Diet Chart for Typhoid Patients in Hindi – Kya Khana Chahiye

By | April 18, 2017

Typhoid होने पर क्या खाना और आहार लेना चाहिये और क्या नहीं – जानिए कौन सा diet chart follow कर के patient इस fever से छुटकारा पा सकता है | यह एक बहुत ही गंभीर बीमारी है, सही समय पर इसका इलाज नहीं करने से patient की जान भी जा सकती है | टाइफाइड एक संक्रामक बीमारी है जो कि salmonella typhosa  नामक bacterial infection के कारण होता है | यह bacteria पानी या खाने के द्वारा हमारे शरीर में प्रवेश करता है, यह bacteria हमारे पाचनतंत्र में पहुच कर अपनी संख्या को बढाता है और यह बैक्टीरिया हमारे शरीर में लिवर, गॉलब्लेडर जैसे parts में पहुच कर उन parts को damage कर हमे बीमार करते है | किसी भी व्यक्ति को टाइफाइड होने पर वह काफी लम्बे समय तक बीमार रहता है, इसमें व्यक्ति को सामान्यतः कमजोरी, पेट में दर्द, कब्ज और सिर दर्द जैसी problem होती है |

Diet chart for Typhoid patient in Hindi

अगर आप भी Typhoid patient के लिए कोई अच्छा diet chart खोज रहे है तो इसे पढ़े | अगर आप थोड़ी से सावधानी रखेंगे, जैसे typhoid में क्या और क्या नहीं खाना चाहिए तो आप इससे आसानी से छुटकारा पा सकते हैं | तो चलिए जानते कौन से भोजन लेने से आपको आराम मिलेगा और हमेशा के लिए इसे बाय बाय बोल सकते हैं :

Diet Chart / आहार तालिका 

सिर्फ इलाज से द्वारा हम इस बीमारी को दूर नहीं कर सकते है, इस बीमरी को जड़ से ठीक करने के लिए हमे थोड़ी बहुत diet plan की आवश्यकता होती है, तभी जा कर हम जो उपचार कर रहे है उसमे फायदा देखने को मिल सकता है |

क्या खाए / What to Eat:

बीमारी के दौरान हमे फलो का अधिक से अधिक सेवन करना चाहिए, हमें उन फलो का चयन करना चाहिए जिसमे protein और calories की मात्रा अधिक हो |

  • हरी सब्जियों का सेवन करना इस बीमारी में काफी लाभप्रद होता है |
  • मूंग की दाल तथा मूंग की खिचड़ी खाना इसमें काफी लाभ पहुचाता है |
  • पालक तथा अन्य सब्जियों का सूप पीने से लाभ मिलता है |
  • टाइफाइड बीमारी के वक्त मुनक्का का सेवन करने से बहुत लाभ मिलता है |
  • अधिक से अधिक मात्रा में पानी पीये शरीर में पानी में मात्रा बनाये रखे और पानी के मात्रा को बनाये रखने के लिए glucose पानी का सेवन करे |
  • हमेशा boil water का सेवन करे | पानी को पहले 5 minute खौला लें और फिर ठंडा होने के बाद इसका सेवन करे |
  • घर के अस पास हमेशा साफ़ सफाई का विशेष ध्यान दे |

क्या न खाए / What not to Eat:

  • Typhoid से ग्रसित व्यक्ति को तेज मसालेदार या तेल में तली हुई चीजो का सेवन नहीं करना चाहिए |
  • high fiber वाले खाद्य पदार्थ जैसी पूरे अनाज और कच्ची सब्जियाँ, गोभी, शिमला मिर्च और शलजम का इस्तेमाल न करे |
  • इस बीमारी के दौरान भारी भोजन जैसे की मांस मच्छली का सेवन न करे |
  • Street food से परहेज करे, बाजार में चटपटे और तीखा खाने से परहेज करे |

Causes / कारण

टाइफाइड बीमारी को दूर करने के लिए या इससे बचने के लिए सबसे पहले हमे इसका कारण को जानना बहुत ही जरुरी होता है | यदि हम इस बीमारी के होने का कारण जान ले तो हम इसके चपेट में आने से बच सकते है | तो चलिए जाने इसके मुख्य कारण :-

  • टाइफाइड बीमारी का सबसे मुख्य कारण है दूषित पानी, इसलिए इससे बचने के लिए साफ पानी का इस्तेमाल करे |
  • खराब या बासी खाना खाने से यह जल्दी फ़ैल सकता है |
  • यह बीमारी किसी संक्रमित व्यक्ति के रक्त लगने से भी हो सकता है |
  • किसी संक्रमित व्यक्ति के झूटे खाने को खाने से भी यह संक्रमित हो सकता है |

इससे बचने के लिए हमे इसके लक्षण से रूबरू होना बहुत ही जरुरी है, इसके लक्षण को जान लेने से हमे patient का इलाज सही समय पर और सही तरीके से कर सकते है |

आइए जाने इस बीमारी के कुछ मुख्य लक्षण | निम्नलिखित लक्षणों में से अगर आपको किसी भी एक तरह का symptoms दिखे तो  तुरंत अपने चिकित्सक से contact करे  |

  • इस बीमारी  से ग्रसित मरीज को सर और पेट में लगतार दर्द रहता है |
  • इससे से पीड़ित व्यक्ति कमजोरी का अनुभव करता है |
  • शरीर से पानी की मात्रा कम होने लगती है जिसके कारण मुख सूखने लगता है, और थूक कम निकलता है |
  • यदि किसी बच्चे को बार बार दस्त हो रही हो तो उसे Typhoid हो सकती है |
  • शरीर से अधिक मात्रा में पसीना आना या ठंड लगना भी इसका का एक लक्षण है |
  • अचानक बुखार आना भी इस का एक लक्षण है |

अगर आपके पास भी कोई और सुझाव है जिससे टाइफाइड को ख़त्म किया जा सकता है तो यहाँ पर अपनी राय जरुर दे |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *