Rana Sanga – History, Height, Death & Facts in Hindi

By | June 12, 2017

Hamare Bharat ke mahan raja Rana Sanga ko Sangram Singh ke naam se bhi jana jata hai. Janiye unki history, height, weight, war aur death ki jankari.  वे मेवाड़ के शासक थे और 16वीं सदी में भारत के सबसे प्रमुख राजपूत नेताओं में से एक थे | वे राजपूत के सिसोदिया कबीले के थे और उन्होंने 1508 और 1528 के बीच शासन किया | वे अपने वीरता और साहस के लिए जाने जाते थे जिन्होंने मुगल हमलावर बाबर के खिलाफ लड़ाई लड़ी |

Maharaja Rana Sanga

Biography :

Name: Maharana Sangram Singh

Known as: Rana Sanga

Date of birth: 12 April 1484

Birth place: Malwa, Rajasthan, India

Father Name: Rana Raimal

Wife: Rani Karnavati

Children : Bhoj Raj, Udai Singh II

Passed away: 30 January 1528

जीवन / Birth

संग्राम सिंह का जन्म 12 अप्रैल 1484 को Malwa, Rajasthan में हुआ | इनके पिता का नाम Rana Raimal था जो की मेवाड़ के राजपूत शासक थे | राणा सांगा का विवाह Rani Karnavati के साथ हुआ | अपने भाइयों के खिलाफ लंबे समय तक सत्ता संघर्ष के बाद, 1508 में मेवाड़ के राजा के रूप में राणा सांगा ने अपने पिता राणा रियाल के साम्रज्य का उत्तराधिकारी बने |

King Rana Sanga with his Sword

King Rana Sanga with his Sword

मेवाड़ में अपना गढ़ स्थापित करने के बाद, उन्होंने पुरे भारत को अपने नियंत्रण में लेने की योजना बनाई | सांगा ने गुजरात पर चढ़ाई करते हुए माल्वा पर विजय प्राप्त की जिससे वे अब आगरा के बिलकुल नजदीक पहुच गए थे | राणा को यह मालूम हुआ की बाबर ने इब्राहिम लोदी को हराया दिया और दिल्ली के सल्तनत के स्वामी बन गए हैं | तब बाबर की ताकत और दृढ़ संकल्प का अनुमान लगाने के लिए मुगल सम्राट के खिलाफ युद्ध लड़ने के लिए राणा सांगा ने फैसला लिया | पहले कदम के रूप में उन्होंने Afghanistan के भगोडे राजकुमार Mahmud Lodi को शामिल करने के लिए मजबूर किया | हसन खान मेवाती के तहत कई मेवाती मुस्लिमों ने राणा सांगा को अपना समर्थन देने का आश्वासन दिया | तब राणा ने बाबर को भारत छोड़ने का आदेश दिया, और इसके लिए शुरुवात में उन्होंने अपने सरदार सिलाहादी को अपने दूत के रूप में भेजा | परन्तु सिलाहादी ने बाबर का हाथ थाम लिया और राणा जी को धोके में रखा |


आप सांगा जी की सौर्य का पता इस बात से लगा सकते हैं की युद्ध में उनको लगभग 80 जख्म हुए, उनकी एक आँख फुट गयी और एक हाथ भी खोना पड़ा फिर भी वे अपने पराकर्म से मुगलों को धुल चटा दी | ऐसा भी कहा जाता है की Sanga जी एक एक sword का weight लगभग 20 kg का होता था |

हमारे भारत में कई महान योद्धा हुए जैसे Tilka ManjhiMaharana Pratap और Veer Kunwar Singh |

War between Great Rana Sanga and Babur

और बाबर ने ने राणा के आदेश को  नहीं माना | इस कारण सांगा ने मुग़ल आक्रमणकर्ता बाबर के खिलाफ युद्ध करने के लिए आगे बढे,उन्होंने Mewati के राजा Hasan Khan, और Afghan के Mehmud Lodi और Alwar के राजा Medini Rai जैसे अन्य लोगों के समर्थन की मांग की, और 1527 में फतेहपुर सीकरी के पास खानवा में बाबू की सेना से मिलकर एक संयुक्त सेना का निर्माण किया | लड़ाई बहुत ही क्रूर रही और युद्ध के एक महत्वपूर्ण क्षण में, सांगा के सहयोगी सिलाहादी ने महाराणा को धोखा दिया और अपने 30,000 सैनिकों के साथ बाबर के साथ खड़ा हो गया | जब राणा सांगा अपनी सेना के पुनर्निर्माण के लिए संघर्ष कर रहे थे तब वे घायल हो गया और वे बेहोश हो कर अपने घोड़े से गिर पड़े ।

राजपूत सैनिको को लगा की राणा मारे गए, और वे भय से भागने लगे और इसप्रकार से मुगल जीत का दावा करने में सक्षम बन गए | सांगा के वफादार अनुयायियों ने उन्हें सुरक्षा दी और उन्हें बचाया | अपने स्वास्थ्य को पुनः प्राप्त करने के बाद, महाराणा ने अपने राज्य को बाबर से पुनः प्राप्त करने की कसम खाई । 1528 में, उन्होंने एक बार और चंदेरी में बाबर से लड़ने की योजना बनाई, इससे Medini Rai को मदद मिली | मुगलों ने तोपों का खूब इस्तेमाल किया, ऐसा माना जाता है की यदि बाबर के पास तोप न होता तो राणा सांगा जी, बाबर पर एक ऐतिहासिक जीत हासिल कर सकते थे |

मृत्यु / Death

काफी कम लोग ही जानते हैं की राणा सांगा ने हार के बाद फिर से अपनी सेना को एकत्रित किया और बबार के ऊपर attack करने के योजना बनाने लगे | पर war से ठीक कुछ दिन पहले वह अपने camp में बीमार पड़ गए और उनकी death हो गयी | ऐसा भी बोला जाता है की उनके कोई विस्वासपात्र ने ही उनके खाने में जहर मिला कर उन्हें मार दिया | और इस तरह महान Rana Sanga की death हुई | इनकी मृत्यु होने के बाद उनकी पत्नी Rani Karnavati ने जौहर कर लिया (आत्म-बलिदान) ताकि मुस्लिम आक्रमणकारियों के हाथों गुलाम / बलात्कार से बचा जा सके |

Tags:-

History of Rana Sanga in Hindi

Rana Sanga images

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *