Uric Acid ka Treatment aur ilaj – यूरिक एसिड

By | November 10, 2015

Agar body mein Uric Acid ki matra bad jaye to iska ilaj karna jaruri ho jata hai anyatha pure joint mein pain shuru ho jata hai. Isliy  Uric acid ka samay rahte treatment jarur se shuru kar dena chahiye. किसी भी इंसान के शरीर के  खून में अगर यूरिक एसिड की मात्रा जरुरत से ज्यादा बढ़ जाती है तो वो जोड़ों में एकत्र हो जाता है जिसकी वजह से गठिया की बीमारी हो सकती है। अधिक शराब का पीना या फिर जरुरत से ज्यादा वजन का बढ़ जाना शरीर में uric acid की मात्रा को बढ़ा सकता है। body में uric acid ना बढ़े इसके लिए आप कोई भी बेकरी product का इस्तेमाल ना करे साथ ही fast food के सेवन से भी बचे ।

Uric Acid Treatment or ilaj

Aisa dekha gaya hai ki Uric Acid usually ek age ke baad hi hota hai.  Jaydatar logon ko uric acid ka problem 45 age ke baad hi hota hai. Agar khan paan par dhyan naa diya jaye to yah rog pehle bhi ho sakta hai.

यूरिक एसिड के लक्षण / Symptoms of Uric Acid

Agar aapko malum nahi hai ki aapke body mein uric acid ki matra jyada hai ya nahi to niche diye gaye lakshan se uric acid ko pahchan sakte hai. Aur samay rahte uric acid ka uchit upchar kara sakate hain.

  • जोड़ो में सुजन हो जाना ।
  • पैर के अंगूठो में सुजन होना ।
  • जोड़ो में गांठ पर जाना ।
  • शरीर के joints में दर्द होना ।
  • चलने व उठने बैठने के समय जोड़ो में दर्द होना|
  • किसी एक जगह पर ज्यादा देर बैठ जाने से जोड़ो में दर्द होना |

यूरिक एसिड का इलाज / Treatment of Uric Acid

Niche diye gaye diet se aap uric acid ka level control kar sakte hai:


  • इंसान के खून में अगर uric acid बढ़ जाए तो उसे hydraulic fiber से भरा आहार का सेवन अधिक करना चाहिए जैसे की इसबगोल की भूसी, oats, पालक आदि। ये uric acid को blood से absorb कर लेता है ।
  • uric acid में अगर आप ठंड संसाधित तेल(cold processed oil) लेते है तो आपके लिए ये बहुत ही फायदेमंद होता है। ये uric acid को बढ़ने नहीं देता है साथ ही साथ आपको vitamin E भी मिल जाता है।
  • हर रोज अगर आप सुबह सुबह खाली पेट ३ से ४ अखरोट(walnut) खाते है तो आपका uric acid control में रहेगा।
  • जिस किसी के भी शरीर में अगर uric acid बहुत ज्यादा बढ़ जाये तो उसे ज्यादा पानी का सेवन करना चाहिए इससे शरीर में बढ़ा हुआ यूरिक एसिड बाहर निकल जायेगा। इसके अलावा पानी पिने के और फायदे है जो यहाँ पर आप विस्तार में पढ़ सकते हैं |
  • आंवला के जूस के साथ एलो वेरा (aloe vera) के जूस को मिला कर पीने से भी बहुत फायदा होता है। ये uric acid को control में रखता है ।
  • बढ़े हुए uric acid को control में रखने के लिए आप antioxidant rich food का सेवन ज्यादा करे जैसे की अंगूर, टमाटर का सलाद या जूस आदि ।
  • रोजाना खाना खाने के कुछ देर बाद ही एक चम्मच अलसी के बिज (flax seeds) को चबा कर खाने से भी uric acid control में रहता है।
  • uric acid के वजह से अगर किसी को भी गठिया का problem हो जाये तो बथुई के ताजे पत्ते (chenopodium leaves) को पीस कर उसका जूस निकाल ले और फिर ये जूस सुबह खाली पेट में पिएं। इस जूस को पिने के कम से कम २ घंटे पहले और २ घंटे बाद कुछ नहीं खाना चाहिए । लगभग १५ दिनों तक इसका प्रयोग करने से uric acid control हो जायेगा साथ ही गठिये का दर्द भी कम हो जायेगा ।
  • एक चम्मच अश्वगंध powder को एक चम्मच शहद के साथ मिला दे और फिर इस मिश्रण को एक glass गुनगुने दूध मिला कर पिएं । इससे uric acid control में रहेगा। ध्यान रहे की अश्वगंध चूर्ण बहुत गर्म होता है इसलिए गर्मी के मौसम में इसका सेवन कम करे ।

 

10 thoughts on “Uric Acid ka Treatment aur ilaj – यूरिक एसिड

  1. yoges

    mere sare joint me awaj pati hai kad kad or back me reed ki bone dard rehta hai. jaise meri reed ki bone toot jayegi sase test kara liye but aram nahi mila agar koi ilaj ho to please help me.

    Reply
  2. Kamalkishor patankar

    Kandhe ke jodo me our hat me aguthe me dard , urik acid result7.9 hai card me liye teblet avam upchar

    Reply
  3. vijay s jagtap

    प्लीज़ सर मुझे यूरिक एसिड के इलाज की बहोत जरूरत है
    इसका इलाज बताये बहोत से डॉक्टर के पास जाके भी मैं
    मायूस हु thanks

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *