SDO ka Full Form in Hindi – एस.डी.ओ

By | November 4, 2017

Kya aapko malum hai SDO ka full form kya hota hai Hindi mein? Yah Government ka ek post hai jo ki electricity se police department tak mein hota hai, janiye inka work & power.  लगभग हर जिले में और हर एक department में एक SDO होता है जो की कई तरह के काम करता है | तो चलिए जानते है इसके बारे में थोड़े विस्तार में :

SDO Full Form

 

SDO – Sub Divisional Officer (उप-विभागीय अधिकारी)

देश के विधि व्यवस्था को सुव्यवस्थित रूप से चलाने के लिए कई राज्यों में विभाजित किया गया और इस राज्य में कई district का निर्माण किया गया | देश में स्थापित किये गए इन सभी district को छोटी इकइयो में विभाजित किया गया जिसे उपविभाग Sub Division कहा गया | और इन सभी Sub Division का व्यवस्थित संचालन के लिए अधिकारियो को नियुक्त किया गया | इस Sub Division के अधिकारियो को SDO या Sub Divisional Officer कहा जाता है |

Role of SDO      

यह पद अपने Division का miniature District Magistrate होता है | वास्तव में SDO राजस्व कानूनों के तहत वह कलेक्टर की शक्तियों के साथ निहित होता है, यह अपने इस power का इस्तेमाल अपने क्षेत्राधिकार में करता है | वह सहायक कलेक्टरों, ग्रेड II (तहसीलदार और नाइब-तहसीलदार) एवं सहायक कलेक्टरों, ग्रेड I (विभाजन मामलों में तहसीलदार) के आदेश के खिलाफ उपविभाग के कलेक्टर के रूप में समस्या एवं शिकायतों को सुनता है | इन्हें या तो भारतीय प्रशासनिक सेवा का एक जूनियर सदस्य या राज्य नागरिक सेवा के एक वरिष्ठ सदस्य के रूप में जाना जाता है, जो अधीनस्थ पदों में व्यापक अनुभव अर्जित किए हुए है जिसे अपने उपखंड में तहसीलदार और उनके कर्मचारियों पर प्रत्यक्ष नियंत्रण के लिए प्रयोग किया जाता हैं | SDO अपने उपखंड में जिला मजिस्ट्रेट और तहसीलदार के बीच पत्राचार का सामान्य चैनल है |


Power of SDO

Sub Divisional Officer अपने अधिकार क्षेत्र में राजस्व, मजिस्ट्रेट, कार्यकारी और विकास मामलों से संबंधित उप-विभागीय अधिकारी की शक्तियां और जिम्मेदारियां, जिला मजिस्ट्रेट के समान हैं | इनके राजस्व कर्तव्यों में मूल्यांकन से सभी मामलों की देखरेख और भूमि राजस्व संग्रह के लिए निरीक्षण शामिल है, जो उपखंड में सभी अधिकारियों के काम के समन्वय, विशेषकर राजस्व विभागों, कृषि, पशुपालन और सार्वजनिक स्वास्थ्य विभाग में कार्य करता है |

Selection Process for SDO

इस post के बहाली के लिए सभी राज्य के द्वारा इसकी नियुक्ति निकाली जाती है | इस पद की नियुक्ति राज्य के सार्वजनिक सेवा आयोग के द्वारा की जाती है | जिसके अंतर्गत अगर आप सभी मानदण्ड पर खरे उतरते है तो आप इसके लिए आवेदन कर सकते है | आवेदन में दिए गये सभी सही मानदण्ड के बाद Preliminary Examination  के लिए एक निर्धारित समय एवं स्थान पर बुलाया जाता है | इस परीक्षा में पास अभियार्थी को Main Examination के लिए बुलाया जाता है, इस परीक्षा में पास applicent का interview लिया जाता है और अंत में Personality Test लिया जाता है | Personality Test में पास अभियार्थी SDO पद के लिए चयनित किया जाता है |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *