्या किसी यो यह पता है की सेम हमारे सेहत के लिए कितना फायदेमंद है | अगर नहीं पता है तो घबराइए मत आज हम आपको बतलाएँगे सेम के फायदे |

चेहरे की समस्या – सेम की सब्जी का नियमित सेवन करने से हमारे त्वचा की चमक बरक़रार रहता है और साथ ही हमारे त्वचा में होने वाले बीमारियों को दूर करता है |

कमजोरी एवं दुबलापन  – सेम के नियमित सेवन से मनुष्य अपने शरिर के कमजोरी और दुबलापन को दूर कर शरिर को स्वस्थ बना सकते है |

कब्ज – अगर आप कब्ज से काफी देनो से प्रभावित है और कई प्रकार के इलाज करने के बाद भी कब्ज ठीक नहीं हो रहा है तो आप ऐसे में सेम के पत्ते का साग खाए, ये आपके कब्ज से जल्द राहत दिलाएगा |

बिच्छू के काटने पर – अगर आपको किसी बिच्छु ने काट लिया है, तो आप बिच्छु द्वारा काटे गये स्थान पर सेम के पत्ते का रस लगाए, इससे शरिर में जहर नहीं फैलेगा और आपको थोडा आराम भी मिलेगा |

बुखार – अगर आपके घर में कोई छोटा बच्चा है और उसे बुखार आ गया है, तो आप ऐसे में सेम के पत्ते को निचोड़ कर रस निकाल ले, और रस को बच्चे के तलवे में लगाए इससे बुखार ख़त्म हो जाएगा |

खून – सेम हमारे शरिर में blood purifier का काम करता है, सेम के नियमित सेवन से यह खून को साफ़ करता है |

मधुमेह – सेम में मौजूद fiber शरिर के cholesterol को कम करता है, और साथ ही यह हमारे blood sugar को बढ़ने से रोकता है और हमे मधुमेह जैसे बिमारियों से बचाता है |

मस्सा – अगर आपके चेहरे पर मस्सा आ गया है जिसके वजह से आपको काफी चिढचिढ़ापन महसूस हो रहा है तो आप सेम के पत्ते को रोजाना कुछ दिन तक अपने मस्से पर रगड़े, इससे मस्सा जल्द ख़त्म हो जाएगा |

Iron का भंडार – सेम प्राकृतिक iron का सबसे महत्वपूर्ण साधन है, इसका इस्तेमाल हर गर्भवती महिलाओ द्वारा करना काफी फायदेमंद होता है

Related posts:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *