Meaning of Sesame in Hindi

By | November 13, 2015

What is the Sesame meaning in Hindi – what it is called? Sesame seeds को हिंदी में क्या बोलते हैं ? Sesame ka Hindi matlab kya hota hai? Janiye with example and its advantages in detail.

Sesame Oil - Til ka tel ke fayde

Sesame = तिल

Sesame को हिन्दी में “तिल” कहा जाता है। तिल तीन तरह के होते है एक काला तिल दूसरा सफ़ेद और तीसरा लाल तिल। ज्यादातर लोग काले तिल या सफ़ेद तिल का प्रयोग करते है। लाल तिल का प्रयोग बहुत ही कम किया जाता है। तिल में कई पोषक तत्व पाए जाते है जैसे की प्रोटीन (protein), कैल्शियम (calcium), कार्बोहाइट्रेड(carbohydrate) आदि।

Nutrition in Sesame

Sesame में कई प्रकार के पोषक तत्व पाए जाते है जो हमारे शरीर को स्वस्थ रखने के लिए अहम् भूमिका निभाता है | इसमें पाए जाने वाले पोषक तत्व निम्नलिखित है |

Sr.No. Nutrition Quantity
1 Calories 573
2 Water 5%
3 Carbohydrate 23%
4 Fat 50%
5 Protein 18%

About

हमारे आस पास कई ऐसे चीजी उपलब्ध है जिसके बारे में हर किसी को पता नहीं होता ऐसे सभी चीजो में एक Sesame के बीज भी उपलब्ध है | यह एक प्रकार का खुबसूरत दिखने वाला पुष्पीय पौधा है यह पौधा पहले अफ्रीका के जंगलो में बहुत अधिक मात्र में दिखने को मिलता था जो अब हमारे देश में खेतो में दिखने को मिलता है | किसान इस पौधे को अपने खेतो में आनाज के रूप में उगाते है जिसके बीज का इस्तेमाल कई प्रकार से किया जाता है | इसका बीज हमारे शरीर को स्वस्थ रखने में सहायक शिद्ध होता है | इस पौधे से मिलने वाले बीज को ठण्ड के मौसम में तिल का लड्डू बनाकर इसे खाया जाता है | इस लड्डू का इस्तेमाल हमें ठण्ड से बचने में मदद करता है | साथ ही तिल के बीजो से तेल भी निकाला जाता है जिसे लोग खाने में भी इस्तेमाल करते है।

Uses

Til का इस्तेमाल मनुष्य कई प्रकार से करते है | कोई इसके बीज का इस्तेमाल करता है तो कोई इसके बीज से निकले तेल का इस्तेमाल करता है | Sesame का इस्तेमाल निम्न प्रकार से किया जाता है |

  • इसके बीज को गुड के साथ मिलाकर लड्डू बनाया जाता है एवं इसका सेवन किया जाता है जो हमारे शरीर को शर्दी के दिनों में ठंड से बचाता है |
  • इसके बीज से निकले तील जोड़ो के दर्द निवारण के लिए इस्तेमाल किया जाता है |
  • इसके तेल में बने व्यंजन मानव स्वास्थ्य के लिए काफी फायदेमंद होता है |
  • इसके बीज में मौजूद विभिन्न पोषक तत्व हमे स्वस्थ रखने में सहायक होता है |

इसके अलावे ठण्ड के मौसम में तिल का लड्डू भी बनाया जाता है जो की हमें ठण्ड से बचने में मदद करता है | साथ ही तिल के बीजो से तेल भी निकाला जाता है जिसे लोग खाने में भी इस्तेमाल करते है।

तिल के बीज व तिल के तेल दोनों के कई फायदे होते है :-  

  • बवासीर में अगर काले तिल को चबा कर खाया जाये तो इसके मरीज को राहत मिलती है ।
  • तिल को चीनी के साथ खाने से कब्ज ठीक हो जाता है ।
  • मुंह के छाले पर अगर आप तिल के तेल में सेंधा नमक मिला कर लगाते है तो आपको राहत मिलेगी ।
  • अगर आपके एड़ियाँ ठण्ड के मौसम में फट गयी हो तो तिल के तेल में मोम या फिर सेंधा नमक मिला कर मालिस करने से फटी हुई एड़ियों कोमल हो जाती है ।
  • तिल के तेल का सेवन करने से blood pressure कम होता है ।
  • पेट दर्द होने पर एक चम्मच तिल को चबा कर खा लें और फिर एक glass गुनगुना पानी पी लें। इससे पेट दर्द में रहत मिलेगा ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *