Micronutrients for Plants Information

By | October 13, 2017

The micronutrients is an important vitamin and minerals that required for plants growth. Yah ek supplements ki tarah hai jo paudhe ke growth mein help karta hai. यह एक प्रकार का nutrients होते हैं, जो पौधों के विकास और संतुलित फसल पोषण के लिए आवश्यक होते हैं । पौधों की चयापचय गतिविधियों में सूक्ष्म पोषक तत्व एक प्रमुख भूमिका निभाते हैं | सूक्ष्म पोषक तत्व एक आवश्यक तत्व होते हैं, जिनका प्रयोग पौधों द्वारा छोटी मात्रा में किया जाता है । ये primary और secondary सूक्ष्म पोषक तत्वों के रूप में पोषण के लिए महत्वपूर्ण होते हैं, हालांकि पौधों को उनमें से अधिक को आवश्यकता नहीं होती है | मिट्टी में किसी भी एक सूक्ष्म पोषक तत्व की कमी पौधे के विकास को सीमित कर सकती है, भले ही अन्य सभी पोषक तत्व पर्याप्त मात्रा में मौजूद क्यों न हों |

Micronutrients in hindi

पौधों के विकास और स्वास्थ्य के लिए आवश्यक लगभग सात पोषक तत्व होते हैं, जो बहुत कम मात्रा में आवश्यक होते हैं। हालांकि ये केवल छोटी मात्रा में मौजूद होते हैं, ये सभी तत्व आवश्यक हैं | ये तत्व निम्नलिखित हैं :-

List of Micronutrients for Plant

Boron : Boron tourmaline में पाया जाता है, यह एक अत्यधिक अघुलनशील खनिज और यह cell wall के समुचित रूप और मजबूत बनाने के लिए आवश्यक होता है | boron फूल, फल, cell division और पराग अंकुरण (pollen germination ) में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है | भूमि में boron की मात्रा कम होने पर बीज और अनाज के उत्पादन में कमी आती है | मिट्टी में boron की कमी सामान्यतः सूखे की अवधि के दौरान होती है | मिट्टी में अत्यधिक boron की मौजूदगी पौधे के लिए हानिकारक हो सकता है |


Manganese : प्रकाश संश्लेषण (photosynthesis ) और नाइट्रोजन चयापचय (nitrogen metabolism ) के लिए maganese आवश्यक होता है |  पौधे से प्रारंभिक पत्ता गिरना और delayed maturity मैंगनीज की कमी के लक्षण हैं । मैंगनीज गीली मिट्टी में प्रचुर मात्रा में होती है, जबकि शुष्क मिट्टी में सीमित होती है |

Copper : उचित प्रकाश संश्लेषण, अनाज उत्पादन और एक cell wall को मजबूत बनाने के लिए copper की  आवश्यकता होती है । पौधे का कठोर विकास, पीले पत्ते copper की कमी के लक्षण हैं | कई मिट्टी में पर्याप्त copper नहीं होती है जिस कारण पौधे का विकाश सही से नहीं होता है |

Zinc : Zinc एक अनिवार्य तत्व है जो फसल के प्रकाश संश्लेषण, ऊर्जा उत्पादन और विकास के विनियमन में मदद करता है । जस्ता की कमी के कारण पत्ते के आकार में धीमी परिपक्वता (slower maturity) और पत्ते के विकाश में कमी हो सकती है | मिट्टी में जस्ता की कमी अक्सर ठंड और वसंत ऋतु के दौरान होती है |

Iron : ऊर्जा हस्तांतरण, नाइट्रोजन घटाना, और स्थिरीकरण के लिए लोहे (iron) की आवश्यक होती है | सल्फर के साथ iron अन्य प्रतिक्रियाओं के गठन में एक उत्प्रेरक के रूप में कार्य करता है । फसलों तथा पौधों में पीली  पत्तियां होना लोहे की कमी के लक्षण हैं |

Chlorine : क्लोरीन एक पोषक तत्व है, जो osmosis और ionic संतुलन में मदद करता है | यह photosynthesis की प्रक्रिया में भी महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है । पौधे की वृद्धि में कमी होना मिट्टी  में chlorine की कमी के लक्षण हैं |

Molybdenum : Molybdenum पौधे के विकाश के लिए जिम्मेदार होता है । यह नाइट्रोजन निर्धारण के लिए भी जिम्मेदार होता है | कम फल या अनाज की वृद्धि Molybdenum की कमी के लक्षण हैं । humid region में sandy soils एक ऐसे स्थान हैं, जहां मिट्टी में copper की कमी होती है।

Scientists किसान भाई को  Micronutrients use करने की सलाह देते है ताकि vegetables की पैदावार अच्छी हो |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *