Tarpin Oil Meaning and its Benefits – तारपीन का तेल

By | February 22, 2016

Chaliye jante hai Tarpin oil (tel) ka meaning aur iske benefits ke bare mein. तारपीन का तेल कुछ देवदार के पेड़ (pine trees) की राल(resin) से बना होता है। तारपीन  एक वाष्पशील तेल होता है, और ये तेल स्थान सर्वोपरि है। यह तेल लंबें पत्ते वाले चीड़ के पेड़ों से निकला जाता है । अन्य पेड़ो के Compared में इस पेड़ से resin अधिक निकलता है।  राल (resin) एक गोंद के जैसा होता है जो की पेड़ की छाल से निकलता है । इस गोंद (resin) का use गोंद, अगरबत्ति, लकड़ी की रोग़न आदि बनाने में किया जाता है। इसी चिड के पेड़ के resin में तारपीन होता है। इस पेड़ में छेद करने से जो तेल निकलता है उसे हीं तारपीन का तेल कहते है ।

Tarpin Oil

तारपीन पेड़ो में संपूर्ण रूप से पाया जाता हैं। इस तेल का use बहुत से चीजो में होता हैं। कहा जाता है की बच्चों में इस तेल का use नहीं करना चाहिए क्योंकि ये तेल विशेष रूप से विषाक्तता होता है जो की बच्चो के लिए जहर के सामान हो सकता है ।

तारपीन तेल का उपयोग / Uses of Tarpin Oil

To chaliye ab thoda jante hai ki tarpin ke tel ke kya fayde, gun aur health benefits hain:

  • तारपीन के तेल का use दवा के रूप में किया जा सकता है ।
  • इस तेल का use चर्मरोगऔर कीटनाशक औषधियों, में भी होता है।
  • तारपीन का तेल जोड़ों का दर्द, Muscles में दर्द, नसों का दर्द, और दांतदर्द  के लिए  भी किया जाता है।
  • तारपीन के तेल को त्वचा पर लगाने के लिए भी use किया जाता है।
  • तारपीन का तेल का use inhaler के रूप में भी किया जाता है । किसी व्यक्ति को अगर सांस लेने में problem हो रहा हो तो वे लोग तारपीन के तेल का भाप (steam) ले सकते है ये छाती में रक्त संचय (chest congestion) को दूर करता है ।
  • तारपीन के तेल को खाने को delicious बनाने के लिए भी use किया जाता है।
  • तारपीन का तेल एक पेंट विलायक के रूप में ,साबुन बनाने के लिए और किसी भी cosmetic को बनाने के लिए भी use किया जाता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *