SIP Investment in Hindi – Advantages and Disadvantages

By | January 4, 2017

कैसे करे SIP के plan में investment in Hindi – जानिए कैसे करे निवेश, how to open account, benefits and disadvantages, पुरे meaning के साथ विस्तार में | SIP (Systematic Investment Plan)  को Hindi में “व्यवस्थित निवेश योजना” कहा जाता है। SIP एक तरह से RD यानि की “Recurring Deposit”  के जैसा हीं होता है। SIP investment plan एक ऐसा scheme होता है जहाँ आप हर month कुछ छोटी amount जमा कर सकते है । अगर आप भी अपने पैसो को कहीं invest करने का सोच रहे है तो SIP आपके लिए एक बहुत हीं अच्छा option है। SIP एक ऐसी Financial Policy है जिसमें एक installment के fixed amount  को एक Scheme में नियमित रूप से invest किया जाता है ।

SIP Investment in Hindi

SIP =  Systematic Investment Plan / व्यवस्थित निवेश योजना

SIP के तहत आपको एक बार में अधिक investment करने के बजाय mutual fund में  Monthly investment करने की छुट दी जाती है । mutual fund में invest करने का interval हर  दिन, हर week या फिर हर month रखा जा सकता है। invest करने वाला व्यक्ति  SIP के जरिये Share market, mutual funds, और Gold ETF में भी invest कर सकता हैं। SIP के माध्यम से Share Market में छोटे छोटे amount को नियमित तौर पर Mutual Fund  द्वारा invest करने का सबसे बेहतरीन और आसान माना जाता है ।

Suppose आपके पास share market में invest करने के लिए 60,000 रूपए है। और आप इस पैसे को एक बार में invest करने से डर रहे है क्योंकि आपको ये नहीं पता होता है की अगले दिन market का क्या हाल होगा अर्थात वो ऊपर जायेगा या निचे। सारे पैसे को आप एक risk पर हीं एक बार में invest करते है । SIP आपके इसी risk को कम करते हुए आपके investment को थोड़े थोड़े interval में बाँट देता है मतलब आपको एक बार में पूरा पैसा invest करने की जरुरत नहीं होती है । यदि आप SIP के माध्यम से mutual fund में पैसे invest करते है तो आगे चल कर आपको एक अच्छा return मिल सकता है।

आप इसे भी पढ़े investment ideas और आप भी अमीर बन सकते  हैं |

SIP में आप हर month minimum 500 रूपए deposit कर सकते है और इसमें invest करने की अधिकतम राशी की कोई सीमा नही है। अगर आप किसी month में invest नहीं करते है तो mutual fund company next month तक आपके investment का wait करती है । अगर अपने next month में भी पैसे invest नहीं किया तो आपका SIP account close कर दिया जाता है  । 

एस.आई.पी खाते कैसे खुलवाएं / How to open SIP account

  • Know Your Customer (KYC) mutual fund में invest करने के लिए compulsory है।
  • पहले किसी भी एक mutual fund company में KYC फार्म जमा करके अपने KYC की आवश्यकता को पूरा करे ।
  • KYC application form के साथ कुछ documents भी जमा करने पड़ते है जैसे की PAN card, address proof आदि ।
  • अब अपने पास के किसी भी mutual fund कंपनी में जहां आप अपना पैसा invest करना चाह रहे है वहां पर जाएँ और SIP आवेदन फॉर्म भर कर जमा करे। आवेदन form के साथ investment शुरू करने के लिए एक initial cheque भी जमा करना पड़ता है ।
  • आवेदन पत्र के साथ self attested किया हुआ एक एक copy KYC, PAN card  का भी attached  कर के देना होता है ।
  • SIP account online Instructions दे कर भी शुरू किया जा सकता है। इसके लिए आपको सिर्फ भरे हुये enrollment Form के साथ cheque जमा करना होगा जिससे mutual fund में आपके द्वारा बताए गए date पर cheque जमा कर दिया जायेगा ।

एस.आई.पी के लाभ / Benefits of SIP 

  • जिसका salary कम है वो भी अपनी salary में से कुछ पैसा invest कर के कुछ time बाद एक अच्छा खासा return प्राप्त कर सकता है।
  • long time तक छोटे छोटे राशि को invest करने पर भी आपको बड़े returns मिल सकते है।
  • SIP के जरिये से आपके invest की average cost कम होती है।
  • SIP में पैसे invest करने या फिर पैसे निकालने पर कोई tax या पैसे नहीं लगते है ।
  • SIP के माध्यम से आप अपनी बाकि के Financial Responsibilities को बिना छेड़ छाड़ किये invest कर सकते हैं।
  • SIP को समय से पहले close करने पर किसी तरह का जुर्माना नही भरना पड़ता है ।
  • salary पाने वाले लोगों के लिए इस scheme द्वारा invest करना अच्छा और आसान होता है।
  • SIP पैसे वाले लोगों को भी गलत जगह पर invest करने से बचाता है।

एस.आई.पी के नुकसान / Disadvantages of SIP

  • अगर आप 1 या 2 साल के लिए SIP में invest कर रहे है तो शायद आपको अच्छा return ना मिले |
  • अगर आपने SIP plan उस समय start किया है जिस समय NSE market high पर था, और अगर आपने 1 या 2 years के लिए SIP investment plan select किया है, और अगर 1 या 2 years में NSE (share market) crash कर जाता है तो आपको काफी loss उठाना पड़ सकता है, शायद आपको total investment amount से थोडा कम ही मिले |
  • आपको अच्छा return पाने के लिए SIP में 3 से 5 years तक का wait करना पड़ सकता है, इससे तो अच्छी है की आप securely Bank में FD कर दीजिये और सुकून से अपना काम कीजिये, कम से कम आपको 7 से 8% interest तो मिलेगा और कोई नुक्सान की को कोई गुंजाईश नहीं रहेगी |
  • मान लीजिये अगर आपने किसी agent के through SIP plan में invest करना start किया है, और every month 5,000 invest कर रहे है तो आपको लगभग Rs 125  आपको extra as a commission देने होंगे जो की आपको यह agent कभी नहीं बतलायेंगे | आपको बोला जायेगा की आपको केवल 5,000 ही invest करने का है, यानि 25 months में Rs 1,20,000.  इस game को आप इस तरह समझिये :
  1. Monthly Investment = Rs 5,000 (5 plan selected)
  2. Commission / Charges = Rs 135 (Rs 27 from per plan, approx)
  3. Total Investment for 2 years = Rs 1,20,000
  4. Total Commission paid = Rs 3,240
  5. Investment via Trading Account: Rs 1,000 (AMC for 2 year)
  6. Total Amount Invested = Rs 1,24,240

सो इस हिसाब से आप Rs 4,240 extra pay कर रहे है  – यह खास कर तब होता है जब आप किसी agent के द्वारा SIP में investment करते हैं |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *