Ulcer ka Symptoms and Treatment (अल्सर का इलाज)

By | November 21, 2015

Kya aap Ulcer ki bimari se pareshan hai aur iska ilaj khoj rahe hai? Janiye Ulcer ke symptoms aur treatment kaise kiya jaye Ayurveda se. आमाशय यानि पेट या फिर छोटी आंत (small intestine) में होने वाले इन्फेक्शन, घाव या फिर छाले को अल्सर या stomach अल्सर (Ulcer) या फिर गैस्ट्रिक(gastric) अल्सर भी कहा जाता है। जब पेट में अल्सर हो जाता है तो पेट या आंत की सुरक्षात्मक परत टूट जाती है। कभी कभी जब अल्सर ज्यादा बढ़ जाता है तो उसके फटने की भी संभावना रहती है अतः समय रहते हीं इसका इलाज करवा लेना चाहिए । Symptoms and Treatment of Stomach Ulcer

अल्सर होने का कारण

Ulcer hone ke kai karan ho sakte hai.  Niche diye gaye main reason hai Ulcer hone ke:

  • अधिक धूम्रपान करने से आमाशय यानि की पेट मे अल्सर होने की संभावना अधिक रहती  है।
  • अधिक शराब पीने से भी पेट या आंत(intestine) में ulcer हो जाता है।
  • कॉफ़ी(coffee) या फिर चाय(tea) का भी अधिक सेवन करने से अल्सर(ulcer) हो सकता है।
  • खाने में ज्यादा गरम मसाले का इस्तेमाल करने से भी पेट में अल्सर(ulcer) होता है।
  • ज्यादा तनाव में रहने से भी stomach में अल्सर होने की संभावना रहती है।

Kaie baar upar diye gaye chijo ka adhik sewan karne se mouth ulcer bhi hone ka khatra rahta hai.

अल्सर के लक्षण / Ulcer ka Lakshan / Symptoms of Alsar

Alsar ke lakshan ko pakdna thoda aasan hai. Agar aapko hamesha thoda thoda pet mein dard rahta ho ya niche diye gaye kuch lakshan match karte ho to aapko alsar ki bimari ho sakti hai.

  • पेट में हमेशा दर्द होना ।
  • बदहज़मी ।
  • उल्टी होना या उल्टी से खून निकलना ।
  • ह्रदय में जलन होना।
  • मल से खून आना ।
  • वजन का घटना आदि ये सरे अल्सर के लक्षण होते है ।

अल्सर का इलाज / Ulcer ka ilaj / Treatment of Alsar

  1. शहद(honey)

औषधीय गुणों से भरपूर शहद (honey) जिसे मधु के नाम से भी जाना जाता है पेट के अन्दर की जख्मो पर मरहम का काम करता है। अगर आपके पेट या आंत में अल्सर हो गया हो तो आप दिन में किसी भी समय एक बार १ से २ चम्मच सुद्ध शहद को जरुर से खाएं क्योंकि शहद पेट व आंत में हुए घाव को नष्ट कर देता है जिससे अल्सर जल्द ही ठीक हो जाता है ।

  1. मेथी के दाने (fenugreek)

अल्सर को ठीक करने में मेथी भी बहुत फायदेमंद होता है। इसे इस्तेमाल करने के लिए पहले एक glass पानी में एक से डेढ़ चम्मच मेथी के दाने को डालकर उसे कुछ देर तक उबाल लीजिए और फिर उस पानी के ठंडा होने पर छान लीजिए। अब मेथी (fenugreek) के पानी में एक चम्मच शहद (honey) को मिला कर उसे पी लीजिए। हर रोज दिन में एक बार मेथी के पानी में शहद को मिला कर पीने से आप अल्सर की समस्या से छुटकारा पा सकते है ।

  1. पत्ता गोभी (cabbage)

पत्तागोभी(cabbage) को भी stomach ulcer के लिए एक बेहतरीन औषधि माना जाता है। इसके सेवन से पेट के अन्दर की सहत को energy मिलती है जो की अल्सर को ठीक करने में सहायक होती है। इसे इस्तेमाल करने के लिए पहले पत्ता गोभी को काट कर उसे अच्छे से साफ़ पानी से धो लें और फिर उसमे थोड़ा पानी मिक्स कर के उसे पीस लें। पीसे हुए पत्ता गोभी (cabbage) के जूस को छान कर रात को जब सोने जा रहे हों तो उससे पहले पी लें  इससे अल्सर ठीक होता है ।

  1. नारियल पानी

हर रोज सुबह सुबह खाली पेट ताजे नारियल का पानी के सेवन से पेट या आंत में हुए अल्सर ठीक होते है।

  1. केला(banana), vegetable juice, aloe vera, सहजन (drumstick), कच्चा दूध आदि इन सब के सेवन से भी अल्सर ठीक होता है ।
Related posts:

4 thoughts on “Ulcer ka Symptoms and Treatment (अल्सर का इलाज)

  1. hariom sharma

    Mera alsar theek nahi ho raha hai, koi gharelu upay batlaiye

    Reply
  2. rohit kumar...

    Sir mera alsar 2 salo se thik nahi ho raha hai. Maine base se base doctor se ilaj karwachuka hu.plz sir koi upay btaye…

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *