Train Engine ka Aviskar Kisne Kiya aur Kab Kiya

By | July 22, 2017

दोस्तों क्या आपको मालूम है की ट्रेन का आविष्कार किसने और आखिर कब किया था? Janiye is steam engine ka invention kab hua tha jise rail gadi bola jata hai.  पर कभी आपने सोचा है सबसे पहले किसने ट्रेन की खोज की थी? तो चलिए जानते है इससे जुडी कुछ जानकारी | आज के date में ज्यादातर लोग train से travel करते है । अन्य दूसरे वाहनों से travel करने के मुकाबले में train से हीं travel करना सबसे सस्ता, safe और बहुत हीं आरामदायक होता है।  इसमें खाने पीने से ले कर toilet तक की सुविधा उपलब्ध होती है। आज दुनिया भर में बहुत सी ट्रेने चलने लगी है लेकिन क्या आपने कभी ये सोचा है की जिस train से हम सफ़र करते है वो कहाँ से आया है, उसका अविष्कार सबसे पहले किसने किया आदि ?  ये सब जानने के लिए हमारे द्वारा लिख गया इस article को पढ़े । इस article में हम जानेंगे की train का अविष्कार कब और किसने किया है ।

Traine Engine ka Aviskar kisne aur kab kiya

History / इतिहास

वैसे तो सबसे पहले ट्रेन का आविष्कार और पेटेंट 1784 में “जेम्स वाट” द्वारा  किया गया था । लेकिन “Richard Trevithick ने England में 1804 में पहियों पर पहली परिचालन भाप इंजन का निर्माण किया था । train का सबसे पहला मॉडल सफलतापूर्वक Richard Trevithick द्वारा 1804 में बनाया गया था । लेकिन कुछ कारणवस उनकी इस train को चलने में उन्हें असफलता मिली। सन 1824 में Richard Trevithick को भाप इंजन (steam engine) को चलाने में कामयाबी मिली ।

उसके बाद सन 1825  में  पहली बार सार्वजनिक रेलवे अस्तित्व में आया जब जॉर्ज स्टीफेंसन ने  स्टॉकटन Darlington रेलवे लाइन का निर्माण किया । 1825 में भाप इंजन की help से 38 रेल के डब्बो को खीचा गया था। इस डब्बे में लगभग 600 यात्री ने यात्रा की थी। इस रेलगाड़ी ने पहली बार लगभग 37 km तक का सफ़र तय किया था। लेकिन जब से बिजली (electric) और डीजल (diesel) से इंजन चलने लगी है तब से भाप इंजन का उपयोग हीं बंद हो गया है ।

Train एक स्थान से चल कर माल तथा सवारियों को दुसरे स्थान तक पहुचने का काम करती है।

Train पटरियों पर दौड़ती है जो की लोहे का बना होता है । Train में एक बार में कई सारे यात्री यात्रा कर सकते है। Train में कई साड़ी सुविधाएँ होती है। लोग train में बैठ कर या फिर सो कर भी सफ़र कर सकते है।


Advanced Train / आधुनिक ट्रेन

Train में हर तरह की बोगी यानि की compartment (डब्बा) होते है जैसे की AC (air condition) बोगी, sleeper बोगी और general बोगी। लगभग हर train में विकलांग (handicapped) लोगो के लिए और महिलाओं के लिए भी एक एक अलग compartment होता है । इन सब के अलावा train में बाथरूम (toilet), खाना, आदि और भी कई तरह की सुविधाएँ दी जाती है । train के अलग अलग compartment (बोगी) में सफ़र करने का अलग अलग charges लगते है जैसे की AC में travel करने का सबसे ज्यादा पैसा लगता है तो general में कम पैसे लगते है ।

माल पहुंचाने वाली train को hindi में मालगाड़ी और english में goods train कहते है। मालगाड़ी में ज्यादातर कोयला carry किया जाता है । इसके अलावा मालगाड़ी को और भी कई सामान carry करने के उपयोग में लाया जाता है । जहाजों द्वारा जो भी सामान का transportation किया जाता है उन सभी को train भी carry करने में सक्षम होती हैं। Steel, wood तथा coal के transportation  हेतु भी train का use किया जाता है ।

अन्य passenger trains के तुलना मालगाड़ी में ज्यादा डब्बे होते है इसलिए ये एक बार में ज्यादा से ज्यादा सामन carry कर सकती है । आमतौर पर train अपने destination तक सीधे रास्ते से plane चिकने पटरी पर चल कर पहुंती हैं इसलिए इसमें सामान का नुकसान होने का chance भी कम रहता है। यही नहीं सड़क की तुलना में मालगाड़ी से माल परिवहन में पैसे और ऊर्जा दोनों की हीं बचत होती है। अन्य किसी वाहन के तुलना में train एक बार में ज्यादा से ज्यादा माल व सवारी को एक जगह से दूसरी जगह पहुँचाने में सक्षम होती है ।

World’s Fastest Train

Sr. No. Name Speed Country
1 Shanghai Maglev 267.8 mph China
2 Harmony CRH 236.12 mph China
3 AGV Italo 223.6 mph Italy
4 Siemens Velaro E/AVS 217.4 mph Spain
5 Talgo 350 217.4 mph Spain
6 E5 Series Shinkansen Hayabusa 198.8 mph Japan
7 Alstom Euroduplex 198.8 mph France
8 SNCF TGV Duplex 198.8 mph France
9 ETR 500 Frecciarossa Train 186.4 mph Italy
10 THSR 700T 186.4 mph Taiwan

आशा करता हूँ की यहाँ पर दी गयी ट्रेन से जुडी जानकारी आपको अच्छी लगी होगी | अपना मूल्यवान सुझाव जरुर दे |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *