Loam Soil Meaning in Hindi – दोमट मिट्टी

By | November 21, 2017

क्या आपको Loam soil के बारे में Hindi में जानकारी है? जानिए इसका meaning, how to identify – कैसे पहचाने, और benefits के बारे में विस्तार से | भारत कृषि प्रधान देश के रूप में जाना जाता है | यहाँ पर स्थित आधे से ज्यादा आबादी कृषि पर निर्भर रहती है | लोगो को कृषि के लिए उर्वरक एवं पोषण यूक्त मिट्टी की आवश्यकता होती है | यहाँ कई प्रकार के मिट्टी मौजूद है जिस पर कृषक खेती किया करते है | यहाँ पाए जाने वाले मिट्टियों की श्रेणी में Loam soil भी मौजूद है | क्या आप जानते है Loam soil meaning in hindi क्या होता है ? अगर नहीं, तो हमारे आज के इस रचना को पढ़े इसमे इस soil के अर्थ पहचान एवं इसके लाभ नीचे सूचीबद्ध है |

Loan Soil in Hindi

Loam Soil – दोमट मिट्टी

Loam soil जिसे हिंदी में दोमट मिट्टी के नाम से जाना जाता है | दोमट धरती पर पाए जाने वाले मिट्टी के विभिन्न किस्मो में एक है जो फसल के लिए अत्यंत उर्वरक एवं उपजाऊ होती है | यह सिल्ट, चिकनी मिट्टी एवं बालू का मिश्रण होता है जिसमे सिल्ट 40%, चिकनी मिट्टी 20% एवं बालू 40% की मात्र में उपस्थिति होती है | दोमट मिट्टी में रेत के कणों का प्रभुत्व है, लेकिन कुछ संरचना और प्रजनन क्षमता प्रदान करने के लिए पर्याप्त मिट्टी और तलछट होता है | मिट्टी में मौजूद रेत, सिल्ट एवं चिकनी मिट्टी की मात्रा के आधार पर इसे चार भागो में विभाजित किया गया है |

  • Silty Loam Soil (बलुई दोमट)
  • Clay Loam Soil (सिल्टी दोमट)
  • Sandy Clay Loam Soil (चिकनी दोमट)
  • Silty Clay Loam Soil (बलुई चिकनी दोमट)

मिट्टी में उपस्थित रेत के कारण यह छिद्रिल होता है जिस कारण इसमे हवा एवं पानी का प्रवेश आसानी पूर्वक होता है जो मिट्टी की उर्वरा शक्ति को बढाती है | इस मिट्टी के इस गुण के कारण यह स्वाम के कुल भार का 50% पानी को सोखने की क्षमता रखती है | इन सभी खूबियों के कारण अन्य मिट्टी के अपेक्षा इस मिट्टी में पोषक पदार्थों की मात्रा भी अधिक होती है | पाए जाने वाले विभिन्न दोमट मिट्टी में भिन्न भिन्न लक्षण पाए जाते है जिनमें कुछ तरल पदार्थ को बड़े ही आसानी पूर्वक एवं आधीक मात्रा में सोखता है जो दूसरों की तुलना में अधिक कुशलता से होता हैं | मिट्टी की बनावट, खासकर पोषक तत्वों और पानी को बनाए रखने की क्षमता महत्वपूर्ण है | इन सभी गुणों में दोमट सबसे आगे है इस कारण यह कई प्रकार के पौधे को बढ़ने के लिए उपयुक्त है |


फिर चाहे आप टमाटर की खेती करने की सोच रहे है या फिर पपीते की खेती, इन दोनों सूरत में दोमट मिट्टी काफी अच्छी मानी जाती है |

How to Identify Loam Soil

Example of Loam soil

ये तो थी मिट्टी से सम्बंधित आवश्यक बाते जो हमे इस मिट्टी से परिचित कराती है | पर क्या अगर आपको मिट्टी दे दी जाए या खेत में खड़ा होकर आपको मिट्टी की पहचान करने के लिए बोला जाए तो आप कर सकते है ? नहीं ना, जी हाँ यह बिलकुल सत्य है की मनुष्य सभी चीजो के बारे में जनता है परन्तु उन चीजो को पहचानना थोडा मुश्किल सा हो जाता है | तो आइए आज आपको इसे पहचानने के तरीको से आपको अवगत कराते है |

  • अन्य मिट्टी के अपेक्षा इस मिट्टी में पानी के सोखने की क्षमता अधिक होती है जो अन्य मिट्टियों के तुलना में अधिक सोखता है |
  • अगर आप इस मिट्टी को हाथ में ले कर दोनों हाँथ से रगड़ते है तो इसमे आप रेत के कण एवं कुछ चिकना प्रदार्थ मिलेगा |

Benefits 

हमारे आस पास मौजूद प्रदार्थ हमे कई फायदे पहुचाते है | ठीक उसी प्रकार दोमट मिट्टी की उपस्थिति हमे कई फायदे पहुचाते है |

  • इस मिट्टी में उर्वरक की मात्रा अधिक होती है जिसमे फसल की अच्छी उपज होती है |
  • इस मिट्टी का इस्तेमाल घर के निर्माण में किया जाता है, यह घर के अन्दर मौजूद हवा में नमीं को बनाए रखता है | जिस कारण मिट्टी के घर में तापमान सामान्य बना रहता है |
  • मिट्टी में मोजूद उर्वरक के कारण इसमे पौधो का विकास अच्छा होता है जिस कारण इसे बगीचा में अधिक इस्तेमाल किया जाता है |
  • मिट्टी में नमी धारण करने की क्षमता अधिक होती है जिस कारण यह अपने आस पास के तापमान को नियंत्रित रखने में मदद करता है |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *