Viral Fever (Bukhar) Treatment in Hindi – बुखार का इलाज

By | June 4, 2015

वैसे तो Fever सभी को आती है परन्तु सिंपल symptoms से पहचान कर bhukar का treatment किया जा सकता है |  Fever का इलाज भी आसान है, अगर आप पूरी सावधानी बरते  | हर बदलते मौसम के साथ हमारे शरीर के रोग प्रतिरोधक छमता में भी उतार – चढ़ाव होता रहता है | जिसके कारण बुखार, खांसी जैसी रोग हमारे शरीर को जकड़ने लगती है | बदलते मौसम के साथ सबसे अधिक viral fever होने का संभावना होता है | इस प्रकार के बुखार होने पर कई तरह के लक्षण लोगो शरीर  में देखा जा सकता है |

Fever treatment in Hindi - Bukhar ka ilaj

Har badalte mausam kesath hamare sharir ke rog pratirodhak kshamta me bhi utar chadhao hota rahta hai. Jiskekaran bukhar, khansi jaisi rog hamare sharir ko jakdne lagti hai. Badalte mausam ke sath sabse adhik viral fever hone ka sambhawna hota hai.Iis prakar ke bukhar honepar kai tarah ke lakshan logo ke sharir me dekhe ja sakte hai.

तो आइये जानते है fever होने पर कौन सा treatment उपयोगी है और इसका ilaj क्या है :

बुखार के लक्षण (Symptoms of Fever – Bukhar Ke Lakshan)

  • शरीर में थकान महसूस होना (weakness in body)
  • शरीर का तापमान में अचानक वृद्धि हो जाना (raise in body temperature)
  • शरीर के मांसपेशियों में और हड्डियों के जोड़ो पर दर्द महसूस होना (feel pain in bones and muscles)
  • सर में दर्द होना (head pain)
  • जीभ का स्वाद चला जाना (no taste in tongue)

Viral बुखार के लिए कुछ जिम्मेदार तत्व 

  • मौसम में परिवर्तन के कारण (change in season)
  • ज्यादा कम करने से थकान के कारण (weakness due to heavy work)
  • अपने छमता से अधिक कम करने से | (physical work more than capacity)
  • रात में कम नींद लेने से | (less sleep)
  • शरीर को अगर रेस्ट (body rest) न मिले तो भी बुखार हो जाता है | (Fever also start due to no rest to body)

वायरल बुखार (Viral Fever) से उबरने के लिए आवस्यक सावधानिया एवं कुछ घरेलु नुस्खे

Precaution and Home remedies for Viral Fever

तुल्सी (basil leaves) ; तुल्सी के पत्तो में antiseptic ingredients पाया जाता है | इससे virus जैसे हानिकारक जीवो के आक्रमण से होने वाली रोगों से लड़ने में मदद मिलती है |

  • 4 से 5 तुल्सी के पत्ते तोड़ ले फिर उसे चाय के साथ उबाल ले |
  • दिन भर में कम से कम 3 से 4 बार उस चाय को पिए |

सरसों तेल और लहसुन (mustard oil & garlic); viral feever होने पर शारीर के अंगो में कमजोरी होने लगती है, उसमे ऐठन होने लगता है | इन सब से बचने के लिए लहसुन वाले सरसों के तेल से हाथ पैरो के तलवे को massage करना चाहिए |

  • सबसे पहले 4 से 5 लहसुन के दाने को पीस कर उसे महीन कण में परिवर्तित कर ले |
  • छोटे से बर्तन में 4 या 5 चम्मच सरसों का तेल में उस बारीक़ लहसुन को डाल कर लाल होने तक गर्म करे |
  • उतारने के बाद थोड़े ठंडा होने दे तेल को और उस हलकी गर्म तेल से अपने पैरो के तलवों तथा हथेलियों को massage करे |

पानी (water ) ; हमारे शरीर  का 90 % भाग जल से बना है | बुखार होने पर हमारे शरीर  में पानी की कमी होने लगती है | अत यह हमेशा ध्यान रखे की शरीर  में पानी का कमी न होने दे, इसके लिए अधिक से अधिक पानी पिए |

  • दिन भर कम से कम तीन liter पानी पिने की कोशिस करे |

गर्म पानी (drink boiled water) ; बुखार होने पर पानी हमेशा उबाल कर पिए |

  • साफ बर्तन में पानी उबल ले और उसे ठण्डा कर के पिए |
  • हमेशा थोडा गरम पानी ही पीजिये

शहद और लौंग (Cloves and honey) ; शहद कई रोगों के इलाज के लिए रामबाण की तरह उपयोग किया जाता है  | शहद में लौंग के powder को मिलकर लेने से बुखार को कम करने में मदद मिलती है |

  • 2 से 4 दाना लौंग को पीस कर powder तैयार कर ले | एक चम्मच शहद ले और उसमे लौंग के powder को मिला कर दिन में 3 बार ले |

अदरक वाली चाय (ginger mixed tea) ; अदरक वाली चाय पिने से गले में होने वाली दर्द दूर होती है और बुखार से रहत मिलती है | इसके इस्तेमाल से मुह का स्वाद भी आने लगता है |

  • दिन में कम से कम 3 बार अदरक वाली चाय का सेवन करे |

जल का पट्टा ; अगर बुखार काफी तेज हो तो आप ठण्डे जल में साफ कपडे को भींगा कर उसे सिर में रखने से और बारी बारी से बदलते रहने से बुखार कम हो जाता है |

  • एक कटोरा ठण्डे जल ले उसमे साफ कपडे को डुबो दे |
  • पूर्ण भींगे कपडे को मरीज के सिर में 5 minute तक रखे , पुन कपडे को पानी में भिगो दे फिर सिर में रख दे |
  • इस प्रक्रिया को जब बुखार अधिक हो तब अपनाने से बुखार कम हो जाता है और शरीर का तापमान संतुलित रहता है |

Fever के समय क्या नहीं खाना चाहिये –  List of Food not to eat during Fever

अगर आप को viral fever हो जाए तो आपको कुछ चीजो के इस्तेमाल करने में परहेज करने चाहिए |

जैसे कि –

  • ठन्डे पानी को पिने से परहेज करे (avoid drinking chilled water)
  • कोई भी ठंडी खाने तथा पिने की चीजे जैसे ice cream, cold drink आदि का भी सेवन से बचे |
  • दही का सेवन बिलकुल भी न करे | (never ever eat curd, this will make your worst condition)
  • खली बदन या खाली पैर बाहर न निकले | (never walk outside without clothes)
  • कुछ फलो जैसे केला अदि का भी सेवन करने से बचे | (avoid eating banana, this might increase cough)
  • Boiled egg – अगर आप अंडा खाना चाहते है, तो सिर्फ उबले अंडा ही खाए | (you can have 1-2 boil eggs a day)

English Summary for Fever Tretment

Usually Viral Fever starts due to sudden change in climate temperature and due to negligence towards our health.  However one can get rid of Fever with the help of proper treatment and precaution. The first thing is to provide enough rest to your body and start taking good amount of water (at least 3 liter of warm water) daily basis.  Have some ginger tea 3-4 times a day along with mild massage with Mustard oil and Garlic. This will give instant relief. If the body temperature is above 101 or 102 then should pour small towel in water and apply on head. This will reduce the fever and body temperature.

Related posts:

46 thoughts on “Viral Fever (Bukhar) Treatment in Hindi – बुखार का इलाज

  1. dhananjay

    mai apne doctor se pichle 2 years se ilaj karwa raha hoon, par yeah viral bukhar bar bar aa jaa raha hai

    Reply
    1. ѵiѵɛk ʀɑʝpѳѳt

      thankssss for you in sabhi upay ke karan jyada se jyada people viral fever se bach nikle aur jo log apna teatment money ke na hone se nhi kra sake aaj unhe bhi laabh mila thankyou very much..

      Reply
  2. satpal singh

    thank you sir jo aapne fever ka itna accha upay batlaya hai

    Reply
  3. Awanya mishra

    Beti 12mahe ki hai bukhar aur infection se pidit hai eska upay batye ser ji plese sir.

    Reply
    1. Rohit

      Sir, aapka message padha, please dont mind, ekin itni choti umr me bachhi ko aap kisi ache se Dr. Ko hi Dikhya kre or is age me aap bachhi k sath plz kisi trha ka risk na le….Thank you

      Reply
  4. Satya narayan shah

    very good advise for fever, thank you sir

    Reply
  5. sanoj

    Mera beta 7 saal ka hai usey 3 din se bukhar hai jo raat ko badh jaata h din me thik ho jaata hai, hum 3 din pahle bahar ghumne gye they jhaa par wo 2-3 baar nhaaya bhi or kaafi pedal bhi chala kripya aap is bukhaar ka ilaaj btaaye

    Reply
    1. Bhagat Post author

      Fauran doctor se mil kar checkup karwaye – saiyad viral fever bhi ho sakta hai

      Reply
      1. harender kumar

        My self Haremdra my age 28 mere sar me bukhar nahi jata he kafi davai le chuka hu koi davai batow

        Reply
  6. Harbhajan

    Meri grand daughter ko 10-12 din se evening main 100-102 degree tak temperature ho jata hai. Typhoid ka test bhi negative aya hai. Please koi ilaz batain. Thanks.

    Reply
    1. Bhagat Post author

      Abhi haal philhaal mein baaris start hui hai aur kai logon ko viral fever ki sikayat hui hai, accha hoga ki ek bar doctor se mil kar blood test karwa lein taki sahi sahi malum chal sake ki kaun se exact bimari hui haui

      Reply
    2. Usman

      Mujhe 2 dino se favar ho raha hai
      Me delhi chla gya tha ghumne wha se aakar sab thik tha l.
      Bus subha jaise hi utha me tabse fevar ho
      Vaise abhi me sahi hu par muh se bar bar pani aa raha hai ..
      muh bhi kadwa ho rha h..
      Plz koi ilaaj btye sir ji.

      Reply
  7. veeru thakur

    Ser mujhe dimaki bukhar aaraha hai aaj 10 din ho gaye hai davai bhi le raha hu koi upaye batao plz

    Reply
  8. RAMAN KUMAR

    Nature has given us many incredible gifts which can cure most of the common ailments. Ayuravedic treatment is based only on natural things.

    Reply
  9. M k sonu

    High fever hai, pure muscle mein dard hai, aur headache hone par Maine first din tulsi adrak air kalimirch ki chay pee. Parantu koi fayada nahi ulte loose motion ho gaya. Ye combination sardi jukam me sirf kargar hai

    Reply
    1. Bhagat Post author

      Sonu ji,

      Lagta hai aapko viral fever hua hai, aap jaldi se doctor se mile aur batlaye gaye upay ko chalu rakhe, jaldi thik hone me kaam aayega

      Reply
  10. dharmendra kr

    Mera pita Ji ka bukhar Karin 1 year se lag RHA h kya kare sab jach krva die sabhi ka ilaj nhi phir bhi bukhar nhi ka RHA h

    Reply
  11. shubham kumar mishra

    6-7 gantey se bhukhar aa rha h sharir ke jodo me durd ho rha h akhen mudne me jalan si ho rhi krpya koi upay btaye plz

    Reply
  12. kamal Singh

    Sir head pain or fever hai, kya mujhe tablet leni chahiy ya doctor ke pas jakar jach karvani chahiy do din ho gaye hai

    Reply
  13. nilesh

    mere pure sarir par sujan aa rahi he or khujli bhi he BUKHAR TO TEJ HE PLEASE REPLY I HAVE NOT MONEY

    Reply
  14. Praveen S. Gaur

    sir do din se fever hai , fever ja nahi raha koe medicine ka name bata sakte ho app

    Reply
  15. harsevak

    sir .मेरा नाम हरसेवक है मुझको वहुत तेज वुखार है साथ मै ठंड भी लग रही है कोई उपचार बताओ

    Reply
  16. Guneshwar

    Mere ko do char din se fever h aur sardi khasi bhi h aur plz iska upaye bataye

    Reply
  17. Shital Sharma

    Hello sir mere bhatije ko bahut Tez se 1.4plz help me Patti bhi dali rahi hun but kam nahi ho Raha hai

    Reply
  18. karan singh

    Sir meri maa ko kafi salo se bhukhar aa rha hai bhut dawai krwata hu lekin unko kuch bhi aaram nhi milta plzz help me

    Reply
  19. anirudha

    सर मेरे शरीर मे दरद रहता है और थकान भी

    Reply
  20. komal

    Sir mere viral hua tha 10 days pahle but abhi tak jodo ka dard thik nahi ho , utha bhi nahi ja raha please help me.. .

    Reply
  21. jadhav dilip

    sir my name is dilip jadhav main sir navi mumbai juinagar sec-23 main rahata hu

    sir muje leg pain ;hand pain; back pain kamer main; pain hone lagata hai

    aur muje bukhar bhi aise bich bich aati hai aur subhe bhi bhukar aata hai

    sir esaka koi tretment dena sir please

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *