Nausea Meaning in Hindi, Symptoms and Treatment

By | September 1, 2016

Janiye Nausea meaning in Hindi – iske common symptoms, causes and treatment. Agar sahi tarike se ilaj aur treatment ke saath gharelue upay use kiya jaye to ise aasani se thik kiya jaa sakta hai. जी मिचलाना या मिचली आना एक बहुत ही खराब condition होती है | हमे जब भी जी मिचलाना  महसूस होता है तो हमे कुछ भी अच्छा नहीं लगता है | इस condition में हमारे मन में अजीब से बेचैनी लगने लगती है heartbeat तेज  होने लगता है, हमे हल्का से हल्का आवाज में irritate करने लगता है, vomiting जैसा feel होता है पर उलटी नहीं होता है | Nausea कभी कुछ देर के लिए होता है तो कभी लम्बे समय तक रहता है | Nausea कम हो या ज्यादा Nausea आना हमारे सेहत के लिए ठीक नहीं होता है |

 Nausea meaning and treatment in Hindi

Nausea = जी मिचलाना

  • उबकाई
  • मिचली

अब आपको Nausea meaning तो मालूम चल गया है, चलिए इससे जुडी और जानकारी प्राप्त करते हैं |

जी मिचलाना के लक्षण / Symptoms of Nausea 

मतली का सबसे आम लक्षण है की इससे ग्रसित व्यक्ति को उलटियाँ आने लगती है  | जो लक्षण आमतौर पर मतली से जुड़े रहते है वे इस प्रकार है :

जी मिचलाना के कारण / Causes of Nausea

Nausea कई कारणों से होता है | Nausea होने के कुछ मुख्य कारण इस प्रकार से है |

  • पेट की गड़बड़ी – पेट की समस्या भी जी मिचलाना का कारण बन सकता है क्योकि यदि हमरा पेट ठिक नहीं रहता है तो हमारा मन भी अशांत रहता है जिसके कारण चिडचिडापन महसूस होने लगता  है |
  • अधिक खाना – ज़रूरत से ज्यादा खाना खाने के कारण भी जी मिचलाना की problem हो सकती है, इसलिए हमे जरूरत से अधिक खाना नहीं खाना चाहिए |
  • गर्भावस्‍था – महिलाओ में मिचली की problem मुख्यता उनके गर्भावस्‍था के द्वारं होती है |
  • तनाव – यदि हम किसी बात को लेकर बहुत चिंतित रहते है तो उसके कारण नही भी मिचली की problem हो सकती है |
  • शराब ज्यादा पीना – अधिक शराब पिने से भी जी मिचलाने के problem हो सकती है, क्योकि जब हम अधिक शराब पिते है तो हम अपना दिमागी संतुलन खो देते है जिसके कारण हमे मिचली आने की problem हो सकती है |

जी मिचलाना  के घरेलु उपचार / Simple Home Treatment for Nausea

अगर कभी भी आपको जी मचलना जैसा लगे तो घरेलु नुश्के को अपनाकर आप इसे ठीक कर सकते है | जब कभी आपको मतली के लक्षण महसूस हो तो सबसे पहले एक जगह आराम से बैठ जाये और कुछ देर आराम करे, बाकि इलाज निचे बतलाया गया है :

अनार का juice – मिचली आने की problem को अनार के juice का सेवन करके दूर किया जा सकता है | 4 ग्राम इलायची को कूट कर powder कर के इसके powder को अनार के juice में मिला कर पिने से मिचली की problem से जल्द छुटकारा  मिलता है |

नींबू – नींबू में vitamin C की मात्रा पाई जाती है, जो हमारे पेट के लिए बहुत ही beneficial होता है | एक गिलास पानी में एक नींबू के रस को निचोड़ कर पिने से तथा इसे सूंघने से Nausea की problem को दूर किया जा सकता है |

चावल और जायफल – कच्चे चावल को 5 mint तक पानी में भिंगो कर छोड़ दे, 5 mint के बाद चावल को पानी से निकाल ले, अब जायफल को घिस कर इसे चावल के पानी में मिला कर पिने से जी मिचलाने की समस्या से छुटकारा मिल सकता है |

Acupressure – जी मिचलाने की समस्या को Acupressure के द्वारा भी ठीक किया जासकता है | इसके लिए आप अपने अंगूठे से अपने Wrist पर 20 से 30 minute तक हलके हलके हाथों से दबाए |

आराम करे – यदि आप को कभी घबराहट या बेचैनी महसूस हो रही हो या चक्कर आ रहा हो तो सभी काम काज छोड़ कर थोड़ी देर rest करे | यदि आप office में काम कर रहे है तो कुछ देर अपने chair पर ही बैठ जाए और यादो आप घर पर है तो धोड़ी देर सो ले |

गिले कपडे का प्रयोग – यदि आपको जी मिचलाना महसूस हो रहा हो तो एक कपडे को भिंगो कर उसे अपने forehead पर रखे ऐसा करने से बहुत जल्द जी मिचलाना ठिक हो जाता है |

गहरी साँस ले –  यदि आप बेचैनी महसूस कर रहे है या फिर आपको मन भारी लग रहा हो तो गहरी साँस लेने की कोशिश करे ऐसा करने से आप relax feel करेंगे |

Related posts:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *