सफ़ेद मुलसी के वैज्ञानिक खेती कैसे करे

By | July 27, 2016

क्या आप सफ़ेद मूसली की वैज्ञानिक खेती करने की सोच रहे हैं? जानिए कैसे कम लगत में अच्छा profit कमाया जा सकता है | जानिए इससे जुडी सभी जानकारी विस्तार में | सफ़ेद मुसली प्रायद्वीपीय भारत में उष्णकटिबंधीय जंगलो में पाए जाने वाला एक प्रकार का औषधिय पौधा है जिसे English में Chlorophytum borivilianum कहा जाता है  | इसकी पत्तिया भाले के आकार की होती है | भारत के कई हिस्सों में इसके पत्ती को सब्जी के रूप में इस्तेमाल करते है, और इसके जड़ को दवा बनाने में इस्तेमाल करते है | सफ़ेद मुसली पौधो के Asparagaceae परिवार से है और इसमें Chlorophytum के जीनस पाए जाते है | भारत में सफ़ेद मुसली की खेती हिमाचल प्रदेश, पंजाब, उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, राजस्थान, मध्य प्रदेश, बिहार, छत्तीसगढ़, गुजरात, महाराष्ट्र, ओडिशा, तमिलनाडु, केरल और पश्चिमी बंगाल में अधिक पैमाने पे व्यवसाय के लिए किया जाता है |

Safed Musli ki unnat Kheti ki jankari

सफ़ेद मुस्ली के फायदे / Health Benefits of Safed Musli

सफ़ेद मुसली शिर्फ़ सब्जी के काम ही नहीं आता, इस में कई बीमारियों का इलाज छुपा हुआ है | मुख्य रूप से सफ़ेद मुसली का इस्तेमाल इसके औषधीय गुण के कारण आयुर्वेद में आयुर्वेदिक दवाई बनाने के लिए किया जाता है | दवाई के साथ साथ शारीरिक बीमारियों को भी दूर करता है |

  • अगर आप अपने शरिर में कमजोरी का अनुभव कर रहे है तो सफ़ेद मुसली का इस्तेमाल करे इससे शरिर की कमजोरी दूर होती है |
  • सफ़ेद मुसली antioxidents और vitamin c भरपूर मात्रा में पाए जाते है |
  • सफ़ेद मुसली का इस्तेमाल aphrodisiac agent and vitalizer के रूप में किया जाता है |
  • सफ़ेद मुसली हमारे शरिर में Cholesterol level को संतुलित रखता है |
  • सफ़ेद मुसली हमारे शरिर में रोग प्रतिरोधक क्षमता को मजबूत करता है |
  • Diabetes मरीजो के लिए सफ़ेद मुसली रामबाण दवा है |

कैसे करे सफ़ेद मुस्ली की खेती  / How to do Safed Musli Farming?

Aap ko jaan kar hairani hogi ki Musli ki kheti medium size ki jamin (70 to 100 decimal – 30,450 sq feet to 43,500 sq feet) mein bhi ki jaa sakti hai aur agar ise vaigyanik tarike se kiya jaye to bumper fasal ho sakti hai. Aur agar aapke pass badi si kheti layak jamin ho to aap ek saal ke andar lakhon kama sakte hai. Aur sabse acchi baat yah hai ki safed musli ko tayyar karne mein 8 month ka time lagta hai. To chaliye jante hai kaise aap bhi safed musli ki unnat kheti ki jankari kaise paa sakte hai aur kaise accha profit kama sakte hai:

Safed Musli ki fasal

सफ़ेद मुसली के प्रकार / Varieties of Safed Musli

यु तो सफ़ेद मुसली के कई किस्म पाए जाते है, परन्तु भारत में कुछ ही इसके कुछ किस्म की खेती की जाती है | भारत में पाए जाने वाली सफ़ेद मुसली के प्रकार

  • RC-5
  • RC-15
  • CTI-1
  • CTI-2
  • CTI-17

लागत / Cost

कम लागत में अच्छे फायदे कमाना आप चाहते है तो आप सफ़ेद मुसली की खेती कर सकते है | इस खेती में एक एकड़ में 400-500 kg मुसली के बिज की खेती की जा सकती है | इस खेती में अगर आपको 500 kg high quality वाले मुसली निकले तो इसकी बाजार मूल्य Rs 5,00,000 होगा, जबकि इसका लगत मूल्य Rs 2,50,000 प्रति एकड़ है |

Material Price
Planting Material (Seed) Rs 300 per kg
Prepration of land, Labour Charge Rs 40,000
Other Rs 50,000

जलवायु / Climate

जिस प्रकार सभी पेड़ो या फसलो के अच्छे विकास के लिए अनुकूल जलवायु की आवश्यकता होती है, ठीक उसी प्रकार सफ़ेद मुसली की खेती मूलतः शुष्क एवं आर्द्र प्रदेशो में कि जाती है, इन प्रदेशो में इसकी उपज अच्छी होती है | सफ़ेद मुसली के विकास के दरमियाँ इसे हलकी नमी की आवश्यकता होती है, इससे इसके जड़ का अच्छे से विकास होता है |

मिट्टी कैसे होने चाहिए / Soil Requirement

सफ़ेद मुसली एक प्रकार का कंद फसल है, इसलिए इसके विकास के लिए उचित मिट्टी की आवश्यकता होती है | अगर इसकी खेती इसके जरुरत के अनुरुप मिट्टी में किया जाए तो सफ़ेद मुसली की खेती नहीं हो पाएगी | इसलिए इसकी खेती करने से पहले मिट्टी की जांच करवा ले, रेतीली दोमट मिट्टी में इसकी उपज अच्छी होती है | और अगर मिट्टी में organic खाद है तो इसकी उपज के साथ इसकी गुणवत्ता भी अच्छी होती है |

Season of Safed Musli

सभी फसलो के तरह सफ़ेद मुसली की फसल अवधि होती है | किसी की 3 महिना तो किसी का 6 महिना, परन्तु सफ़ेद मुसली का फसल अवधि 8 से 9 महीने की होती है | इसका खेती मानसून (जून-जुलाई) में किया जाता है और इसकी खुदाई फरवरी या मार्च के महीने में किया जाता है |

खेत कैसे तैयार करे / Land Preparation for Safed Musli

सफ़ेद मुसली के खेती से मई महीने में (जब मानसून करीब हो) खेत की अच्छी से 3-4 गहरी जुटाई कर देनी चाहिए | और अंतिम जुटाई से पहले खेत में गोब्बर की सडी खाद 250 क्विंटल प्रति हेक्टेयर की दर से खेत में मिलकर खेत की जुताई करे | पौधो या बिज में किट न लगे उसके लिए 300 kg प्रति हेक्टेयर के दार से नीम या करंज की खल्ली को खेत में बेड्स बनाने से पहले मिट्टी में मिला दे | अब पुरे खेत में 1 मीटर चौड़ा और एक फीट ऊँचा बेड्स का निर्माण करे, ध्यान रहे की दो बेड्स की दुरी 30 cm होनी चाहिए |

बिज का उपचार एवं रोपण

अगर आप सफ़ेद मुसली के बिज को किट या बीमारी से बचाना चाहते है, तो बिज की खेती से पूर्व हमे अक्सर उत्तम बिज का चुनाव करना चाहिए | खेती से पूर्व हम बिज का उपचार रासायनिक या जैविक विधि से करते है | रासायनिक विधि में वेविस्टिनके घोल में उपचारित करते है | परन्तु जैविक विधि में हम पानी और गोमूत्र के 1:10 की मात्रा में मिश्रण बना कर इसमें 2 घंटे तक बिज को दाल कर छोड़ देते है | तत्पश्चात बिज की लम्बाई के बराबर बेड्स में गड्डा कर के बिज को लगाए, बिज लगते वख्त ध्यान रहे की बिज की दुरी लगभग 15 cm होनी चाहिए | एक एकड़ भूमि पर 400-500 kg मुसली के बिज की खेती की जा सकती है |

Irrigation in Safed Musli

सफ़ेद मुसली की खेती मुख्यतः बरसात के मौसम में होता है | इसलिए नियमित वर्षा के कारण हमे इसमें सिचाई करने की जरूरत नहीं पड़ती | अगर वर्षा अनियमित हो तो हमे 10-12 दिन में एक बार हलकी सिचाई करनी चाहिए | वर्षा ऋतू के बाद फसल में सिचाई 20-21 दिन पर करनी चाहिए | सफ़ेद मुसली को निकलने से पहले एक बार सिचाई कर देनी चाहिए ताकि खेत में नमी बनी रहे, जिससे फसल निकालने में दिक्कत न हो |

Marketing

सफ़ेद मुसली का रंग जब हल्का भूरा हो जाता है तब इसे निकल लिया जाता है | निकालने के पश्चात् इसके छिलका को निकाल कर इसे धुप में अच्छे से सुखाया जाता है | जब ये अच्छे से सुख जाता है तो इसे बजार में बेचा जाता है | सफ़ेद मुसली हमारे खेत से तीन किस्म में निकलते है, जिनका बाजार मूल्य अलग अलग होता है |

लाभ / Profit

Waise to Safed Musli ke kheti ko ek profitable business mana jata hai. Agar aap scientific tarike se safed musli ko uga kar acche tarah se marketing karenge to aapko accha khasa return mil sakta hai.

Quality Price
High Quality Rs 1,000-1,500
Medium Quality Rs 600-800
Low Quality Rs 200-300

Agar aapko aur koi acchi jankari malum ho safed musli se related to niche diye gaye comment box se jarur share kare.

4 thoughts on “सफ़ेद मुलसी के वैज्ञानिक खेती कैसे करे

  1. Akshay Panchariya

    Muje ye kheti karani hai
    Iske bare me mere ko puri jankari or iska bij kaha milta hai kaha se kharide or kya kya fayada hai or mere locasion me iski kheti ki ja skati hai ya nahi

    Reply
  2. manish

    Aap bahot badhiya jankari dete ho but agar hame wo kheti ya business karna chahte hai to koi contect no bhi dijiye jahase hame pura saman mil sake . For example. Muze macchi palan karna hai to aap ye bhi bataye ki kon kon se state mai musli hoti hai our mulsi farm ka contect namber.ta ki hamko aasani rahe busines karne ko

    Reply
  3. murad alam

    I belong to east Champaran Bihar.I want to do farming of safed musli.plz suggest me in details and seed availability.

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *