Mango Farming in India – आम की खेती कैसे करे

By | July 5, 2016

अगर आपके पास बड़ी जमीन हो तो आम की खेती का business कम मेहनत में बड़ा मुनाफा दे सकता है | आज के दौर में Mango tree farming एक profitable व्यापार बन चूका है | आइये जानते है इसकी जानकारी विस्तार में |  Mango जिसे हिंदी में आम कहा जाता है, ये एक प्रकार का फल होता है | इसे फलो का राजा भी कहा जाता है | आम बहुत ही स्वादिष्ट और रसीला फल है, इसे Anacardiaceae group का फल कहा जाता है | हजारो वर्ष पूर्व आम का विकास दक्षिण एशिया में किया गया था, धीरे धीरे ये पुरे एशिया और बाद में पुरे world में फ़ैल गया |

The Mango Tree Farming - Aam ki kheti kaise kare

भारत में आम सबसे अच्छे फलों में से एक है | आज इसकी मांग पुरे भारत में काफी अच्छी मात्रा में है और गर्मियों के समय इसकी demand काफी ज्यादा हो जाती है | आज पुरे भारत में विभिन्न प्रकार के आम की प्रजाती पाए जाते है |  हमारे India में विभिन्न जलवायु में विभिन्न प्रकार के आम की किस्मे पाई जाती है |

Types of Mango

भारत में कई प्रकार के आम पाए जाते है, जो विभिन्न जलवायु पर आस्रित है |

Types of Mango in India

Common Mango Breeds list:

  • Banganapalli
  • Chausa
  • Dussehri (Malihabadi)
  • Kesar
  • Langra
  • Totapuri
  • Himsagar
  • Kishan Bhog
  • Raspuri
  • Neelam
  • Mulgoba
  • Badami
  • Alphonsos

Benefits of Mango

आम एक ऐसा फल है जो न ही सिर्फ स्वादिष्ट है बल्कि इनमे कई प्रकार के ऐसे पोष्टिक तत्व पाए जाते है जो हमे कई बीमारियों से दूर रखता है |

  • आम का नियमित इस्तेमाल से BP नियंत्रिक रहता है |
  • आम का इस्तेमाल हमारे शरिर में बढ़ रहे Cholesterol को कम करता है, और हमे cancer जैसे बीमारियों से दूर रखता है |
  • आप अगर अपने वजन को ले कर परेशान है और वजन बढ नहीं रहा है, तो आप आम का नियमित सेवन करे, इससे आपका वजन बढेगा |
  • आम में मौजूद एंजाइम्स हमारे भोजन को आसानी से पचाता है, और साथ ही गैस की समस्या से दूर रखता है |
  • आम आयरन का सबसे अच्छा श्रोत है, इसके इस्तेमाल से हमारे शरिर में खून की कमी को दूर करता है |
  • आम हमारे त्वचा जवान रखता है, और हमारे बुढ़ापे को हम से दूर रखता है |

इन सभी के अलावा आम में और भी कई तत्व पाए जाते है जो इस प्रकार के है |

Nutrients Quantity per 100 gram
Energy 250 kJ
Carbohydrates 15 g
Sugars 13.7
Dietary fiber 1.6 g
Fat 0.38 g
Protein 0.82 g
Vitamin A equiv. 54 μg
beta-carotene 640 μg
lutein zeaxanthin 23 μg
Thiamine (B1) 0.028 mg
Riboflavin (B2) 0.038 mg
Niacin (B3) 0.669 mg
Pantothenic acid (B5) 0.197 mg
Vitamin B6 0.119 mg
Folate (B9) 43 μg
Choline 7.6 mg
Vitamin C 36.4 mg
Vitamin E 0.9 mg
Vitamin K 4.2 μg
Calcium 11 mg
Iron 0.16 mg
Magnesium 10 mg
Manganese 0.063 mg
Phosphorus 14 mg
Potassium 168 mg
Sodium 1 mg
Zinc 0.09 mg

Planting of Mango Farming

आम एक ऐसा फल है जिसका खेती उष्णकटिबंधीय और उप-उष्णकटिबंधीय दोनों क्षेत्रो में की जाती है | मुख्यतः आम की खेती (planting) वर्षा आधारित क्षेत्र मे जुलाई-अगस्त के महीनो में किया जाता है, और सिंचित क्षेत्रो में फरवरी-मार्च के महीनो में किया जाता है | ऐसा क्षेत्र जहा वर्षा बहुत ज्यादा होती है उन क्षेत्रो में आम का planting वर्षा ऋतू के अंत में करते है |

Costing

अगर आप आम की खेती करना चाहते है तो ये भारत में अन्य व्यवसाय से अच्छा व्यवसाय है | इस व्यवसाय में ज्यादा पूंजी की लागत भी नहीं है और ना ही ज्यादा मेहनत है | अगर आपके पास समय है तो इसका देख रेख खुद भी कर सकते है | इस व्यवसाय में कुल लागत एक एकड़ (43,500 Sqft) में लगभग Rs 1,50,000 तक हो सकती है |

Material Cost
Cost per plant Rs 500 to 2,000
Manures & Fertilizer Rs 5,000
Insecticides & Pesticides Rs 2,000

Spacing in Mango Farming

पेड़ लगाते वक्त हमे ये ध्यान रखना चाहिए की दो पेड़ो के बिच की दुरी कम से कम 10 meter की होनी चाहिए और शुष्क क्षेत्रो में इसकी दुरी 12 meter होनी चाहिए | ऊपर बतलाए गये पेड़ो की दुरी के हिसाब से आप एक एक्कड़ में लगभग 60-65 पेड़ो को लगा सकते है |

कीटों और बीमारी से बचाव

मुख्यतः यह पाया गया है की आम के पेड़, खास पर उन पर जिनपर फल लगना शुरु हो चूका हो, निम्नलिखित insects और disease होने के chances ज्यादा रहते हैं :

  • Mealy bug
    Mealy Bug is common insect found on Mango trees
    यह बहुत छोटे size का होता है, इसकी body सफ़ेद रुई जैसी त्वचा होती है, अगर इसे बढ़ने से नहीं रोका जाये तो यह पुरे आम के बगीचे में फैल सकता है |
  • Grass Hopper
    Hopper Insects
    इसे Hindi में फतिंगा भी कहते है |
  • Inflorescence midge – यह देखने में छोटे तितली जैसे होता है, और इसकी body color white होती है और जगह-जगह काले रंग का धब्बा होता है |
  • Fruit fly
    Fruit fly can destory mango fruits
    यह देखने में पूरी मक्खी की तरह होता है पर इसका रंग थोडा चटकीला और लाल रंग का होता है |आम के पेड़ो में इन किट पतंगों से बचाव के लिए निचे दिए गए दवाई का उपयोग कर के इनसे बचा जा सकता है और अच्छी पैदावार भी होती है :

दिए गए मिश्रणों को मिला कर इसे हल्का हल्का आम के पेड़ पर छिडकाव करे :

  • Monocrotophos·
  • Phosphamidon
  • Methyl parathion
  • Carbaryl

देख रेख

आम की खेती में हो रहे पौधो के प्रारंभिक विकास के समय पेड़ो की अच्छी देख रेख की अति आवश्यकता होती है | इस दरमियान हमे ये ध्यान रखना है की पेड़ो में किसी प्रकार के किट न लगे, इन्हें सही आकर में बढ़ने दे, अगर इनके आकर में गडबडी हो रही हो तो इनके नीचे की डाली को काट कर हटा दे और एक निश्चित आकर दे | इसके अलावा हर 5 से 6 महीने में मिट्टी को थोडा उलट पुलट करते रहे ताकि सही मात्रा में हवा और नमी जड़ तक जा सके | साल में एक बार गोबर का खाद 250 से 300 gram हर एक पेड के जड़ के पास मिला दिया करे |

Mango Farming Nutrition

Mango Farming plot in India

किसी भी पेड़ के अच्छे विकास के लिए अच्छे मात्र में Nutrition की अति आवश्यकता होती है, कभी कभी पेड़ो को Nutrition मिट्टी से नहीं मिल पाती है, इस अवस्था में हम इसमें fertilizer का इस्तेमाल करते है, ताकि पेड़ो के विकास में किसी प्रकार की रुकावट न हो |

Plant Age Fertilizer
1 Years 100g N, 50g P2O5, 100g K2O
10 Years and above 1kg N, 500g P2O5, 1kg K2O

इन सब के अलावा हम पेड़ो में अच्छे से decompose खैर कृषि खाद का भी इस्तेमाल कर सकते है |

Irrigation in Mango Farming

पेड़ो के विकास के लिए Nutrition की जितनी आवश्यकता है उससे कही ज्यादा विकास के लिए पानी की आवश्यकता है | पौधे जो थोडा बडा हो गया है उसके विकास के लिए लगातार Irrigation की आवश्यता होती है | साथ ही बड़े पेड़ो में जो फल दे रहे है उनमे पानी की सिचाई 10-15 दिनों के अंतराल में करना चाहिए | साथ ही ये भी ध्यान दे की जब पेड़ में फुल लग रहे है तो 2-3 महीने तक पेड़ो में पानी की सिचाई को बंद कर दे, ऐसा नहीं करने पर फलो की quality खराब हो सकती है |

Harvesting and Yield of Mango

Mango Cultivation

आम की उपज मुख्य रूप से कृषि जलवायु के परिस्थिति पर निर्भर रहता है | अगर जलवायु अनुकूल रहा तो फसल अच्छी होगी | आम तौर पे देखा जाता है की कुछ पेड़ में फलो का लगना जल्द start होता है और कुछ में देर से होता है | Grafted Mango tree में फल पांचवे साल से लगने लगते है, बल्कि Seedling tree में 8-10 साल लग जाते है |

Duration (in years) Fruits (in Numbers)
2-3 10-15
3-5 50-60
6-10 500-600
20-45 1,000-3,000

जिसे बाजार में बेच कर अच्छे पैसे कमाए जा सकते है | आज हमारे बाजार में आम का मूल्य Rs 40 – 120 per kg होता है |

One thought on “Mango Farming in India – आम की खेती कैसे करे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *